Saturday, March 6, 2021
Home देश-समाज नमाज और कुरान ख्वानी के बाद अलीगढ़ में मुस्लिम महिलाओं ने CAA विरोध में...

नमाज और कुरान ख्वानी के बाद अलीगढ़ में मुस्लिम महिलाओं ने CAA विरोध में लगाए ‘आजादी’ के नारे

इन महिलाओं का कहना है कि वो केंद्र सरकार को यह एहसास दिलाना चाहती है कि CAA को लागू करके उन्होंने बहुत बड़ी गलती की है। उन्होंने कहा कि दिल्ली चुनाव के माध्यम से वो केंद्र सरकार को बड़ा मैसेज देने वाली हैं।

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में एएमयू कैंपस में जारी धरना प्रदर्शन अब ढलान की ओर है। ऐसे में इस कानून के विरोधियों का पूरा फोकस अब शाहजमाल के धरने को हिट कराने में लग गया है। एएमयू के कई छात्र छात्राएँ यहाँ के धरने को भीड़ की आड़ में लीड कर रहे हैं।

बता दें कि शाहजमाल ईदगाह के बाहर ये मुस्लिम महिलाएँ 29 जनवरी 2020 से धरने पर बैठी हैं। हिंदुस्तान के मुताबिक शनिवार (फरवरी 8, 2020) को भी तकरीबन 300 महिलाएँ यहाँ पर डटी रही और सरकार विरोधी नारे लगाए। धरनास्थल पर दोपहर में नमाज और कुरान ख्वानी के बाद दुआ कराई गई। इसके बाद दिल्ली में केंद्र सरकार को आईना दिखाने और सीएए वापस होने तक डटे रहने के साथ आजादी के नारे लगाए गए।

इन महिलाओं का कहना है कि वो केंद्र सरकार को यह एहसास दिलाना चाहती है कि CAA को लागू करके उन्होंने बहुत बड़ी गलती की है। उन्होंने कहा कि दिल्ली चुनाव के माध्यम से वो केंद्र सरकार को बड़ा मैसेज देने वाली हैं। बता दें कि रुक-रुककर नारेबाजी का ये सिलसिला आधी रात तक चलता रहा। यहाँ कुछ एएमयू की छात्राओं ने भी तकरीर के जरिए महिलाओं को सीएए वापस होने तक डटे रहने और आमजन से धरने को सहयोग करने की अपील की। 

प्रदर्शनकारियों के धरने को देखते हुए सुरक्षा के लिहाज से देहली गेट समेत कई थानों की पुलिस के अलावा PAC और RAF को तैनात किया गया है। इस बाबत उत्तर प्रदेश के एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी का कहना है कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि यहाँ विरोध करने वाले लोग उसी सरकार विरोधी लॉबी के प्रोडक्ट हैं, जो दिल्ली में शाहीन बाग विरोध का नेतृत्व कर रही है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस इन प्रदर्शनकारियों पर देशद्रोही तत्वों के साथ उनके संबंधों का पता लगाने के लिए कड़ी निगरानी रख रही है।

गौरतलब है कि इससे पहले शुक्रवार (जनवरी 31, 2020) को धरनास्थल पर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) छात्र संघ के पूर्व उपाध्यक्ष सज्जाद सुभान पहुँचा था। उसने बुर्का पहन कर महिलाओं के प्रदर्शन में शिरकत की थी। पुलिस ने जब सज्जाद को रोका तो वो महिलाओं के बीच पहुँच कर बुर्के में प्रदर्शन करने लगा। प्रदर्शन के दौरान ही सज्जाद अपनी फेसबुक पेज पर लाइव हो गया और उसने वहाँ उपस्थित प्रदर्शनकारी महिलाओं को उकसाना शुरू कर दिया। वो वहाँ उपस्थित लोगों को भड़का रहा था। स्थिति बिगड़ती देख जब पुलिस उसे गिरफ़्तार करने पहुँची तो वो साथियों सहित वहाँ से भाग खड़ा हुआ था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मनसुख हिरेन की लाश, 5 रुमाल और मुंबई पुलिस का ‘तावड़े’: पेंच कई, ‘एंटीलिया’ के बाहर मिली थी विस्फोटक लदी कार

मनसुख हिरेन की लाश मिलने के बाद पुलिस ने इसे आत्महत्या बताया था। लेकिन, कई सवाल अनसुलझे हैं। सवाल उठ रहे कहीं कोई साजिश तो नहीं?

‘वह शिक्षित है… 21 साल की उम्र में भटक गया था’: आरिब मजीद को बॉम्बे हाई कोर्ट ने दी बेल, ISIS के लिए सीरिया...

2014 में ISIS में शामिल होने के लिए सीरिया गया आरिब मजीद जेल से बाहर आ गया है। बॉम्बे हाई कोर्ट ने उसकी जमानत बरकरार रखी है।

अमेज़न पर आउट ऑफ स्टॉक हुई राहुल रौशन की किताब- ‘संघी हू नेवर वेंट टू अ शाखा’

राहुल रौशन ने हिंदुत्व को एक विचारधारा के रूप में क्यों विश्लेषित किया है? यह विश्लेषण करते हुए 'संघी' बनने की अपनी पेचीदा यात्रा को उन्होंने साझा किया है- अपनी किताब 'संघी हू नेवर वेंट टू अ शाखा' में…"

मुंबई पुलिस अफसर के संपर्क में था ‘एंटीलिया’ के बाहर मिले विस्फोटक लदे कार का मालिक: फडणवीस का दावा

मनसुख हिरेन ने लापता कार के बारे में पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई थी। आज उसी हिरेन को मुंबई में एक नाले में मृत पाया गया। जिससे यह पूरा मामला और भी संदिग्ध नजर आ रहा है।

कल्याणकारी योजनाओं में आबादी के हिसाब से मुस्लिमों की हिस्सेदारी ज्यादा: CM योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश में आबादी के अनुपात में मुसलमानों की कल्याणकारी योजनाओं में अधिक हिस्सेदारी है। यह बात सीएम योगी आदित्यनाथ ने कही है।

‘शिवलिंग पर कंडोम’ से विवादों में आई सायानी घोष TMC कैंडिडेट, ममता बनर्जी ने आसनसोल से उतारा

बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए टीएमसी ने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। इसमें हिंदूफोबिक ट्वीट के कारण विवादों में रही सायानी घोष का भी नाम है।

प्रचलित ख़बरें

16 महीने तक मौलवी ‘रोशन’ ने चेलों के साथ किया गैंगरेप: बेटे की कुर्बानी और 3 करोड़ के सोने से महिला का टूटा भ्रम

मौलवी पर आरोप है कि 16 माह तक इसने और इसके चेले ने एक महिला के साथ दुष्कर्म किया। उससे 45 लाख रुपए लूटे और उसके 10 साल के बेटे को...

‘शिवलिंग पर कंडोम’ से विवादों में आई सायानी घोष TMC कैंडिडेट, ममता बनर्जी ने आसनसोल से उतारा

बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए टीएमसी ने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। इसमें हिंदूफोबिक ट्वीट के कारण विवादों में रही सायानी घोष का भी नाम है।

‘मैं 25 की हूँ पर कभी सेक्स नहीं किया’: योग शिक्षिका से रेप की आरोपित LGBT एक्टिविस्ट ने खुद को बताया था असमर्थ

LGBT एक्टिविस्ट दिव्या दुरेजा पर हाल ही में एक योग शिक्षिका ने बलात्कार का आरोप लगाया है। दिव्या ने एक टेड टॉक के पेनिट्रेटिव सेक्स में असमर्थ बताया था।

‘जाकर मर, मौत की वीडियो भेज दियो’ – 70 मिनट की रिकॉर्डिंग, आत्महत्या से ठीक पहले आरिफ ने आयशा को ऐसे किया था मजबूर

अहमदाबाद पुलिस ने आयशा और आरिफ के बीच हुई बातचीत की कॉल रिकॉर्ड्स को एक्सेस किया। नदी में कूदने से पहले आरिफ से...

फोन कॉल, ISIS कनेक्शन और परफ्यूम की बोतल में थर्मामीटर का पारा: तिहाड़ में हिंदू आरोपितों को मारने की साजिश

तिहाड़ में हिंदू आरोपितों को मारने की साजिश के ISIS लिंक भी सामने आए हैं। पढ़िए, कैसे रची गई प्लानिंग।

पिंकी को अफसर अली ने घर बुलाया, परिजनों संग मिल गला दबाया, पेड़ से लटका दिया: गोपालगंज में प्यार के बदले मर्डर

बिहार के गोपालगंज जिले में पेड़ से लटकी मिली पिंकी कुमारी ने आत्महत्या नहीं की थी। प्रेमी अफसर अली ने परिजनों संग मिल उसका मर्डर किया था।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,301FansLike
81,952FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe