Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजसद्दाम ने लिखा- जिहाद मेरे खून में… UP एटीएस पहुँच गई महाराष्ट्र: रामलला की...

सद्दाम ने लिखा- जिहाद मेरे खून में… UP एटीएस पहुँच गई महाराष्ट्र: रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा से पहले ISIS साजिश का पर्दाफाश, 11 के घर पर रेड

सद्दाम ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखा, "संविधान में परिवर्तन होने पर मुस्लिमों को जागना होगा। जिहाद मेरे खूब में है। कुर्बानी से नहीं डरेंगे। चुनी हुई सरकार मुस्लिमों पर ज्यादती करती है। बाबरी मस्जिद के फैसले से नाराज हूँ। बदले की चाहत। ओसामा बिन लादेन और बुरहान वानी मेरे आदर्श हैं।" इसके बाद यूपी एटीएस ने महाराष्ट्र में 11 जगहों पर छापेमारी की।

अयोध्या में राममंदिर की प्राण प्रतिष्ठा से पहले यूपी एटीएस ने बड़ा ऐक्शन लिया है। खूँखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) द्वारा भारत में अपना बेस बनाने की पुरजोर कोशिशों के बीच सोशल मीडिया पर भड़काऊ, उकसाने वाले और बरगलाने वाले पोस्ट को इंटरसेप्ट किया। इसके बाद महाराष्ट्र में 11 जगहों पर छापेमारी कर कई आपत्तिजनक सामग्री बरामद की है।

इस मामले की छानबीन के लिए यूपी एसटीएफ महाराष्ट्र के छत्रपति संभाजीनगर (पूर्व में औरंगाबाद) पहुँची। वहाँ आईएसआईएस से जुड़े संदिग्धों के ठिकानों पर छापेमारी की। इस दौरान संदिग्धों के ठिकानों से फोन और लैपटॉप, जेहादी साहित्य आदि जब्त किए। इसके बाद उनके घरों में लखनऊ स्थित यूपी एटीएस के दफ्तर में आने का नोटिस थमाकर वापस लौट आई।

दरअसल, यूपी एटीएस ने सोशल मीडिया पर सद्दाम नाम के एक आईएसआईएस समर्थक की पोस्ट देखी। उसने पोस्ट में लिखा था, “संविधान में परिवर्तन होने पर मुस्लिमों को जागना होगा। जिहाद मेरे खून में है। कुर्बानी से नहीं डरेंगे। चुनी हुई सरकार मुस्लिमों पर ज्यादती करती है। बाबरी मस्जिद के फैसले से नाराज हूँ। बदले की चाहत। ओसामा बिन लादेन और बुरहान वानी मेरे आदर्श हैं।”

सद्दाम के इस पोस्ट की जाँच की गई तो संभाजीनगर में कम-से-कम से ऐसे 11 संदिग्धों की पहचान हुई। ये वैचारिक तौर पर आतंकी संगठन आईएसआईएस से जुड़े मिले। इसके बाद यूपी एटीएस ने 30 दिसंबर 2023 को महाराष्ट्र के छत्रपति संभाजीनगर में छापेमारी कर दी। इन सभी आरोपितों के परिजनों को 15 से 18 जनवरी के बीच लखनऊ स्थित यूपी एटीएस के कार्यालय में बुलाया है।

एटीएस ने इस साजिश में शामिल मिर्जा सैफ बेग, अब्दुल वाहिद, यासिर, जियाउद्दीन सिद्दीकी, थोर भान, एसके खालिद, ताहिर उर्फ सर, सादिक हबीब समेत 11 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। इन संदिग्धों के अचानक उनके घरों से गायब होने की सूचना मिलने पर एटीएस वहाँ जाकर रेड डाला। हालाँकि, किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई। कुछ संदिग्धों के मोबाइल फोन बरामद हुए हैं।

यूपी एटीएस की छापेमारी से महाराष्ट्र की सुरक्षा एजेंसियाँ भी चौकन्नी हो गई हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यूपी एटीएस का दावा है कि छत्रपति संभाजीनगर में इन दहशतगर्दों की 17 सितंबर 2023 को एक बैठक हुई थी। इसमें उन्होंने यूपी और देश के प्रमुख स्थानों पर हमले की रणनीति पर चर्चा की थी। इस बैठक के बाद भड़काऊ बातों का सोशल मीडिया पर प्रसार करना शुरू कर दिया गया।

यूपी एटीएस के सीओ कुलदीप तिवारी ने इसको लेकर पिछले साल अक्टूबर माह में एफआईआर दर्ज कराई थी। एएटीएस ने अपनी शिकायत में लिखा था कि फॉर्मेसी स्टोर पर काम करने वाले एक व्यक्ति की अगुवाई में यूपी में दहशत फैलाने की योजना बनाई जा रही है। UP एटीएस के चीफ मोहित अग्रवाल ने कहा कि देश विरोधी कामों में जुटे कुछ लोगों के बारे में सूचना मिली थी, इसके बाद कार्रवाई की गई।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -