Thursday, June 20, 2024
Homeदेश-समाज'हिन्दुओं के खिलाफ हेट स्पीच की भी जाँच हो': अब हिन्दू संगठन भी पहुँचे...

‘हिन्दुओं के खिलाफ हेट स्पीच की भी जाँच हो’: अब हिन्दू संगठन भी पहुँचे सुप्रीम कोर्ट, सौंपी भड़काऊ बयान वाले मुस्लिम नेताओं की लिस्ट

हिन्दू संगठनों ने माँग की है कि अगर सुप्रीम कोर्ट मुस्लिमों के खिलाफ हेट स्पीच की जाँच कर रहा है तो उसे हिंदुओं के खिलाफ नफरत भरे भाषणों की भी जाँच करनी चाहिए।

हरिद्वार की धर्म संसद में कथित हेट स्पीच के बाद वामपंथियों ने बड़ा बखेड़ा खड़ा करते हुए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का रूख किया था, लेकिन अब मुस्लिमों नेताओं और मौलवियों के हिंदू विरोधी (Anti hindu speech) बयानों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इसी क्रम में दो दक्षिणपंथी संगठनों हिंदू सेना और हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर मुस्लिमों के नफरत भरे बयानों से बचाने की गुहार लगाई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, हिंदू सेना के अध्यक्ष विष्णु गुप्ता ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका में मुस्लिमों नेताओं को हेट स्पीच के लिए गिरफ्तार करने की माँग की है। इसमें AIMIM नेता अकबरुद्दीन ओवैसी, आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता अमानतुल्ला खान और वारिस पठान जैसे कई के खिलाफ हिंदुओं के खिलाफ भड़काऊ बयानबाजी के आरोप में गिरफ्तारी की माँग की गई है।

जबकि, हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस ने अपनी याचिका में माँग की है कि अगर सुप्रीम कोर्ट मुस्लिमों के खिलाफ हेट स्पीच की जाँच कर रहा है तो उसे हिंदुओं के खिलाफ नफरत भरे भाषणों की भी जाँच करनी चाहिए। हिंदू संगठन ने सुप्रीम कोर्ट से हिंदुओं और हिंदू देवी-देवताओं को लेकर दिए गए नफरती बयानबाजी की जाँच के लिए एसआईटी के गठन करने की माँग की है। संगठन ने इस मामले की जाँच के लिए निर्देश देने का अनुरोध किया है।

हेट स्पीच की तैयार की लिस्ट

सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने से पहले हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस संगठन ने एक लिस्ट बनाई है, जिसमें मुस्लिम नेताओं, मौलवियों द्वारा हिंदुओं के खिलाफ की गई बयानबाजी का जिक्र किया गया है। याचिका में AIMIM के नेता अकबरुद्दीन ओवैसी और वारिस पठान के हिंदुओं के खिलाफ दिए गए भाषणों को भी शामिल किया गया है। जिसमें साल 2013 में हिंदू देवी-देवताओं का अपमान किया था और हिंदुओं को धमकाते हुए कहा था, “हम (मुसलमान) 25 करोड़ हैं और तुम (हिन्दू) 100 करोड़ हो। पुलिस को 15 मिनट के लिए हटा दें और परिणाम देखें।”

इसी तरह से पश्चिम बंगाल के एक मौलवी के भाषणों का भी उल्लेख किया गया है, जिसमें वो कहता है, ”अगर रोहिंग्याओं को निर्वासित किया गया तो वे लाखों लोगों को जान से मार देंगे।” हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस ने वकील विष्णु शंकर जैन के जरिए कहा है कि मुस्लिम नेताओं के भड़काऊ बयानों से हिंदू अशांत और डरे हुए हैं। इस तरह के बयान मुस्लिम लीग की यादों को ताजा करते हैं, जिसके परिणामस्वरूप देश का विभाजन हुआ था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

पत्रकार अजीत भारती को ‘नोटिस’ देने के लिए चोरों की तरह आई कर्नाटक पुलिस, UP पुलिस ले गई अपने साथ: बेंगलुरु में FIR दर्ज...

कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार ने पत्रकार अजीत भारती के घर पुलिस भेजी है। पुलिस ने अजीत भारती को एक नोटिस दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -