Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाजझारखंड: दलित नाबालिग को इरशाद अंसारी ने अगवा किया, पीड़ित परिवार को जान से...

झारखंड: दलित नाबालिग को इरशाद अंसारी ने अगवा किया, पीड़ित परिवार को जान से मारने की धमकी

विहिप ने कहा है कि गुमला जिला की हिंदू लड़कियों के साथ आए दिन ऐसी घटना घटित हो रही है। समुदाय विशेष के युवक हिंदू नाम रख कर लड़कियों को शिकार बना रहे है। अगर सख्त कार्रवाई नहीं हुई पूरे झारखंड में लव जिहाद और धर्मांतरण के विरोध में आंदोलन किया जाएगा।

झारखंड के गुमला शहर के लक्ष्मण नगर से एक 15 वर्षीय दलित लड़की के अपहरण का मामला सामने आया है। रिपोर्ट के अनुसार, इरशाद अंसारी नाम के युवक ने निक़ाह के इरादे से 10 दिन पहले लड़की को अगवा कर लिया। शिकायत करने पर इरशाद के भाई अब्दुल अंसारी ने पीड़िता के पिता को जाति सूचक गालियाँ और जान से मारने की धमकी दी।

प्रभात खबर की रिपोर्ट की रिपोर्ट के अनुसार, पीड़िता के पिता ने इसे लव जिहाद का मामला बताते हुए गुमला थाने में तहरीर दी है। उन्होंने अपनी शिकायत में बताया है कि उनकी लड़की 10 सितंबर के सुबह 9 बजे से लापता है।

पिता ने बताया कि काफी खोजबीन के बावजूद जब लड़की का पता नहीं चला तो पुलिस को सूचना दी। उन्होंने बेटी के अपहरण के पीछे इरशाद अंसारी का हाथ बताया है। उन्होंने बताया कि मामले की लिखित शिकायत करने के बाद इरशाद के चचेरे भाई ने उन्हें जातिसूचक गालियाँ देते हुए घर के सभी लोगों को जान से मारने की धमकी दी है। इतना ही नहीं बेटी को खोजने पर उन्हें फोन पर भी इसी तरह की धमकी दी गई।

पिता के मुताबिक, 10 दिन से लापता उनकी लड़की को लेकर थाने की तरफ से अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इसके बाद परिजनों ने गुमला के पुलिस अधीक्षक एचपी जनार्दन के संज्ञान में मामले को लाते हुए उन्हें शिकायत पत्र सौंपा है।

विश्व हिंदू परिषद और बजरंग ने जल्द कार्रवाई नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। विहिप ने कहा है कि गुमला जिला की हिंदू लड़कियों के साथ आए दिन ऐसी घटना घटित हो रही है। समुदाय विशेष के युवक हिंदू नाम रख कर लड़कियों को शिकार बना रहे है। अगर सख्त कार्रवाई नहीं हुई पूरे झारखंड में लव जिहाद और धर्मांतरण के विरोध में आंदोलन किया जाएगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,341FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe