Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजहिंदू लड़की को जिंदा जलाकर हँस रहा था जो शाहरुख, उसे कोर्ट ने दिया...

हिंदू लड़की को जिंदा जलाकर हँस रहा था जो शाहरुख, उसे कोर्ट ने दिया दोषी करार: दुमका मर्डर केस में डेढ़ साल बाद होगा न्याय

16 साल की लड़की को जलाने के बाद शाहरुख के चेहरे पर शिकन तक नहीं थी। पुलिस ने जब उसे गिरफ्तार किया तो वो हँस रहा था। वहीं हिंदू लड़की डॉक्टरों से ये पूछ रही थी कि उसे सब सच सच बताया जाए कि वो बच पाएगी या नहीं। जिंदगी और मौत के बीच जूझते हुए उसकी माँग बस यही थी कि उसे इंसाफ मिले।

झारखंड के दुमका में पेट्रोल डालकर 16 साल की हिन्दू लड़की को जलाने वाले शाहरुख को विशेष न्यायालय द्वारा दोषी करार दे दिया गया है। इसकी सजा मुकर्रर 28 मार्च 2024 को होगी। इस मामले में शाहरुख के साथ उसके दोस्त नईम को भी दोषी बनाया गया है। नईम ने ही शाहरुख को लाकर पेट्रोल दिया था जिसे बाद में युवती को जलाने के लिए प्रयोग में लाया गया। इनके खिलाफ पॉक्सो की धारा में केस दर्ज था।

एसपी की अध्यक्षता में गठित 12 सदस्यीय एसआइटी ने मामले की जाँच की थी। इसके बाद केस में 112 पेज की चार्जशीट दाखिल हुई थी और बाद में चार्ज फ्रेम करके गवाहों के बयान लिए गए थे। करीबन डेढ़ साल की लंबी बहस के बाद 19 मार्च 2024 को इस मामले में कोर्ट में सुनवाई हुई और आखिरकार शाहरुख-नईम दोषी ठहराए गए। कोर्ट में इनकी पेशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो रही थी लेकिन रिपोर्ट्स बता रही हैं कि सजा के डर से इनके चेहरे पर बेचैनी थी।

हिंदू लड़की को शाहरुख ने सोते में जलाया

बता दें कि झारखंड के दुमका में हिंदू लड़की के ऊपर हमला 23 अगस्त 2022 की सुबह हुआ था। खुद लड़की ने गंभीर अवस्था में पुलिस को अपने साथ घटित घटना की सारी जानकारी दी थी। इस दौरान उसने अपने ऊपर बनाए जा हे धर्मांतरण के दबाव का खुलासा भी किया था। उसने बताया था कि बगल वाला शाहरुख उसे आए दिन तंग करता था। उसे दोस्ती के लिए कहता था। लेकिन लड़की ने जब बात नहीं मानी, उसे डाँटा, तो उसने उसे जान से मारने की धमकी दी।

लड़की ने हमले से एक दिन पहले शाहरुख की शिकायत अपने पिता से भी की थी। इसके बाद वो सोने चली गई थी। लेकिन अगली सुबह जब उसकी आँख खुली तो उसकी पीठ जल रही थी। शाहरुख खिड़की से उसके ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगाकर चला गया था। लड़की फौरन भागते हुए अपने पिता के पास गई थी लेकिन आग इतनी ज्यादा लग गई थी कि बड़ी मुश्किल से उसे बुझाया गया।

उसे अस्पताल लेकर पहुँचे तो पता चला कि वो 90 फीसदी जल चुकी थी। वो डॉक्टरों से पूछ रही थी कि उसे बता दिया जाए कि वो बचेगी या नहीं। डॉक्टर अपनी पूरी कोशिश कर रहे थे, घरवाले भी उम्मीद में थे शायद उनकी बच्ची बच जाए लेकिन शरीर ज्यादा जल जाने की वजह से वो रिकवर नहीं हो पाई और उसका देहांत हो गया। जाते-जाते उसकी बस यही इच्छा थी कि उसे इंसाफ मिले। लड़की ने रोते हुए कहा था– “जिस तरह मैं मर रही हूँ वैसी ही मौत वो भी मरे।”

इस बीच पुलिस ने शाहरुख को अरेस्ट किया। लेकिन उसके चेहरे पर न डर था और न ही कोई मलाल। उलटा वो हँस रहा था और सीना चौड़ा करके मूँछों पर ताव देकर चल रहा था। वहीं नईम के बारे में पता चला था कि उसने हिंदू लड़की को लेकर ये कहा था कि अगर वो बात नहीं करती है तो उसके साथ यही होना चाहिए। दोनों की गिरफ्तारी के बाद डेढ़ साल स उन्हें जेल में रखा गया और अब उन्हें दोषी करार दिया गया है। आगे उनकी सजा तय होगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -