Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजदेश में 'हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन' की कोई कमी न आज है, न कल होगी: स्वास्थ्य मंत्रालय...

देश में ‘हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन’ की कोई कमी न आज है, न कल होगी: स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया- पिछले 1 दिन में कोरोना के 773 मामले

मंत्रालय ने बताया कि सरकार कोरोना वायरस से उपजे ख़तरों को देशव्यापी स्तर पर मॉनीटर करना चाहती है। इसी के तहत मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कोविड-19 मैनेजमेंट के लिए एक ट्रेनिंग मॉड्यूल लॉन्च किया है, जिसका नाम है 'इंटीग्रेटेड गवर्नमेंट ऑनलाइन ट्रेनिंग पोर्टल'।

कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार (अप्रैल 8, 2020) को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के कई जानकारियाँ व सूचनाएँ साझा की। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने बताया कि भारत में अभी तक 402 लोग ठीक होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज हो चुके हैं। फ़िलहाल देश में 5194 कंफर्म कोरोना पॉजिटिव केस अब तक रिपोर्ट हुए हैं। पिछले एक दिन में 773 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं, जो कि बड़ी उछाल है। अब तक कोरोना की वजह से 149 लोगों की मौत हुई है। मंगलवार को ही अकेले 32 लोगों की मौत हुई थी

मंत्रालय ने बताया कि सरकार कोरोना वायरस से उपजे ख़तरों को देशव्यापी स्तर पर मॉनीटर करना चाहती है। इसी के तहत मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कोविड-19 मैनेजमेंट के लिए एक ट्रेनिंग मॉड्यूल लॉन्च किया है, जिसका नाम है ‘इंटीग्रेटेड गवर्नमेंट ऑनलाइन ट्रेनिंग पोर्टल’। स्वास्थ्य सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि ये पोर्टल दीक्षा प्लेटफॉर्म से संबंधित है। इस प्लेटफॉर्म के द्वारा डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिक्स और साथ ही राज्यों के अधिकारी गण, सिविल डिफेंस अधिकारी, एनसीसी, एनएसएस और रेड क्रॉस सोसाइटी के स्वयंसेवकों को और फ्रंटलाइन वर्कर्स को जरूरी संसाधन उपलब्ध करवाए जाएँगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11 अप्रैल को सभी मुख्यमंत्रियों के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस करेंगे, जिसमें विचार किया जाएगा कि लॉकडाउन बढ़ाई जाए या नहीं। आगे की रणनीति क्या होगी, इस सम्बन्ध में पीएम मोदी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से विचार-विमर्श करने के बाद तय करेंगे। प्रधानमंत्री ने आज सांसदों के साथ भी बातचीत की, जिसमें उन्होंने कहा कि देश में स्थिति ‘सामाजिक आपातकाल’ के समान है इसके लिए कड़े फैसलों की जरूरत है। पीएम मोदी ने सलाह दी कि हमें सतर्क रहना चाहिए। उन्होंने जानकारी दी कि राज्यों, जिला प्रशासन और विशेषज्ञों ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन को आगे बढ़ाने का सुझाव दिया है।

भारतीय चिकित्सा अनुसन्धान परिषद ने बताया कि अभी तक उसने कुल 1,21,271 टेस्ट किए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने आश्वस्त किया कि देश में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की कोई कमी नहीं होगी। मंत्रालय ने कहा कि न कोई कमी है और न ही भविष्य में ऐसा होने की कोई संभावना है। वहीं यूपी के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी ने बताया कि आगरा में कोरोना वायरस के सर्वाधिक 22 हॉटस्पॉट हैं, जिसके बाद गाजियाबाद (13), गौतम बुद्ध नगर (12) और कानपुर (12) का नंबर आता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

हिंदू मंदिरों की संपत्तियों का दूसरे धर्म के कार्यों में नहीं होगा उपयोग, कर्नाटक में HRCE ने लगाई रोक

कर्नाटक के हिन्दू रिलीजियस एण्ड चैरिटेबल एंडोवमेंट्स (HRCE) विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश में यह कहा गया है कि हिन्दू मंदिर से प्राप्त किए गए फंड और संपत्तियों का उपयोग किसी भी तरह के गैर -हिन्दू कार्य अथवा गैर-हिन्दू संस्था के लिए नहीं किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe