Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजअपने नकाबपोश गुंडों के साथ आगजनी करता रहा कॉन्ग्रेस का पार्षद मतलूब अहमद, खामोश...

अपने नकाबपोश गुंडों के साथ आगजनी करता रहा कॉन्ग्रेस का पार्षद मतलूब अहमद, खामोश देखती रही पुलिस: छतों पर जमा थे पत्थर

राजस्थान के करौली में हुई हिन्दू विरोधी इस्लामी हिंसा में राज्य की सत्ताधारी कॉन्ग्रेस के पार्षद मतलूब अहमद का नाम सामने आ चुका है। पुलिस तमाशबीन बनी रही और दंगाई आगजनी में मशगूल रहे। आगे-आगे कॉन्ग्रेस का पार्षद चल रहा था और उसके पीछे-पीछे उसके शागिर्द नकाब में लाठियाँ लेकर दुकानों में आग लगा रहे थे। बताया जा रहा है कि कॉन्ग्रेस पार्षद के इशारों पर ही दंगे हुए। पुलिस के सामने गुंडे लाठी लेकर गुजरे, उसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई।

‘दैनिक भास्कर’ ने अपनी खबर में बताया है कि करौली दंगों के एक सप्ताह से अधिक बीतने के बावजूद लोग घरों में कैद हैं। अख़बार की रिपोर्ट के अनुसार, फूटाकोट से गणेश गेट तक हिन्दू नव वर्ष का जुलूस गुजर रहा था। छतों पर पत्थरों के ढेर लगा कर दर्जनों युवकों को छिपा दिया गया था। बाइक रैली आते ही पत्थरबाजी शुरू हो गई। भगदड़ मचने पर वो सभी हथियार लेकर निकले और दंगे शुरू कर दिए। लाठी, सरिया और चाकू का इस्तेमाल किया गया।

‘दैनिक भास्कर’ ने वीडियोज खँगालने के बाद ये भी बताया है कि पार्षद मतलूब अहमद अपने शागिर्दों को बता रहा था कि आगे क्या-क्या करना है। बीच-बीच में वो फोन पर भी लगा हुआ था, लेकिन पुलिस खामोश खड़ी रही। पहले दो जीप और 30 से अधिक बाइकों को आग के हवाले किया गया। दंगाइयों के तोड़फोड़ करने के बाद मतलूब अहमद ने उनसे आगे चलने को कहा। पुलिस ने भी कहा कि अब तुमलोग आगे जाओ, यहाँ बहुत तोड़फोड़ हो गई।

कई लोगों को खून से लथपथ होकर अस्पताल में भर्ती कराया गया। दंगा हो जाने के बाद पुलिसकर्मियों ने वरिष्ठ अधिकारियों को इसकी सूचना दी। कई घायल लोग पुलिस से मदद माँगते रहे। रैली के आसपास 40 के करीब पुलिसकर्मी तैनात थे, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने कुछ नहीं किया और बाद में अपने वरिष्ठों से और फ़ोर्स भेजने की गुहार लगाई। पुलिस ने एक पक्ष के 20 और दूसरे पक्ष के 17 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की।

राज्य के डीजीपी एमएल लाठर ने कहा कि पुलिस की मौजूदगी में दंगा के मामले की जाँच के लिए गृह सचिव की अध्यक्षता में कमिटी गठित की गई है। उन्होंने लापरवाही के दोषी पुलिसकर्मियों को न बख्शे जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि 300-400 की भीड़ बताई गई थी और उस हिसाब से बलों की तैनाती उचित संख्या में की गई थी। इन सबके बावजूद राजस्थान की पुलिस उलटा हिन्दुओं को ही इन सब के लिए जिम्मेदार ठहरा रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाभारत, चाणक्य, मराठा, संत तिरुवल्लुवर… सबसे सीखेगी भारतीय सेना, प्राचीन ज्ञान से समृद्ध होगा भारत का रक्षा क्षेत्र: जानिए क्या है ‘प्रोजेक्ट उद्भव’

न सिर्फ वेदों-पुराणों, बल्कि कामंदकीय नीतिसार और तमिल संत तिरुवल्लुवर के तिरुक्कुरल का भी अध्ययन किया जाएगा। भारतीय जवान सीखेंगे रणनीतियाँ।

जातिवाद, सांप्रदायिकता, परिवारवाद… PM मोदी ने देश को INDI गठबंधन की 3 बीमारियों से किया आगाह, कहा- ये कैंसर से भी अधिक विनाशक

पीएम मोदी ने कहा कि मोदी घर-घर पानी पहुँचा रहा है, सपा-कॉन्ग्रेस वाले आपके घर की पानी की टोंटी भी खोल कर ले जाएँगे और इसमें तो इनकी महारत है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -