1 मिनट का VIDEO, जिससे सुलझी हैदराबाद रेप ऐंड मर्डर केस की गुत्थी

यह फुटेज हाथ लगने के बाद पुलिस ने टोल प्लाजा से ट्रक से संबंधित जानकारी जुटाई। इसके बाद आगे की जॉंच शुरू हुई। फिर उस पेट्रोल पंप के बारे में जानकारी मिली जहॉं आरोपित प्रीति रेड्डी का शव जलाने के लिए पेट्रोल खरीदने पहुॅंचे थे।

हैदराबाद में प्रीति रेड्डी (बदला हुआ नाम) हत्याकांड मामले में पुलिस को आरोपितों तक पहुँचाने वाली महत्तवपूर्ण सीसीटीवी फुटेज सामने आई है। वीडिया हैदराबाद के बाहरी इलाके शमशाबाद टोल प्लाजा की है। 1 मिनट की इस फुटेज में देखा जा सकता है कि एक ट्रक टोल प्लाजा पर पार्क है। थोड़ी देर में उसकी हेडलाइट जलती है और ट्रक धीरे-धीरे आगे बढ़ने लगती है। इसके बाद ट्रक टोल लेन में एंटर करता है और फिर उस इलाके से निकल जाता है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, इसी वीडियो की मदद से पुलिस ने आरोपितों की धड़-पकड़ की। फुटेज के मुताबिक 26 नवंबर को यह ट्रक टोल प्लाजा में पार्क हुआ था। लेकिन, 27 नवंबर को इस ट्रक में हरकत तब देखी गई जब प्रीति रेड्डी के साथ गैंगरेप के बाद उनकी हत्या कर दी गई। इस फुटेज में ट्रक के पास कई लोगों की गतिविधियाँ देखने को मिल रही है। ट्रक में कई लोगों को घुसते हुए देखा जा सकता है।

इस सीसीटीवी फुटेज ने ही पुलिस को आरोपितों तक पहुँचाया। इस फुटेज के हाथ लगने के बाद ही पुलिस ने टोल प्लाजा जाकर इस ट्रक से संबंधी सारी जानकारी जुटाई और वीडियो में नजर आ रहे ट्रक का पंजीकृत नंबर निकलवाया। नंबर मिलने के बाद पुलिस ट्रक के मालिक श्रीनिवास रेड्डी के पास पहुँची। रेड्डी ने पुलिस को बताया कि उनका ट्रक चेन्नाकेशवुलु और मोहम्मद आरिफ चलाते हैं।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इसी जानकारी पर पुलिस ने आगे की जाँच शुरू की और जल्द ही पता लगा लिया कि चारों आरोपित घटना को अंजाम देने के बाद नेशनल हाइवे के पेट्रोल पंप पर पेट्रोल लेने पहुँचे थे, ताकि वो प्रीति रेड्डी के शव में आग लगा सकें। जहाँ पहले पेट्रोल पंप पर एक शख्स ने उन्हें पेट्रोल देने से मना कर दिया। इसके बाद वह दूसरे पेट्रोल पंप पर गए और वहाँ से पेट्रोल लिया।

इसी पंप से पेट्रोल देने वाले शख्स ने मामले के तूल पकड़ने के बाद पुलिस को कॉल किया और चारों आरोपितों का स्केच बनवाने में पुलिस की मदद की। इसके बाद पुलिस ने चारों हैवानों की शिनाख्त की और एक दिन के भीतर ही दावा किया कि उन्होंने प्रीति रेड्डी के साथ हैवानियत करने वाले दरिंदो को पकड़ लिया।

29 नवंबर को चारों आरोपित-शिवा, मोहम्मद आरिफ, चिंताकुनु चेन्नाकेशवुलु, जोलू नवीन को न्यायिक हिरासत में भेजा गया। बीते शुक्रवार को पुलिस उन्हें क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए मौके पर ले गई। वहाँ उन्होंने पुलिस के हथियार छीनकर भागने की कोशिश की और एनकाउंटर में मारे गए।

मारे गए सभी आरोपित: पुलिस ने वहीं किया एनकाउंटर, जहाँ ‘प्रीति रेड्डी’ के साथ किया था जघन्य अपराध

आरिफ ने ‘प्रीति रेड्डी’ का मुँह-नाक दबाया, उसी ने डेड बॉडी पर पेट्रोल डाला: पुलिस की रिपोर्ट में भयावह खुलासे

…वो पेट्रोल पम्प वर्कर, जिसकी मदद से ‘प्रीति रेड्डी’ के बलात्कारी-हत्यारे तक पहुँच पाई पुलिस
प्रीति रेड्डी मर गई फिर भी रेप करते रहे दरिंदे: आरिफ के प्लानिंग की पूरी डिटेल

डॉ. प्रीति रेड्डी का आखिरी फोन कॉल… पहचान हुई उस लॉरी की जहाँ मौत के बाद भी दरिंदों ने उन्हें नोचा था

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

लोहरदगा हिंसा
मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक हिंदुओं के घरों और संपत्ति को चुन-चुन कर निशाना बनाया गया। पथराव करने वालों में 8 से 12 साल तक के मुस्लिम बच्चे भी शामिल थे। 100 से ज्यादा घायलों में से कई की हालत गंभीर।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

143,804फैंसलाइक करें
35,951फॉलोवर्सफॉलो करें
163,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: