Sunday, May 9, 2021
Home देश-समाज 'राम नहीं अल्लाह बोलो, हिन्दू महिलाओं से छेड़छाड़': भूमिपूजन की खुशी मनाते परिवार ने...

‘राम नहीं अल्लाह बोलो, हिन्दू महिलाओं से छेड़छाड़’: भूमिपूजन की खुशी मनाते परिवार ने अमानतुल्लाह के करीबियों पर लगाया आरोप

हिंदू पक्ष की ओर से दी गई शिकायत में उन्होंने मिन्नतुल्लाह खान उर्फ बुच्ची, जोया, सद्दाम, इरफान, बुच्ची की पत्नी चुन्ना, कौशर, कौशर की पत्न, उस्मान अली मंसूरी, सलमान, समीर, शाहरूख, राजा, अमन, अब्दुल्ला, सैम्यूल मैसी व उनके अन्य साथियों के ख़िलाफ़ शिकायत करते हुए कड़ी कार्रवाई की माँग की है।

राम मंदिर भूमि पूजन के बाद 5 अगस्त का दिन पूरे देश में दीपावली की तरह मनाया गया। हर हिंदू ने इस बहुप्रतीक्षित अवसर पर अपने घर में दीया जलाकर इस दिन की खुशियाँ मनाईं। लेकिन इस बीच कुछ क्षेत्र ऐसे भी रहे जहाँ खुशियाँ मनाते-मनाते हिंसा भड़क गई। दिल्ली के कालिंदी कुंज के पास मदनपुर खादर इलाके की गली नंबर 4 में भी कुछ ऐसा ही हुआ।

यहाँ 5 अगस्त के दिन एक आपसी झड़प की खबर मीडिया में सामने आई। अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, यह बच्चों की लड़ाई का मामला था। जो बाद में बड़ों के बीच विवाद का कारण बन गया और देखते ही देखते वहाँ ईंट, लोहे की रॉड और तलवारें तक चल गईं। खबर में यह भी बताया गया कि पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इनका नाम गगन, मुकेश और दीपक है।

रिपोर्ट्स से यह भी सूचना मिली कि इस मामले को सुलझाने आए मिन्नतुल्लाह खान को दूसरे पक्ष के लोगों द्वारा तलवार से मारा गया, जिसके कारण वह बेहोश हो गए और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। बाद में इस संबंध में पुलिस को सूचना दी गई।

ऑपइंडिया के संज्ञान में जब यह मामला आया तो हमने पूरी घटना को जानने का प्रयास किया। हमें इस बीच मिन्नतुल्लाह खान द्वारा कालिंदी कुंज थाने में कराई गई एफआईआर की कॉपी मिली और साथ ही दूसरे पक्ष की शिकायत की प्रति भी मिली।

दोनों पक्षों के अपने-अपने मत थे। लेकिन हैरानी इस बात की थी कि मिन्नतुल्लाह खान की ओर से की गई एफआईआर पर त्वरित कार्रवाई हो चुकी थी। जबकि दूसरा पक्ष अब भी अपनी एफआईआर के लिए जद्दोजहद कर रहा है और घटना के एक हफ्ते बाद भी उनकी कोई सुनवाई नहीं है।

हमने पूरा मामला समझते हुए दूसरे पक्ष से संपर्क किया और उस परिवार से बात की जिनका झगड़ा 5 अगस्त के ही दिन अपने इलाके में रहने वाले दूसरे समुदाय के कुछ लोगों से हुआ था।

परिवार के सदस्य जीतेंद्र ने हमें बताया, “5 अगस्त के दिन राम मंदिर भूमिपूजन की खुशी के अवसर पर हमारे परिवार के बच्चे घर के बाहर दीया जलाकर खुशियाँ मना रहे थे। तभी घर के पास रहने वाले मिन्नतुल्लाह खान उर्फ बुच्ची की ओर से 3-4 लोग आए और बच्चों को धमका कर दीये में लात मार दी। ये सब देख कर हमारे घर की औरतें बीच-बचाव करने पहुँची। लेकिन वह लोग उनसे ही उलझ गए। तभी घर के दो पुरूष (मुकेश और गगन) भी वहाँ गए और उन 4-5 लोगों ने उन पर भी हमला बोल दिया। जब पूरा मामला बढ़ गया तो यह लोग वहाँ से चले गए और कुछ मिनट बाद 30-40 की संख्या के साथ वापस आए।”

जीतेंद्र के अनुसार, “भीड़ ने दोबारा आते ही बगल वाले घर से ईंट उठा कर हमारे घर पर हमला बोल दिया और जो दीया बाहर रखा था उसे भी घर में फेंक कर बाइक में आग लगाने की कोशिश की। जब हमने इस संबंध में पुलिस को संपर्क किया तो पुलिस आई और मुकेश के साथ गगन को भी थाने में ले गई। जब सवाल किया गया तो पता चला कि दूसरे ओर से शिकायत दर्ज हुई है।”

ऑपइंडिया ने यह जानने के बाद जीतेंद्र से पूछा कि आखिर किन कारणों से मुकेश और गगन को गिरफ्तार किया गया? जिस पर जीतेंद्र ने हमें बताया, “दरअसल, उस दिन जब वह लोग हमारी माँ बेटियों के साथ दुर्व्यव्हार कर रहे थे तब मिन्नतुल्लाह खान नलके के हत्थे से हमारे घर की बेटी वर्षा को मारने जा रहा था। लेकिन तभी वर्षा ने अपने सिर पर हाथ लगा लिया जिससे वह बच गई। मगर गगन को यह सब देखकर गुस्सा आया और वह अपनी शादी की तलवार उठाकर ले आया। उसने तलवार के उसके हैंडल से मिन्नतुल्लाह खान के सिर पर मार दिया।”

https://www.youtube.com/watch?v=PQVtziBMl1A

जीतेंद्र ने हमें इस पूरी घटना की वीडियो उपलब्ध करवाई। साथ ही यह भी कहा कि दूसरे पक्ष ने पुलिस का ध्यान केवल तलवार वाली घटना पर गौर दिलवाकर मुकेश-गगन को गिरफ्तार करवा दिया है। हमसे कोई बातचीत नहीं की। इनके अलावा एक दीपक नाम का साथी भी जेल में डाल दिया गया। जिसकी कोई गलती भी नहीं थी। वह घटनास्थल पर भी बाद में आया था। मगर, तब भी वह मुकेश और गगन के साथ तिहाड़ में डाल दिया गया।

जीतेंद्र के अनुसार, मिन्नतुल्लाह खान आम आदमी पार्टी नेता व इलाके के विधायक अमानतुल्लाह खान का खास है। जिसके ऊपर पहले से कई आपराधिक केस दर्ज हैं। लेकिन तब भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही। उनके मुताबिक पुलिस से पूछने पर पुलिस उनसे कहती है कि दूसरे पक्ष की ओर से इस मामले में एफआईआर दर्ज है इसलिए कार्रवाई चल रही है।

बता दें कि जब ऑपइंडिया ने हिन्दू परिवार से बात की तब तक उनकी FIR दर्ज नहीं हुई थी। हालाँकि, आज मालूम चला कि घटना के 6 दिन बाद यानी कल उनकी शिकायत पर FIR हो गई है।

ऑपइंडिया को बताया गया कि काफी जद्दोजहद के बाद हमारी शिकायत को पुलिस ने 11 अगस्त 2020 को अंततः FIR के रूप में दर्ज किया। हिन्दुओं की तरफ से दर्ज कराई गई FIR की प्रति यहाँ संलग्न है। अब इस पर आगे जो भी कार्रवाई होती है वो आने वाले समय में ही पता लगेगा।

हिन्दू पक्ष की ओर से दर्ज FIR-1
हिन्दू पक्ष की ओर से दर्ज FIR-2
हिन्दू पक्ष की ओर से दर्ज FIR-3

घर की महिलाओं का क्या कहना है?

गगन की पत्नी बबीता बताती हैं कि 5 अगस्त के दिन उनके घर के बच्चे दीया जलाकर खुशियाँ मना रहे थे। तभी वह लोग बाहर लड्डू लेने गए। लेकिन दूसरे मजहब के बच्चों ने उनसे कहा कि राम-राम मत बोलो अल्लाह-अल्लाह बोलो। बबीता के मुताबिक, “हमारे बच्चों ने अल्लाह-अल्लाह बोलने से मना कर दिया जिसके कारण वह बच्चे मारपीट करने लगे। हमारे बच्चों ने हमसे शिकायत की। लेकिन तब तक पीछे से वह लोग आ गए और मारपीट करने लगे। इस बीच हमारी भांजी पर हमला कर दिया गया। हम उसे बचाने भी गए, पर तब भी मारपीट होती रही। वह लोग हमारे घर पर पत्थर बरसा कर गए।”

बबीता के अनुसार, दूसरे पक्ष की भीड़ ने इस दौरान उनका हाथ पकड़ा और उनकी छाती में हाथ भी डाला। उनसे कहा गया कि वह सब मिलकर उनकी जिंदगी बर्बाद कर देंगे और कोई कुछ कर भी नहीं पाएगा।

बबीता के बाद दीपक की माताजी ने इस पूरे मामले के लिए मिन्नतुल्लाह खान को जिम्मेदार ठहराया। वहीं भांजी वर्षा भी बताती हैं कि उस दिन उनके भाइयों के साथ जब बदसलूकी हुई तो वह बाहर गईं। लेकिन उन लोगों ने उनके प्राइवेट पार्ट्स पर हाथ मारे और मुँह पर भी मारा।

वे कहती हैं कि उनकी बस यही माँग है कि उनके मामले में मिन्नतुल्लाह खान के ख़िलाफ़ जल्द से जल्द कार्रवाई हो और आने वाले समय में यदि कोई उनके छोटे भाई-बहनों को कुछ भी करे तो उसके जिम्मेदार भी उन्हें ही माना जाए।

सुदर्शन वाहिनी संगठन के दिल्ली प्रदेश के उपाध्यक्ष सागर मलिक

सुदर्शन वाहिनी संगठन के दिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष सागर मलिक भी इस मुद्दे पर इस समय पुलिस से कार्रवाई की माँग कर रहे हैं। उनका कहना है कि यह सब साम्प्रदायिक हिंसा भड़काने के लिहाज से हुआ है। हिंदू पक्ष ने जो कुछ भी किया वो अपनी बहन-बेटियों की रक्षा में किया। गगन ने जो बिन धार वाली तलवार को मिन्नतुल्लाह खान के सिर पर मारा वह भी बचाव में ही था। 

इसलिए उनके हिसाब से इस मामले में दोनों हिसाब से केस दर्ज होना चाहिए था। लेकिन तब भी एक ही पक्ष की शिकायत पर कार्रवाई हुई और गगन के अलावा मुकेश व दीपक भी थाने में बुला कर जेल में डाल दिए गए।

सागर कहते हैं कि इस मामले में राजनीतिक दबाव के कारण हिंदू पक्ष की शिकायत पर कार्रवाई नहीं हो रही और उन्हीं के लोगों को जेल में डाला गया है।

पुलिस से संपर्क

बता दें, ऑपइंडिया ने इस संबंध में कालिंदी कुंज थाने में अपडेट जानने के लिए संपर्क किया था। लेकिन पुलिस ने इस मामले पर डीएसपी से बात करने को कह दिया। इसके बाद डीएसपी से हमारा संपर्क नहीं हो पाया। अगर आगे कोई भी जानकारी हमें मिलेगी तो हम इस खबर को अपडेट करेंगे।

मिन्नतुल्लाह खान की ओर से दर्ज कराई गई FIR में क्या शिकायत है?

मिन्नतुल्लाह खान की ओर से दायर करवाई गई एफआईआर में उन्होंने खुद को सामाजिक कार्यकर्ता बताते हुए कहा कि 5 अगस्त को राम मंदिर भूमि पूजन के बाद कुछ लोग दीया जला रहे थे। तभी उनके बड़े बेटे का फोन आया कि उनके छोटे बेटे को गगन ने चांटा मार दिया है और जब वह उसे बचाने गया तो उस पर भी हथौड़े से वार हुआ है।

मिन्नतुल्लाह खान के अनुसार, इसी कारण वह गगन से पूछने गए कि उसने बच्चों की आपसी लड़ाई में उनके बड़े लड़के को क्यों मारा।

मिन्नतुल्लाह खान की एफआईआर

लेकिन, तभी मुकेश ने नल के हत्थे से उनपर वार कर दिया और खुद को बचाने में उनके बाएँ हाथ में चोट आ गई। इसके बाद गगन भी घर से तलवार ले आया और जान से मारने के इरादे से हमला किया। फिर दीपक और सुशील समेत कई लोग आ गए और उन पर ईंट पत्थरों से वार करने लगे। 

इसके बाद ईंट लगने से वह घटनास्थल पर बेहोश हो गए जब होश आया तो वह अपोलो में थे। उन्होंने अपनी एफआईआर में यह माँग की है कि उनके बच्चों पर जानलेवा हमला करने वालों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई हो।

बता दें, इस संबंध में पुलिस ने मिन्नतुल्लाह खान की ओर से दूसरे पक्ष पर धारा 307 और 34 के तहत मामला दर्ज किया है।

हिंदू पक्ष की शिकायत में किन लोगों का नाम है?

हिंदू पक्ष की ओर से दी गई शिकायत में उन्होंने मिन्नतुल्लाह खान उर्फ बुच्ची, जोया, सद्दाम, इरफान, बुच्ची की पत्नी चुन्ना, कौशर, कौशर की पत्न, उस्मान अली मंसूरी, सलमान, समीर, शाहरूख, राजा, अमन, अब्दुल्ला, सैम्यूल मैसी व उनके अन्य साथियों के ख़िलाफ़ शिकायत करते हुए कड़ी कार्रवाई की माँग की है। 

इनकी शिकायत में आरोप है कि इनके साथ मारपीट, पथराव, घर की महिलाओं के साथ बदसलूकी के अलावा इनके घर के दीये को उठाकर फेंका गया और बाइक में आग लगाने की कोशिश हुई।

शिकायत में यह भी स्पष्ट लिखा है कि इतनी भीड़ के बीच में उन्होंने खुद को असहाय देखा और जब उनके घर की महिलाओं व छोटी बच्चियों के साथ छेड़छाड़ हुई तो एक साथ उन्हें रोकने का प्रयास किया। इस बीच उन लोगों को भी चोट आई और ये लोग भी घायल हुए।

परिवार ने शिकायत में यह भी आरोप लगाया है कि कि दूसरे पक्ष के लोग आपराधिक प्रवृति के हैं। उनके ख़िलाफ़ बहुत से मामले दर्ज हैं। ये लोग फेसबुक पर भी बंदूक के साथ फोटो डालते हैं। अगर आने वाले समय में कोई भी अप्रिय घटना घटित हुई तो उसके लिए ये लोग जिम्मेदार होंगे। 

ऑपइंडिया को मिली वीडियो में क्या है?

घटना से संबंधित वीडियोज में हम देख सकते हैं कि उस दिन काफी लोगों की भीड़ वीडियो बनाने वाले युवक के घर पर गाली-गलौच करते हुए पथराव कर रही थी। बड़ी-बड़ी ईंटों को उठाकर घर पर फेंकी जा रही था। बगल के घर से पत्थर उखाड़ कर भी हमले के लिए प्रयोग किया गया।

एक अन्य वीडियो में दिखता है कि एक युवक बाइक में तोड़फोड़ करता है। फिर घर में जल रहे चिराग को गिराया जाता है और वहाँ खड़ी बाइक पर हमला होता है। दूसरा व्यक्ति बार-बार समझाता है, “बुच्ची भाई बाइक मेरी है” लेकिन उपद्रवी भीड़ नहीं सुनती है और लगातार पत्थरबाजी और गाली गलौच चलता रहता है।

एक वीडियो में यह भी साफ नजर आता है कि गगन अपने घर से तलवार लेकर मिन्नतुल्लाह खान पर हमला करता है और उसके बाद वह लोग वहाँ से भागने लगते हैं। बाद में दूसरी ओर से पथराव भी होता है। बीच में कुछ महिलाएँ बीच-बचाव करने पहुँचती हैं। लेकिन माहौल शांत नहीं होता। आखिर में घर का ही युवक इलाके की वीडियो बनाता है और उसे फेसबुक पर डालने की बात कहता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गाजीपुर में हटाए गए 2 डॉक्टर: ऑक्सीजन पर कंफ्यूजन से मरीज और उनके परिवार वालों को कर रहे थे परेशान

ऑक्सीजन पर ढुलमुल रवैये के कारण उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में 2 डॉक्टरों को हटा दिया गया। एक्शन लिया है वहाँ के DM मंगला प्रसाद ने।

‘खान मार्केट के दोस्तों को 1-1 ऑक्सीजन कंसेन्ट्रेटर, मुझ पर बहुत अधिक दबाव है’ – नवनीत कालरा का वायरल ऑडियो

कोरोना वायरस के कहर के बीच दिल्ली में ऑक्सीजन कंसेन्ट्रेटर्स की कालाबाजारी हो रही है। इस बीच पुलिस के हाथ बिजनेसमैन नवनीत कालरा की ऑडियो...

मुरादाबाद और बरेली में दौरे पर थे सीएम योगी: अचानक गाँव में Covid संक्रमितों के पहुँचे घर, पूछा- दवा मिली क्या?

सीएम आदित्यनाथ अचानक ही गाँव के दौरे पर निकल पड़े और होम आइसोलेशन में रह रहे Covid-19 संक्रमित मरीजों के स्वास्थ्य की जानकारी ली। उनके इस अप्रत्याशित निर्णय का अंदाजा उनके अधिकारियों को भी नहीं था।

‘2015 से ही कोरोना वायरस को हथियार बनाना चाहता था चीन’, चीनी रिसर्च पेपर के हवाले से ‘द वीकेंड’ ने किया खुलासा: रिपोर्ट

इस रिसर्च पेपर के 18 राइटर्स में पीएलए से जुड़े वैज्ञानिक और हथियार विशेषज्ञ शामिल हैं। मैग्जीन ने 6 साल पहले 2015 के चीनी वैज्ञानिकों के रिसर्च पेपर के जरिए दावा किया है कि SARS कोरोना वायरस के जरिए चीन दुनिया के खिलाफ जैविक हथियार बना रहा था।

नेहरू के अखबार का वो पत्रकार, जिसने पोप को दी चुनौती… धर्म परिवर्तन के खिलाफ विश्व हिन्दू परिषद की रखी नींव

विश्व हिन्दू परिषद की स्थापना करते समय स्वामी चिन्मयानन्द सरस्वती ने कहा था, “जिस दिन प्रत्येक हिन्दू जागृत होगा और उसे..."

‘मदरसा छाप, मिर्जापुर का ललित’: दिल्ली में ऑक्सीजन की बर्बादी पर तजिंदर बग्गा और अमानतुल्लाह के बीच छिड़ा वाक युद्ध

इस पर तजिंदर बग्गा ने अमानतुल्लाह खान से कहा कि बाटला हाउस इनकाउंटर को फर्जी बताने वाला और मोहनचंद शर्मा के बलिदान का अपमान करने वाला आज फेक न्यूज की बात कर रहा है।

प्रचलित ख़बरें

रमजान का आखिरी जुमा: मस्जिद में यहूदियों का विरोध कर रहे हजारों नमाजियों पर इजरायल का हमला, 205 रोजेदार घायल

इजरायल की पुलिस ने पूर्वी जेरुसलम स्थित अल-अक़्सा मस्जिद में भीड़ जुटा कर नमाज पढ़ रहे मुस्लिमों पर हमला किया, जिसमें 205 रोजेदार घायल हो गए।

‘मेरी बहू क्रिकेटर इरफान पठान के साथ चालू है’ – चचेरी बहन के साथ नाजायज संबंध पर बुजुर्ग दंपत्ति का Video वायरल

बुजुर्ग ने पूर्व क्रिकेटर पर आरोप लगाते हुए कहा, “इरफान पठान बड़े अधिकारियों से दबाव डलवाता है। हम सुसाइड करना चाहते हैं।”

एक जनाजा, 150 लोग और 21 दिन में 21 मौतें: राजस्थान के इस गाँव में सबसे कम टीकाकरण, अब मौत का तांडव

राजस्थान के सीकर स्थित खीरवा गाँव में मोहम्मद अजीज नामक एक व्यक्ति के जनाजे में लापरवाही के कारण अब तक 21 लोगों की जान जा चुकी है।

पुलिस गई थी लॉकडाउन का पालन कराने, महाराष्ट्र में जुबैर होटल के स्टाफ सहित सैकड़ों ने दौड़ा-दौड़ा कर मारा

महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के संगमनेर में 100 से 150 लोगों की भीड़ पुलिस अधिकारी को दौड़ा कर उन्हें ईंटों से मारती और पीटती दिखाई दे रही है।

इरफान पठान के नाजायज संबंध: जिस दंपत्ति ने लगाया बहू के साथ चालू होने का आरोप, उसी पर FIR

बुजुर्ग ने पूर्व क्रिकेटर पर आरोप लगाते हुए कहा, “इरफान पठान बड़े अधिकारियों से दबाव डलवाता है। आज हमारी ऐसी हालत आ गई कि हम सुसाइड करना चाहते हैं।”

रेप होते समय हिंदू बच्ची कलमा पढ़ के मुस्लिम बन गई, अब नहीं जा सकती काफिर माँ-बाप के पास: पाकिस्तान से वीडियो वायरल

पाकिस्तान में नाबालिग हिंदू लड़की को इ्स्लामी कट्टरपंथियों ने किडनैप कर 4 दिन तक उसके साथ गैंगरेप किया और उसका जबरन धर्मान्तरण कराया।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,388FansLike
91,063FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe