Sunday, June 13, 2021
Home देश-समाज 'मुस्लिमों की रैली पर हिन्दू करते हैं पत्थरबाजी': Unacademy का हिंदूफोबिया, लोगों ने कहा...

‘मुस्लिमों की रैली पर हिन्दू करते हैं पत्थरबाजी’: Unacademy का हिंदूफोबिया, लोगों ने कहा – ‘उम्माह एकेडमी’

"X नाम के एक शहर में मुस्लिम लोगों का एक समूह अपनी रैली निकाल रहा था। वे अपने नारे लगा रहे थे और अपना त्यौहार मना रहे थे। जब वे एक हिन्दू बहुल कॉलोनी की गलियों से गुजर रहे थे, तो क्षेत्र के हिन्दुओं ने उन पर पत्थरबाजी शुरू कर दी।"

हिंदूफोबिया से ग्रसित कंपनियों की सूची में अब एक नया नाम Unacademy का जुड़ा है। ये पोर्टल न सिर्फ हिन्दू-मुस्लिम तनाव का माहौल पैदा करने वाले कंटेंट्स बच्चों को परोस रहा है, बल्कि हिन्दुओं के प्रति छात्रों में घृणा का भाव भी जगा रहा है। इसकी करतूतों से तंग लोगों ने सलाह दी है कि ये अपना नाम बदल कर ‘उम्माह एकेडमी’ कर ले। वकील प्रखर बंसल ने ऐसा ही एक सवाल शेयर किया।

सवाल कुछ इस प्रकार है, “X नाम के एक शहर में मुस्लिम लोगों का एक समूह अपनी रैली निकाल रहा था। वे अपने नारे लगा रहे थे और अपना त्यौहार मना रहे थे। जब वे एक हिन्दू बहुल कॉलोनी की गलियों से गुजर रहे थे, तो क्षेत्र के हिन्दुओं ने उन पर पत्थरबाजी शुरू कर दी और दावा किया कि उन्होंने हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाई है। क्या ये दावा सही है?” इसका जवाब चुनने के लिए 3 विकल्प दिए गए। वो तीनों विकल्प हैं –

  • हाँ, उन्होंने शब्दों के द्वारा, यानी नारे लगा कर हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाई।
  • हाँ, उन्होंने दृश्यप्रस्तुति के द्वारा, यानी उस इलाके में रैली निकाल कर हिन्दुओं को धार्मिक भावनाओं को आहत किया।
  • नहीं, उनका इरादा किसी भी वर्ग के नागरिकों यानी हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत करने का नहीं था।

आगे बढ़ने से पहले बता दें कि Unacademy बेंगलुरु में स्थित एक शैक्षिक तकनीकी कंपनी है। जिसे 2010 में एक यूट्यूब चैनल के रूप में गौरव मुंजाल द्वारा क्रिएट किया गया था। 2015 में इसे एक कंपनी का रूप दिया गया और हजारों शिक्षकों व छात्रों को इससे जोड़ा गया। विभिन्न कक्षाओं के विद्यार्थियों को ये लाइव क्लास की सुविधा देता है और अलग-अलग प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए मैटेरियल्स उपलब्ध कराता है।

कई अन्य लोगों ने भी Unacademy द्वारा इस तरह हिन्दूघृणा फैलाने के सबूत दिए। एक ‘Unacademy Plus’ के सब्सक्राइबर ने बताया कि बच्चों की अंग्रेजी की पुस्तकों के माध्यम से आयुर्वेद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ प्रोपेगंडा चलाया जा रहा है। UPSC की तैयारी के लिए इस पोर्टल का प्रयोग करने वाले छात्रों का भी कहना है कि वीडियो लेक्चर्स के जरिए हिन्दू विरोधी प्रोपेगंडा फैलाया जा रहा है।

अगर ऊपर दिए गए सवाल को ही ले लें तो आप पाएँगे कि जो नैरेटिव फैलाया जा रहा है, वास्तविकता में उसके एकदम उलट चीजें हो रही हैं। एक तो अधिकतर हिन्दू त्योहारों, विसर्जन और कार्यक्रमों को ही पत्थरबाजी का सामना करना पड़ता है। ऊपर से तमिलनाडु में मुस्लिम समुदाय ने ही हिन्दुओं द्वारा रैली निकालने पर आपत्ति जताई, जिसके बाद मामला हाईकोर्ट में गया। जबकि बच्चों को झूठ परोसा जा रहा है।

दुर्गा पूजा से लेकर रामनवमी जैसे त्योहारों में हिन्दुओं को प्रतिमा विसर्जन के दौरान मस्जिदों या मुस्लिम बहुल इलाकों से गुजरते हुए पत्थरबाजी का सामना करना पड़ता है। ईद की रैली या किसी मस्जिद पर पत्थरबाजी की खबर आपने सुनी है? मंदिरों में घुस कर प्रतिमाएँ खंडित कर दी जाती हैं। लेकिन, ये सब छात्रों को नहीं बताया जाता। उन्हें काल्पनिक ‘गंगा-जमुनी’ तहजीब सिखाई जाती है, जिसमें पीड़ित मुस्लिम होते हैं और अत्याचारी हिन्दू।

वैसे ये पहली बार नहीं है जब Unacademy को लेकर इस तरह का विवाद सामने आया हो। सितम्बर 2020 में UnAcademy कोचिंग सेंटर के एक शिक्षक वरुण अवस्थी को अपने एक वीडियो में छात्रों को ऐके-47 बंदूक उठाने के लिए उकसाते हुए पाया गया था। इससे पहले भी अनअकैडमी के एक शिक्षक ने ब्राह्मण को टारगेट करते हुए एक वीडियो पोस्ट किया था। वहीं एक अन्य शिक्षक ने राम मंदिर आंदोलन का मज़ाक उड़ाया था। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

माता वैष्णो देवी की भूमि पर तिरुपति बालाजी के दर्शन: LG मनोज सिन्हा ने किया 62 एकड़ में बनने वाले मंदिर का भूमिपूजन

जम्मू में टीटीडी तिरुपति बालाजी के मंदिर के अलावा वेद पाठशाला, आध्यात्म केंद्र और आवास जैसी अन्य सुविधाओं का निर्माण करेगा। निकट भविष्य में स्वास्थ्य एवं शिक्षा सुविधाओं के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है।

चीन और अमेरिका ने ठुकराई इमरान खान की ‘मैंगो डिप्लोमेसी’, वापस लौटाए तोहफे में मिले पाकिस्तानी आम

कभी गधे बेचने वाला हमारा पड़ोसी मुल्क आज ‘आम’ तोहफे में दे रहा है, हालाँकि ये अलग बात है कि अमेरिका और चीन समेत कई देशों ने पाकिस्तान के इन तोहफों को ठुकरा दिया।

राजस्थान में कौन बनेगा मंत्री: 9 कुर्सी पर 35 दावेदार, पायलट खेमा को अकेले चाहिए 6-7, विधायकों की फोन टैपिंग इसी कारण?

राजस्थान की गहलोत सरकार एक बार फिर से फोन टैपिंग मामले में घिरती नजर आ रही है। सरकार पर आरोप लग रहे हैं कि वह अपने ही MLA की....

अयोध्या को बनाएँगे धार्मिक, वैदिक और सोलर शहर- प्राचीन विरासत के साथ आधुनिकता का संगम: CM योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह घोषणा की है कि राज्य सरकार अयोध्या को एक धार्मिक, वैदिक और सोलर सिटी के रूप में विकसित करेगी।

मात्र 84 टिकट और ₹6,000 का कलेक्शन: महाराष्ट्र के सिनेमाघरों में सलमान की फिल्म ‘राधे’ को नहीं मिल रहे दर्शक

महाराष्ट्र में दो सिनेमाघरों ने खुलने के तुरंत बाद ही सलमान खान की फिल्म ‘राधे’ से अपनी शुरुआत करने का फैसला किया लेकिन उन्हें निराशा ही हाथ लगी।

यति नरसिंहानंद की हत्या की साजिश: विपुल नहीं रमजान घुसा था मंदिर में, हिंदू धर्म छोड़ कासिफ की बहन से किया था निकाह

पुलिस व खुफिया एजेंसियों को पूछताछ में पता चला कि विपुल और कासिफ जीजा-साला हैं। विपुल ने डेढ़ साल पहले ही कासिफ की बहन आयशा से...

प्रचलित ख़बरें

सस्पेंड हुआ था सुशांत सिंह का ट्रोल अकाउंट, लिबरलों ने फिर से करवाया रिस्टोर: दूसरों के अकाउंट करवाते थे सस्पेंड

जो दूसरों के लिए गड्ढा खोदता है, वो उस गड्ढे में खुद गिरता है। सुशांत सिंह का ट्रोल अकाउंट @TeamSaath के साथ यही हुआ।

आईएस में शामिल केरल की 4 महिलाओं को वापस नहीं लाएगी मोदी सरकार, अफगानिस्तान की जेलों में है कैद

केरल की ये महिलाएँ 2016-18 में अफगानिस्तान के नंगरहार पहुँची थीं। इस दौरान उनके पति अफगानिस्तान में अलग-अलग हमलों में मारे गए थे।

‘भाईजान’ के साथ निकाह से इनकार, बॉयफ्रेंड संग रहना चाहती थी समन अब्बास, अब खेत में दफन? – चचेरा भाई गिरफ्तार

तथाकथित ऑनर किलिंग में समन अब्बास के परिवार वालों ने उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी और उसके शव को खेत में दफन कर दिया?

‘तैमूर की अम्मी नहीं हैं माँ सीता के रोल के लायक… शूर्पणखा बन सकती हैं’: ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #BoycottKareenaKhan

यूजर्स का कहना है कि वह तैमूर की अम्मी को माँ सीता के रोल में नहीं देखना चाहते और इसलिए फिल्म मेकर्स को करीना के अलावा दूसरी अभिनेत्रियों को ये रोल असाइन करना चाहिए।

सुशांत ड्रग एडिक्ट था, सुसाइड से मोदी सरकार ने बॉलीवुड को ठिकाने लगाया: आतिश तासीर की नई स्क्रिप्ट, ‘खान’ के घटते स्टारडम पर भी...

बॉलीवुड के तीनों खान-सलमान, शाहरुख और आमिर के पतन के पीछे कौन? मोदी सरकार। लेख लिखकर बताया गया है।

‘नुसरत जहां कलमा पढ़े और ईमान में दाखिल हो, नाजायज संबंध थी उसकी शादी’ – मौलाना कारी मुस्तफा

नुसरत ने जिससे शादी की, उसके धर्म के मुताबिक करनी थी या फिर उसे इस्लाम में दाखिल कराके विवाह करना चाहिए था। मौलाना कारी ने...
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
103,589FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe