Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाज'धर्मांतरण कर लो...वरना नौकरी तो जाएगी ही, बीवी-बच्चों को भी मार दूँगा' - जामिया...

‘धर्मांतरण कर लो…वरना नौकरी तो जाएगी ही, बीवी-बच्चों को भी मार दूँगा’ – जामिया उर्दू संस्थान के अफसरों की धमकी

"कमल सिंह चार महीने पहले खुद संस्थान छोड़कर भाग गया था तो सैलरी कैसे मिलेगी? धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने जैसे आरोप बेबुनियाद हैं। इनका भाई यहीं काम कर रहा है। कमल को निकालना तो दूर, उल्टा वापस बुलवाया गया था।"

अलीगढ़ में एक जामिया उर्दू संस्थान है। यहीं एक गार्डनर सुपरवाइजर हैं, नाम है – कमल सिंह। कमल पिछले 11 साल से जामिया उर्दू संस्थान में काम कर रहे। लेकिन अब उनकी हाजरी व सैलरी पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके पीछे जो कारण कमल सिंह ने बताया है, वो बहुत ही चिंताजनक है।

कमल सिंह ने जामिया उर्दू संस्थान के ओएसडी फरहत अली व रजिस्ट्रार समुनरजा नकवी पर धर्म परिवर्तन को लेकर दबाव बनाने का आरोप लगाया है। कमल सिंह ने बताया कि ओएसडी फरहत अली व रजिस्ट्रार समुनरजा नकवी न सिर्फ उन पर बल्कि उनकी पत्नी मीना पर भी काफी समय से मुस्लिम धर्म अपनाने का दबाव बना रहे थे।

दैनिक जागरण में 30 दिसंबर को प्रकाशित खबर

इन दबावों के बावजूद कमल सिंह ने हिंदू धर्म अपनाए रखा। लेकिन उन्होंने आरोप लगाया कि इसके कारण उन्हें नौकरी से हटाने व बच्चों को मार डालने की धमकी दी गई। मारपीट तक की गई और सितंबर 2019 से ओएसडी फरहत अली व रजिस्ट्रार समुनरजा नकवी ने मिलकर उनकी हाजरी व सैलरी पर प्रतिबंध लगा दिया है।

इस संबंध में थाना क्वार्सी में मामला दर्ज कराया गया है। चूँकि मामला धर्म परिवर्तन से जुड़ा था, इसलिए कमल सिंह के साथ स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं ने थाने का घेराव किया। इसके बाद जब इंस्पेक्टर विनोद कुमार ने मामले पर FIR दर्ज की, तो हंगामा शांत हुआ।

इस संबंध में कमल सिंह अपनी पत्नी मीना के साथ एटा के सांसद राजवीर सिंह से भी मिले। सांसद ने इस संबंध में डीआईजी प्रीतिंदर सिंह को फोन किया और ठोस कार्रवाई की माँग की। इसके बाद पीड़ित दंपती डीआईजी से उनके ऑफिस जाकर भी मुलाकात की। तब डीआईजी ने खुद संबंधित एसएसपी को जाँच व कार्रवाई के निर्देश दिए।

हालाँकि जामिया उर्दू संस्थान के ओएसडी फरहत अली ने बताया, “कमल सिंह चार महीने पहले खुद संस्थान छोड़कर भाग गया था तो सैलरी कैसे मिलेगी? धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने जैसे आरोप बेबुनियाद हैं। इनका भाई यहीं काम कर रहा है। कमल को निकालना तो दूर, उल्टा वापस बुलवाया गया था।”

इस पूरे मामले में एक और बात सामने आई है। कमल सिंह ने यह भी आरोप लगाया है कि उनके बड़े भाई रघुराज सिंह का भी धर्म परिवर्तन कराया जा चुका है। लेकिन रघुराज सिंह ने इंस्पेक्टर विनोद कुमार को लिखित में दिया कि उन्होंने धर्म परिवर्तन नहीं किया है।

धर्मान्तरण कराने पहुँचा था ईसाई मिशनरी, बौद्ध भिक्षु ने मारा ज़ोरदार थप्पड़, वीडियो वायरल

शिव मंदिर में फेंके प्रतिबंधित मांस के टुकड़े, बीफ के कारण पहले भी इस इलाके में हुआ था बवाल

‘पैगंबर मुहम्मद ने 19 महिलाओं से निक़ाह क्यों किया?’ – सवाल पूछने पर मुस्लिम लड़की को सरेआम फाँसी की माँग

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हज यात्रियों पर आसमान से बरस रही आग, अब तक 22 मौतें: मक्का की सड़कों पर पड़े हुए हैं शव, सऊदी अरब के लचर...

व्यक्ति वीडियो बनाते समय कई शवों को पास से भी दिखाता है और बताता है कि बस, ट्रेन, टैक्सी जैसी कोई भी सुविधा नहीं है और लोग मर रहे हैं, लेकिन सरकार को इससे कोई फर्क नहीं पड़ रहा।

पाकिस्तान से ज्यादा हुए भारत के एटम बम, अब चीन को भेद देने वाली मिसाइल पर फोकस: SIPRI की रिपोर्ट में खुलासा, ड्रैगन के...

वर्तमान में परमाणु शक्ति संपन्न देशों में भारत, चीन, पाकिस्तान के अलावा अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस, उत्तर कोरिया और इजरायल भी आते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -