Friday, January 21, 2022
Homeदेश-समाजमुनव्वर राना की 2 बेटियों के खिलाफ UP पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा, शायर...

मुनव्वर राना की 2 बेटियों के खिलाफ UP पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा, शायर ने योगी सरकार को दी चेतावनी

ठाकुरगंज थाने में दर्ज हुई पहले एफआईआर में दारोगा सेठ पाल सिंह ने मोईनउद्दीन, रसूक अहमद, शबी फातिमा, साफिया, हफीजा और 138 अज्ञात महिलाओं के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 145, 188 और 283 के तहत रिपोर्ट दर्ज की है।

लखनऊ में धारा 144 लागू होने के बाद भी घंटाघर के पास सीएए के ख़िलाफ़ चल रहे प्रदर्शन मामले में पुलिस ने मंगलवार (जनवरी 21, 2019) को 3 मामले दर्ज किए। इनमें उर्दू शायर मुनव्वर राना की दो बेटियों के ख़िलाफ़ भी मुकदमा दर्ज हुआ। जानकारी के अनुसार पुलिस ने सुमैया राना और फौज़िया राना के साथ 100 से ज्यादा महिलाओं को धारा 144 का उल्लंघन करने, लोगों को भड़काने जैसे आरोपों में हिरासत में लिया। जिसके बाद मुनव्वर राना ने मीडिया के सामने आकर सरकार को चेतावनी दी और कहा कि प्रदर्शनकारियों पर पुलिस का रवैया बेहद गलत है।

मुनव्वर राना ने कहा, “एक तरफ तो सरकार तीन तलाक के मामले में कहती है कि ये हमारी बेटियाँ हैं। दूसरी ओर जब वे अपना हक माँग रही हैं, प्रदर्शन कर रही हैं तो कभी उन्हें कंबल नहीं दिया जाता, खाने को छीन लिया जाता है। बच्चे दूध से बिलख रहे हैं।” मुनव्वर राना ने कहा, “मैं सरकार को चेतावनी देते हुए अपना एक शेर फिर से कहता हूँ कि एक आँसू भी हुकूमत के लिए खतरा है, तुमने देखा नहीं आँखों का समंदर होना।”

गौरतलब है कि पुलिस ने इस मामले के संबंध में जिन लोगों खिलाफ तीन मामले दर्ज किए हैं। उनमें से 24 लोग नामजद व 140 अज्ञात हैं। एडीसीपी पश्चिमी विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि धारा 144 के चलते प्रदर्शन पूरी तरह असंवैधानिक है। घंटाघर के सामने पिछले चार दिनों से महिलाएँ अपने बच्चों के साथ नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं।

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार (जनवरी 21, 2020) को ठाकुरगंज थाने में दर्ज हुई पहले एफआईआर में दारोगा सेठ पाल सिंह ने मोईनउद्दीन, रसूक अहमद, शबी फातिमा, साफिया, हफीजा और 138 अज्ञात महिलाओं के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 145, 188 और 283 के तहत रिपोर्ट दर्ज की है। साथ ही इस एफआईआर में 20 वाहनों का भी जिक्र हैं। जिनके कारण घंटाघर के आसपास जाम लगा।

इस मामले में दूसरी एफआईआर ठाकुरगंज थाने में तैनात दारोगा कैलाश नारायण त्रिवेदी ने लईस हसन और नसरीन जावेद के खिलाफ आईपीसी की धारा 188, 505 1बी के तहत दर्ज करवाई है। वहीं , तीसरी एफआईआर में थाने में तैनात महिला सिपाही ज्योति कुमारी ने शायर मुनव्वर राना की बेटी सुमैय्या राना, फौजिया राना, रुखसाना, शबी फातिमा और 10 अज्ञात महिलाओं के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 145, 188 और 352 के तहत ठाकुरगंज थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सपा सरकार है और सीएम हमारी जेब मैं है, जो चाहेंगे वही होगा’: कॉन्ग्रेस को समर्थन का ऐलान करने वाले तौकीर रजा पर बहू...

निदा खान कॉन्ग्रेस के समर्थक मौलाना तौकीर रजा खान की बहू हैं। उन्हें उनके शौहर ने कहा था कि वो नहीं चाहते कि परिवार की महिलाएं पढ़े।

शहजाद अली के 6 दुकानों पर चला शिवराज सरकार का बुलडोजर, कार्रवाई के बाद सुराना गाँव के हिंदुओं ने हटाई मकान बेचने वाली सूचना

मध्य प्रदेश प्रशासन की कार्रवाई के बाद रतलाम में हिंदू समुदाय ने अपने घरों पर लिखी गई मकान बेचने की सूचना को मिटा दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,476FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe