Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजस्वतंत्रता दिवस पर 'बेस्ट कॉन्स्टेबल' का अवॉर्ड, अगले ही दिन 17 हजार की रिश्वत...

स्वतंत्रता दिवस पर ‘बेस्ट कॉन्स्टेबल’ का अवॉर्ड, अगले ही दिन 17 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार

कॉन्स्टेबल पल्ले तिरुपति रेड्डी को उसकी कर्तव्य निष्ठा, समर्पण, कड़ी मेहनत और बेहतरीन काम के लिए स्वतंत्रता दिवस पर तेलंगाना के आबकारी मंत्री वी. श्रीनिवास गौड़ ने 'बेस्ट कॉन्स्टेबल' अवॉर्ड दिया था।

स्वतंत्रता दिवस पर बेस्ट कॉन्स्टेबल का पुरस्कार प्राप्त करने वाला कॉन्स्टेबल अगले ही दिन रिश्वत लेते पकड़ा गया। मामला हैदराबाद के तेलंगाना के महबूबनगर जिले का है। कॉन्स्टेबल तिरुपति रेड्डी को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने शुक्रवार (अगस्त 16, 2019) को रिश्वत लेते पकड़ा है। तिरुपति महबूबनगर वन-टाउन पुलिस स्टेशन में तैनात है। एसीबी ने उन्हें रेत ट्रैक्टर मालिक मुदवत रमेश से 17,000 रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ा।

जानकारी के मुताबिक, कॉन्स्टेबल तिरुपति रेत व्यापारी मुदवत के पास रेत परिवहन का लाइसेंस होने के बावजूद रिश्वत की माँग कर रहा था और पैसे न देने पर उसके ट्रैक्टर को जब्त करने की धमकी दे रहा था। कॉन्स्टेबल ने धमकी दी थी कि यदि मुदवत ने पैसे नहीं दिए तो वह उसे झूठे मामले में फँसा देगा। इसके बाद, व्यापारी ने एसीबी से संपर्क कर शिकायत दर्ज कराई और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने जाल बिछाकर कॉन्स्टेबल को रंगे हाथों पकड़ लिया।

पुलिस कॉन्स्टेबल पल्ले तिरुपति रेड्डी को स्वतंत्रता दिवस पर उसकी कर्तव्य निष्ठा, समर्पण, कड़ी मेहनत और बेहतरीन काम के लिए ‘बेस्ट कॉन्स्टेबल’ अवॉर्ड दिया गया था। राज्य के आबकारी मंत्री वी. श्रीनिवास गौड़ ने स्वतंत्रता दिवस समारोह के मौके पर उसे सम्मानित किया था।

गौरतलब है कि, कुछ दिनों पहले भी तेलंगाना में एक ऐसा ही मामला सामने आया था। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अधिकारियों ने महिला राजस्व अधिकारी वी लावण्या के घर से 93.5 लाख नकद और 400 ग्राम सोना बरामद किया था। जिसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया था। वी लावण्या को 2 साल पहले तेलंगाना सरकार की तरफ से सर्वश्रेष्ठ तहसीलदार का पुरस्कार मिला था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोरोना से अनाथ हुई लड़कियों के विवाह का खर्च उठाएगी योगी सरकार: शादी से 90 दिन पहले/बाद ऐसे करें आवेदन

योजना का लाभ पाने के लिए लड़कियाँ खुद या उनके माता/पिता या फिर अभिभावक ऑफलाइन आवेदन करेंगे। इसके साथ ही कुछ जरूरी दस्तावेज लगाने आवश्यक होंगे।

बंगाल की गद्दी किसे सौंपेंगी? गाँधी-पवार की राजनीति को साधने के लिए कौन सा खेला खेलेंगी सुश्री ममता बनर्जी?

ममता बनर्जी का यह दौरा पानी नापने की एक कोशिश से अधिक नहीं। इसका राजनीतिक परिणाम विपक्ष को एकजुट करेगा, इसे लेकर संदेह बना रहेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,780FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe