Monday, August 15, 2022
Homeदेश-समाजनाबालिग भतीजी के प्यार में पागल चचा इम्तियाज: इनकार पर लड़की को मारी गोली;...

नाबालिग भतीजी के प्यार में पागल चचा इम्तियाज: इनकार पर लड़की को मारी गोली; बाद में खुद कूद गया मालगाड़ी के आगे

....जब लड़की अपनी सहेली के साथ स्कूल से लौट रही थी तो आरोपित ने उसे रोक लिया। उसने शबनम को पहले चाकू मारा और बाद में गोली मारकर उसकी हत्या कर दी।

झारखंड के गढ़वा जिले से दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है, जहाँ अपनी नाबालिग भतीजी के एकतरफा प्यार में पड़े सिरफिरे चाचा ने उसकी बेरहमी से हत्या कर दी। इसके बाद खुद भी ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने उसके पास से मिले सुसाइड नोट के आधार पर उसकी पहचान कर ली है।

रिपोर्ट के मुताबिक, घटना मंगलवार (30 नवंबर 2021) को गढ़वा जिले के खरौधी थाना क्षेत्र के के करिवाडीह गाँव में घटी। यहीं के रहने वाला आरोपित इम्तियाज अंसारी कक्षा 9 में पढ़ने वाली अपनी नाबालिग भतीजी शबनम खातून से पिछले कई साल से एकतरफा प्यार करता था। उसने कई बार लड़की को प्रपोज भी किया, लेकिन हर बार वह उसे दुत्कार देती थी। इससे वो काफी चिढ़ा हुआ था। वहीं लड़की ने आरोपित द्वारा उसे छेड़ने की बात अपने घर वालों को भी बता दी। इसके बाद उसके परिजनों ने युवक के पिता से इसकी शिकायत की तो उसे गुजरात भेज दिया गया।

अभी हाल ही में वो गुजरात से वापस लौटा था। घर वापस लौटते ही उसने फिर से लड़की के साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी। उसने लड़की पर निकाह करने का दबाव बनाया। साथ ही धमकी भी दी कि शादी नहीं करने पर उसके लिए ही उसने एक पिस्तौल और 20 कारतूस बचा के रखे हैं। जब पीड़िता ने फिर से इसकी शिकायत अपने परिजनों से की और उन्होंने आरोपित के पिता से ये बात बताई। तो आरोपित की पिटाई भी हुई।

हालाँकि, इससे बौखलाए सिरफिरे आशिक ने लड़की की हत्या का मन बना लिया। इसी क्रम में बीते मंगलवार को जब लड़की अपनी सहेली के साथ स्कूल से लौट रही थी तो आरोपित ने उसे रोक लिया। उसने शबनम को पहले चाकू मारा और बाद में गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद वो वहाँ से फरार हो गया और चोपन रेलखंड पर नगर उंटारी के पास सुसाइड नोट लिखने के बाद मालगाड़ी के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली। इससे उसके दोनों पैर कट गए और शरीर में भी कई जगह कटने के निशान मौजूद थे। बहरहाल मामले की तफ्तीश की जा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वो हिंदुस्तानी जो अभी भी नहीं हैं आजाद: PoJK के लोग देख रहे आशाभरी नजरों से भारत की ओर, हिंदू-सिखों का यहाँ हुआ था...

विभाजन की विभीषिका को भी भुलाया नहीं जा सकता। स्वतंत्रता-प्राप्ति का मूल्य समझकर और स्वतन्त्रता का मूल्य चुकाकर ही हम अपनी स्वतंत्रता को सुरक्षित और संरक्षित कर सकते हैं।

वे नहीं रहे… क्योंकि वे हिन्दू थे: अपनी नवजात बेटी को भी नहीं देख पाए गौ प्रेमी किशन भरवाड

27 वर्षीय हिंदू युवक किशन भरवाड़ को कट्टरपंथी मुस्लिमों ने 25 जनवरी 2022 को केवल हिंदू होने के कारण मार डाला था। वजह वही क्योंकि वे हिन्दू थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,977FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe