Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाज'हम पहले मुस्लिम हैं, उसके बाद कुछ और...' - शायर बाप मुनव्वर राणा के...

‘हम पहले मुस्लिम हैं, उसके बाद कुछ और…’ – शायर बाप मुनव्वर राणा के बाद अब बेटी ने उगला जहर

"उत्तर प्रदेश की पुलिस चोर है। आज हम जिस हिंदुस्तान में साँस ले रहे हैं, वो वाकई बहुत भयानक है। घुटन महसूस हो रही है।"

भारत ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) लाकर उन लोगों को नागरिकता देने के लिए अपना हाथ आगे बढ़ाया है, जो वर्षों से पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में क्रूरता, अत्याचार और शोषण के शिकार हो रहे हैं। अपने धर्म, अपनी बेटियों और बच्चों की जिंदगी बचाने के लिए जो लोग भारत में शरण लेने आए हैं, उनके खिलाफ मुनव्वर राणा जैसे लोग अपनी मजहबी कट्टरता को बचाने के लिए आंदोलन कर रहे हैं और लोगों को भारत के खिलाफ उग्र विरोध प्रदर्शन करने के लिए उकसा रहे हैं।

वहीं मुनव्वर राणा की बेटी के भीतर मासूम और प्रताड़ित हिंदुओं और बाकी के 5 अन्य संप्रदायों (जिन सभी को CAA के तहत नागरिकता का प्रावधान है) के खिलाफ इतना जहर भरा है कि उन्होंने यहाँ तक कह दिया कि भारत से ज्यादा महत्वपूर्ण उनके लिये इस्लाम है। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में चल रहे सीएए, एनआरसी के विरोध प्रदर्शन को शनिवार को दो महीने पूरे हो गए। शनिवार को नमाज और कुरान ख्वानी के बाद मुस्लिम महिलाओं ने ‘आजादी’ के भी नारे लगाए थे।

इस अवसर पर धरने पर पहुँची मुनव्वर राणा की बेटी सुमैया राणा ने कहा, “हमें ध्यान रखना है कि हमें इतना भी न्यूट्रल (तटस्थ) नहीं होना है कि हमारी पहचान ही खत्म हो जाए। पहले हम मुस्लिम हैं और उसके बाद कुछ और हैं। हमारे अंदर का जो दीन है, जो इमान है, वह जिंदा रहना चाहिए। कहीं ऐसा न हो कि हम अल्लाह को भी मुँह दिखाने लायक न रह जाएँ।”

इतना ही नहीं, सुमैया राणा ने उत्तर प्रदेश की पुलिस को चोर बताया और कहा कि आज हम जिस हिंदुस्तान में साँस ले रहे हैं, वो वाकई बहुत भयानक है। घुटन महसूस हो रही है। इस पर भाजपा सांसद सतीश गौतम ने पलटवार करते हुए कहा कि सुमैया राणा का अगर भारत में दम घुट रहा है तो वे पाकिस्तान चली जाएँ। उनके पास वीजा और पासपोर्ट दोनों हैं। भारत में आजादी की कमी महसूस करने वाले लोगों के लिए पाकिस्तान जाने के रास्ते खुले हैं। गौतम ने कहा कि ये भारत है जिसमें इतनी आजादी में खुले रूप से बोल सकते हो। ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे इंशाल्लाह’ कह सकते हो। आप भारत में आजादी के साथ कहकर चली गईं। यही पाकिस्तान होता तो आपको पता चल जाता कि आजादी क्या होती है। 

इसके अलावा धरना स्थल पर एएमयू छात्र संघ का पूर्व अध्यक्ष मशकूर अहमद उस्मानी भी पहुँचा। उसने एलान किया कि देश में सीएए को किसी भी कीमत पर लागू नहीं होने दिया जाएगा। जब तक सरकार इसको वापस नहीं ले लेती, तब तक इसका विरोध जारी रहेगा। इसके साथ ही उस्मानी ने सीएम योगी को ढोंगी व केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर को देशद्रोही बताया। इस दौरान छात्रों ने योगी-मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की।

जानकारी के मुताबिक हाल ही में ईदगाह कॉम्पलेक्स में प्रदर्शन कर रही 250 महिलाओं के खिलाफ गैरकानूनी रूप से इकट्ठा होने का केस दर्ज किया गया था और साथ ही अधिकतर प्रदर्शनकारियों को नोटिस भी भेजा गया है। उन्हें चेतावनी दी गई है कि अगर उन्होंने प्रदर्शन जारी रखा तो उनकी संपत्ति जब्त कर ली जाएगी। इस बारे में एसएसपी आकाश कुलहरि ने कहा है कि असामाजिक तत्व ईदगाह में प्रदर्शनों का फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं।

मुनव्वर राना की 2 बेटियों के खिलाफ UP पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा, शायर ने योगी सरकार को दी चेतावनी

‘माँ’ को छोड़ ‘मर्दानगी’ पर अटके मुनव्वर, ‘मर्दाना कमज़ोरी’ के शर्तिया इलाज के लिए वामपंथियों ने लगाई लाइन

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, 11वीं सदी का शिलालेख है साक्ष्य!!

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, बख्तियार खिलजी ने नहीं। ब्राह्मण+बुर्के वाली के संभोग को खोद निकाला है इस इतिहासकार ने।

10 साल जेल, ₹1 करोड़ जुर्माना, संपत्ति भी जब्त… पेपर लीक के खिलाफ आ गया मोदी सरकार का सख्त कानून, NEET-NET परीक्षाओं में गड़बड़ी...

परीक्षा आयोजित करने में जो खर्च आता है, उसकी वसूली भी पेपर लीक गिरोह से ही की जाएगी। केंद्र सरकार किसी केंद्रीय जाँच एजेंसी को भी ऐसी स्थिति में जाँच सौंप सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -