Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजजामिया में हुई फायरिंग पर बोले गृहमंत्री अमित शाह- घटना बर्दाश्त नहीं, सख्त कार्रवाई...

जामिया में हुई फायरिंग पर बोले गृहमंत्री अमित शाह- घटना बर्दाश्त नहीं, सख्त कार्रवाई के निर्देश

केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू ने फायरिंग की घटना पर कहा कि कानून तोड़ने वाले किसी भी व्यक्ति पर कार्रवाई की जानी चाहिए। जो कोई भी ऐसा करता है उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। कोई भी कानून से बड़ा या देश से बड़ा नहीं हो सकता।

जामिया में सीएए के खिलाफ़ हो रहे प्रदर्शन के बीच हुई फायरिंग की घटना पर देश के गृहमंत्री अमित शाह ने नाराजगी जाहिर की है। अमित शाह ने कहा है कि इस तरह की घटना कहीं भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इतना ही नहीं उन्होंने कहा है कि दोषियों के ख़िलाफ कड़ी से कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

दिल्ली के जामिया में हुई फायरिंग की घटना पर केंद्र की सियासत तेज हो गई है। एक तरफ जहाँ विपक्षी पार्टी कॉन्ग्रेस ने घटना को लेकर मोदी सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। वहीं गृहमंत्री अमित शाह ने घटना को गंभीरता से लेते हुए मामले पर दिल्ली पुलिस कमिश्नर से बात की है और कमिश्नर को कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। शाह ने ट्वीट करते हुए कहा कि सरकार इस तरह की किसी भी घटना को बर्दाश्त नहीं करेगी। घटना में शामिल दोषियों के ख़िलाफ़ गंभीरता के साथ कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

वहीं केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू ने फायरिंग की घटना पर कहा कि कानून तोड़ने वाले किसी भी व्यक्ति पर कार्रवाई की जानी चाहिए। जो कोई भी ऐसा करता है उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। कोई भी कानून से बड़ा या देश से बड़ा नहीं हो सकता। हालाँकि, पुलिस ने आरोपित युवक को गिरफ्तार कर लिया है, जिससे दिल्ली पुलिस लगातार पूछताछ कर यह पता लगाने की कोशिश में जुटी है कि वह छात्र हथियार लेकर मार्च में क्यों शामिल हुआ और वह अपनी गोली से किसे निशाना बनाना चाहता था।

आपको बता दें कि गुरुवार दोपहर को महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर जामिया से लेकर राजघाट तक सीएए के खिलाफ विरोध मार्च निकालने के दौरान रामभक्त गुलशन (बदला हुआ नाम) नाम के शख्स ने अचानक से मीडिया कर्मियों के सामने आकर पिस्तौल से गोली चला दी थी। जिसमें मौजूद जामिया के छात्र शादाब के हाथ में गोली लगी, जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गौरतलब है कि इस दौरान भारी पुलिस फोर्स और मीडिया कर्मियों की मौजूदगी थी, लेकिन किसी को कुछ समझ नहीं आया कि आख़िर अचानक से हुआ क्या।

अपडेट: नई सूचनाओं के आने से हमें पता चला है कि जामिया में गोली चलाने का आरोपित नाबालिग है, अतः सम्बद्ध कानूनों के अनुसार उसका नाम बदल दिया गया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘335 मंदिरों पर हमले, मुस्लिम भीड़ ने 1800 हिन्दुओं का जला दिया घर’: बांग्लादेश के हिन्दुओं की ऐसे मदद कर सकते हैं आप

पूरे बांग्लादेश के अलग-अलग इलाकों में हिन्दू हमले का शिकार हो रहे हैं। उन्हें घर, भोजन और सुरक्षा चाहिए। अगर आप उनकी मदद करना चाहते हैं तो ऐसे करें।

क्रिएटिविटी के नाम पर हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ कब तक, ऐसे उत्पादों या कंपनियों का आर्थिक बहिष्कार जरूरी

अपने विरुद्ध किए जाने वाले प्रोपेगंडा और चलाए जाने वाले एजेंडा के विरुद्ध आज भी हिंदुओं का सबसे बड़ा हथियार आर्थिक विरोध है और इसके लिए उनका आभार प्रकट किया जाना चाहिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe