Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाज'नूपुर शर्मा को BJP में वापस लो': नेपाल और बिहार के बाद राजस्थान में...

‘नूपुर शर्मा को BJP में वापस लो’: नेपाल और बिहार के बाद राजस्थान में सड़क पर उतरे हिन्दू, विशाल रैली के बाद हनुमान चालीसा का पाठ

रैली की शुरुआत किशनगढ़ के लक्ष्मीनारायण मंदिर से हुई थी। यहाँ सुबह निकला जुलूस मंदिर से कुछ दूरी पर स्थित रविंद्र रंगमंच तक पहुँचा।

भाजपा से निलंबित पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में राजस्थान के अजमेर जिले में रैली निकाली गई। यह रैली हिन्दू संगठनों और कुछ सामाजिक समूहों ने साझा रूप से निकाली। रैली के दौरान हाथों में तिरंगा ले कर हजारों नूपुर का मौन समर्थन किया। रविवार (19 जून, 2022) को निकली इस रैली को ‘शांति मार्च’ का नाम दिया गया था। इस रैली का आयोजन और समापन पूरी तरह से शांतिपूर्ण रहा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रैली की शुरुआत किशनगढ़ के लक्ष्मीनारायण मंदिर से हुई थी। यहाँ सुबह निकला जुलूस मंदिर से कुछ दूरी पर स्थित रविंद्र रंगमंच तक पहुँचा। जुलूस में वन्देमातरम और जय श्रीराम का उद्घोष हुआ और किसी के प्रति कोई व्यक्तिगत नारेबाजी नहीं हुई। रैली का आयोजन सकल समाज की तरफ से बताया जा रहा है। इस दौरान प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए थे। ड्रोन के जरिए चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जा रही थी।

रैली के समापन में हनुमान चालीसा का पाठ हुआ। इसी रैली के एक आयोजक के मुताबिक, “ये कोई राजनैतिक नहीं बल्कि सर्व समाज की रैली थी। नूपुर शर्मा को देश-विदेश से धमकी भरे कॉल आ रहे हैं। हमारी सबसे बड़ी माँग है कि नूपुर शर्मा की सुरक्षा बढ़ाई जाए। दूसरी माँग है कि देश में शांति बनी रहे। जब मुकदमा दर्ज कर के कार्रवाई की जा रही है तो धमकी दे कर देश का माहौल क्यों खराब किया जा रहा है ? इसे किसी भी हाल में सहन नहीं किया जाएगा। इस रैली शामिल हर किसी के मन में देश में हो रहे हंगामे को देख कर आक्रोश था। हमारी तीसरी माँग है कि नूपुर शर्मा को पार्टी में वापस लिया जाए क्योंकि उन्होंने कोई भी गलत बात नहीं की है।”

गौरतलब है कि नूपुर शर्मा के खिलाफ देश भर में हो रहे चरमपंथी और हिंसक प्रदर्शनों के बीच नेपाल के बीरगंज शहर में इसी माह नूपुर के समर्थन में रैली निकाली गई थी। इस रैली के बाद 14 जून को को बिहार के आरा और वैशाली जिले के हाजीपुर जिलों में नूपुर शर्मा के समर्थन में शांतिपूर्ण प्रदर्शन किए गए। इन प्रदर्शनों में ‘नुपुर शर्मा संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ हैं’ का नारा लगाया। साथ ही ‘पाकिस्तान परस्त मुर्दाबाद’, ‘लव जेहाद मुर्दाबाद’, ‘इस्लामिक जेहाद मुर्दाबाद’ के नारे लगे थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

रेड सिग्नल पार करने वाली ट्रेनों को भी रोक देता है कवच, फिर क्यों कंचनजंगा एक्सप्रेस से भिड़ गई मालगाड़ी: जानिए सब कुछ

न्यू जलपाई गुड़ी में हुए रेल हादसे के बाद कवच पर चर्चा चालू हो गई है। जिस रूट पर हादसा हुआ है, वहाँ अभी कवच सिस्टम नहीं लगा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -