Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजजहाँ हुआ डॉक्टरों पर पथराव, वहाँ 2 कोरोना पॉजिटिव: 6 को पुलिस ने दबोचा,...

जहाँ हुआ डॉक्टरों पर पथराव, वहाँ 2 कोरोना पॉजिटिव: 6 को पुलिस ने दबोचा, अब तक कुल 13 गिरफ्तार

नावेद, साजिद, युसूफ, सावेज, अनस और नफीस को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। ये सभी टाटपट्‌टी बाखल के निवासी हैं। इन्हें मिलाकर कुल 13 आरोपित अब तक पकड़े जा चुके हैं। मुबारिक की अम्मी (समोसेवाली चाची) का नाम आने से...

मध्य प्रदेश के इंदौर शहर के टाटपट्‌टी बाखल में संक्रमितों की स्क्रीनिंग करने पहुँची डाॅक्टरों की टीम पर पथराव कर जानलेवा हमला करने वाले 6 और आरोपितों को छत्रीपुरा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसे मिलाकर कुल 13 आरोपित अब तक पकड़े जा चुके हैं। वहीं अब भी पुलिस कई आरोपितों की तलाश में जुटी है। देर रात पुलिस की एक टीम ने टाटपट्‌टी बाखल में जाकर वीडियो के आधार पर पथराव करने वाले आरोपितों को चिन्हित किया और उनका इलाके में जुलूस भी निकाला।

यहाँ पर 17 और 55 साल की दो महिलाएँ कोरोना पॉजिटिव भी मिली हैं। सीएसपी डीके तिवारी ने बताया कि गुरुवार को हुई गिरफ्तारी के अलावा 6 और आरोपितों को उनकी टीम ने पकड़ा है। इनमें मोहम्मद नावेद, मोहम्मद साजिद, मोहम्मद युसूफ, मोहम्मद सावेज, मोहम्मद अनस और नफीस का नाम शामिल है। ये भी टाटपट्‌टी बाखल के निवासी हैं। 

दैनिक भास्कर के इंदौर संस्करण में प्रकाशित खबर

बता दें कि कोरोना संक्रमितों की जाँच करने के लिए बुधवार को टाटपट्‌टी बाखल में पहुँची स्वास्थ्य विभाग की टीम पर हमला करने के मामले में पुलिस ने पहले जिन 7 लोगों को गिरफ्तार किया था, उनके नाम हैं- मज्जू उर्फ मजीद खान, शाहरुख अंसारी, मोहम्मद गुलरेज हाजी अब्दुल गनी, मुबारिक उर्फ मोहम्मद इसार, शोएब उर्फ शोभी, नौशाद कादरी और मोहम्मद मुस्तफा हसन। इनमें से मजीद, मोहम्मद गुलरेज, सोयब और मोहम्मद मुुस्तफा पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के तहत कार्रवाई की गई। इनके ऊपर रासुका लगाकर रीवा सेंट्रल जेल भेज दिया गया है। 

गिरफ्तार आरोपितों ने अपने बयान में कहा है कि उन्होंने समोसे वाली चाची के उकसाने पर पथराव किया था। आरोपितों ने पूछताछ में कुबूला कि मुबारिक की अम्मी (समोसेवाली चाची) के घर में स्वास्थ्यकर्मी स्क्रीनिंग कर रहे थे, तभी चाची ने आवाज लगाई। इस पर भीड़ जुट गई। इसके बाद चाची ने डॉक्टरों को धमकाया और हमें उकसाया। इसके बाद हमने पथराव शुरू कर दिया।

गौरतलब है कि बुधवार (1 अप्रैल, 2020) को इंदौर के टाटपट्टी बाखल और सिलावट पुरा में कोरोना वायरस की जाँच के लिए गई डॉक्टरों की टीम पर गली में पहले से मौजूद लोगों ने पथराव किया था, जिसके बाद डॉक्टरों की टीम को वहाँ से जान बचाकर भागना पड़ा। इतना ही नहीं, जब सूचना पर पुलिस फोर्स मौके पर पहुँची तो आरोपितों ने महिलाओं को आगे कर दिया और फिर घरों की छतों से पुलिस और डॉक्टरों की टीम पर फिर से पथराव शुरू कर दिया। इस दौरान वहाँ लगी बैरिकेडिंग को भी उपद्रवियों ने तोड़ दिया। इसके बाद पुलिस फोर्स ने तत्काल पूरे इलाके को सील कर दिया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -