Monday, August 2, 2021
Homeदेश-समाजइंदौर: कोरोना वायरस संदिग्ध की जाँच करने गई मेडिकल टीम पर 'मुस्लिम भीड़' ने...

इंदौर: कोरोना वायरस संदिग्ध की जाँच करने गई मेडिकल टीम पर ‘मुस्लिम भीड़’ ने किया पथराव, पुलिस पर भी हमला

इंदौर के टाटपट्टी बाखल और सिलावट पुरा में कोरोना वायरस की जाँच के लिए गई डॉक्टरों की टीम पर गली में पहले से मौजूद लोगों ने पथराव किया, जिसके बाद डॉक्टरों की टीम को वहाँ से जान बचाकर भागना पड़ा। इतना ही नहीं जब सूचना पर पुलिस फोर्स मौके पर पहुँची तो आरोपितों ने महिलाओं को आगे कर दिया और फिर घरों की छतों से पुलिस और डॉक्टरों की टीम पर फिर से पथराव शुरू कर दिया।

एक तरफ पूरा देश कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है तो वहीं दूसरी ओर कुछ इस्लाम के मानने वाले लोग कोरोना से जंग लड़ने वाली मैडीकल टीम से ही दो-दो हाथ करने में लगे हुए हैं। कुछ ऐसी ही खबर मध्य प्रदेश के इंदौर से आई है, जहाँ कोरोना की जाँच करने गई डॉक्टरों की टीम पर लोगों ने पथराव कर दिया।

जानकारी के मुताबिक इंदौर के टाटपट्टी बाखल और सिलावट पुरा में कोरोना वायरस की जाँच के लिए गई डॉक्टरों की टीम पर गली में पहले से मौजूद लोगों ने पथराव किया, जिसके बाद डॉक्टरों की टीम को वहाँ से जान बचाकर भागना पड़ा। इतना ही नहीं जब सूचना पर पुलिस फोर्स मौके पर पहुँची तो आरोपितों ने महिलाओं को आगे कर दिया और फिर घरों की छतों से पुलिस और डॉक्टरों की टीम पर फिर से पथराव शुरू कर दिया। इस दौरान वहाँ लगी बैरिकेडिंग को भी उपद्रवियों ने तोड़ दिया। इसके बाद पुलिस फोर्स ने तत्काल पूरे इलाके को सील कर दिया।

वहीं दूसरी ओर बड़वानी जिले में भी मेडिकल जाँच और कुछ लोगों की तलाश करने गई सीएमएचओ की टीम का लोगों ने विरोध कर दिया। इसके बाद मेडीकल टीम को मजबूरन वहाँ से लौटना पड़ा। मध्य प्रदेश का इंदौर शहर सबसे अधिक कोरोना महामारी की चपेट में है, जहाँ मंगलवार को एक ही दिन में 20 नए मामले सामने आए, जिनमें 11 महिलाएँ और शेष बच्चे शामिल थे। साथ ही मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 6, जबकि इससे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 87 हो गई है। उधर निजामुद्दीन मरकज से लौटे जमातियों की प्रदेश में लगातार तलाश करके उन्हें आइसोलेट किया जा रहा है।

आपको बता दें कि इससे पहले, बिहार और गुजरात से भी पुलिस अधिकारियों पर मुस्लिमों की भीड़ द्वारा हमले और पथराव करने की खबरें सामने आई थीं। दरअसल, बिहार के मधुबनी में एक मस्जिद में सामूहिक नमाज की शिकायत मिलने पर पुलिस मौके पर पहुँची थी, जिस पर स्थानीय लोगों ने हमला कर दिया। लोगों ने पहले तो पुलिस पर जमकर पथराव किया, जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिस के मुताबिक मस्जिद में 100 से अधिक बाहर के जमाती मौजूद थे, जोकि मौका पाकर पहले ही वहाँ से निकल गए।

गौरतलब है कि तबलीगी जमात द्वारा दिल्ली के निज़ामुद्दीन क्षेत्र में आयोजित मजहबी सम्मेलन के बाद कोरोनो वायरस के कई दर्जन मामले नए सामने आए हैं। इसके बाद पूरे देश में कोरोना के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। इसे लेकर पूरे देश में हड़कंप मचा हुआ है। वहीं सभी राज्य ऐसे लोगों के खिलाफ तलाशी अभियान चलाए हुए हैं, जो दिल्ली के मजहबी सम्मेलन में शामिल हुए थे। वहीं दिल्ली सरकार ने सभी लोगों को निजामुद्दीन से निकालकर क्वारंटाइन कर दिया है। गौरतलब है कि एक तरफ पूरा देश कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने वाले लोगों के लिए ताली-थाली बजाकर अभिवादन कर रहा है तो दूसरी ओर कुछ इस्लाम को मानने वाले लोग इसी टीम का विरोध ही नहीं बल्कि मौका मिलने पर हमलावर भी हो रहे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सबको मार डालेंगे’: धमकी देकर गायब हो गए थे मिजोरम सांसद, CM सरमा ने दिया FIR वापस लेने का आदेश

मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने दोस्ताना रुख अपनाते हुए असम पुलिस को आदेश दिया है कि मिजोरम सांसद वनलालवेना के खिलाफ FIR को वापस लिया जाए।

‘रिस्क है, भारत काम नहीं देगा’: Pak के कश्मीर लीग में नहीं खेलेंगे मोंटी पनेसर, BCCI के बाद ECB ने भी चेताया

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर मोंटी पनेसर ने पाकिस्तान द्वारा आयोजित किए जा रहे 'कश्मीर प्रीमियर लीग (KPL)' में हिस्सा नहीं लेने का फैसला लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,557FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe