Tuesday, August 16, 2022
Homeदेश-समाज2 बार उमेश कोल्हे की हत्या में नाकाम हुए थे हमलावर: तीसरी बार करना...

2 बार उमेश कोल्हे की हत्या में नाकाम हुए थे हमलावर: तीसरी बार करना चाहते थे ‘सर तन से जुदा’, लेकिन खंजर घोंप भागना पड़ा

इरफान कोल्हे ने उमेश की हत्या को अंजाम देने के लिए ऑटो ड्राइवर और मजदूरों को हायर किया। उसने पहले इन सबका अपनी एनजीओ में ब्रेनवॉश किया। फिर उन्हें पैसे देकर उनसे ये सब करवाया।

महाराष्ट्र के अमरावती में केमिस्ट उमेश कोल्हे को मारने के लिए कट्टरपंथियों ने पहले ही अपनी तैयारियाँ की हुई थी। 21 जून को जब हत्या को अंजाम दिया गया, उससे पहले दो बार उनके सर को तन से जुदा करने का प्रयास हुआ था। पूछताछ के दौरान सामने आई नई जानकारी और सीसीटीवी फुटेज से ये खुलासे हुए हैं।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट बताती है कि इरफान ने उमेश कोल्हे को मारने की योजना सबसे पहले 19 जून को बनाई। हालाँकि उस दिन इरफान शेख डर गया और घटना को अंजाम नहीं दे पाया। 20 जून को फिर वारदात की प्लॉनिंग हुई, मगर तब उमेश के घर से फोन आ गया और वह समय से पहले अपनी दुकान से निकल गए।

इसके बाद आरोपितों ने 21 जून 2022 को पूरी तैयारी के साथ उमेश का पीछा किया। इस बार वह उमेश का सिर धड़ से अलग करना चाहते थे। मगर, पीछे दूसरी मोटर गाड़ी से आ रहे बेटे-बहू जोर से चिल्ला दिए। उनकी आवाज सुन हत्यारे भाग खड़े गुए। लेकिन, तब तक वह उमेश कोल्हे को मौत के घाट उतार चुके थे। उनका शव जमीन पर लहू-लुहान था। बेटा उन्हें अस्पताल भी लेकर गया लेकिन वहाँ डॉक्टरों ने उन्हें मृत ही घोषित किया। पोस्टमार्टम में सामने आया कि  उनके गले पर जो जख्म था, वो 5 इंच चौड़ा, 7 इंच लंबा और 5 इंच गहरा था। उनकी साँस लेने वाली नली, भोजन निगलने वाली नली और आँखों की नसों पर भी वार किए गए थे।

ऑटो ड्राइवर और मजदूरों से इरफान ने करवाया काम

जानकारी के मुताबिक, महाराष्ट्र में रहकर पाकिस्तान और अरब देशों की फंडिंग पर रहबरयिा नाम की एनजीओ चलाने वाले इरफान ने दो आटो ड्रॉइइवर और अन्य मजदूरों को इस काम के लिए हायर किया था। उसने पहले सब लोगों को अपनी एनजीओ में बुलाकर माइंड वॉश किया था। इसके बाद कथिततौर पर उन्हें 10-10 हजार रुपए देकर उनसे ये काम करवाया गया।

बता दें कि कोल्हे की हत्या मामले में अब तक 7 गिरफ्तारियाँ हुई हैं। इनकी पहचान मुदस्सिर अहमद (22), शाहरूख पठान (25), अब्दुल तौफिक (24), शोएब खान (22), अतिब रशीद (22) और युसूफ खान बहादुर खान (44) के रूप में हुई है। इन लोगों के ऊपर ऊपर आईपीसी की धारा 302, 120 और 109 के तहत केस को दर्ज किया गया है।

मृतक के घरवालों ने केस को फास्ट ट्रैक कोर्ट में डालने को कहा है। मृतक के भाई ने यह भी बताया कि जिस आरोपित को पुलिस ने पकड़ा है उनमें से एक वेटनरी डॉक्टर यूसुफ है और उसकी उमेश कोल्हे से अच्छी दोस्ती थी। घरवाले उसे 2006-07 से जानते थे। युसूफ पर आरोप है कि उसी ने कोल्हे का पोस्ट संदिग्ध व्हॉट्सग्रुप में शेयर किया था जिसके बाद हत्या की प्लॉनिंग हुई। इरफान शेख के पड़ोसियों ने मीडिया के सामने बेहद मजहबी किस्म का बताया है

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसके घर से पकड़े गए 4 आतंकी, बग्गा ने उसे बताया अरविंद केजरीवाल का करीबी: दिल्ली में 15 अगस्त को बड़े हमले की थी...

तजिंदर बग्गा ने कहा, "दिल्ली में 15 अगस्त को बम ब्लास्ट की साज़िश रचने वाले गिरफ़्तार आतंकवादी अरविंद केजरीवाल के करीबी विपिन के घर में छिपे हुए थे।"

कर्नाटक के शिवमोगा में लगे वीर सावरकर के पोस्टर तो काटा बवाल, प्रेम सिंह को चाकू घोंपा: धारा 144 लागू, अब्दुल, नदीम और जबीउल्लाह...

कर्नाटक में वीर सावरकर के पोस्टर पर हुए बवाल के बाद एक व्यक्ति को चाकू मारने की खबर आई है। पुलिस ने अब्दुल, नदीम, जबीउल्लाह को गिरफ्तार किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
214,182FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe