Saturday, July 24, 2021
Homeदेश-समाजअमरूद्दीन ने खुद को ही किया अगवा: प्रेमिका के साथ घूमते हुए 10 बार...

अमरूद्दीन ने खुद को ही किया अगवा: प्रेमिका के साथ घूमते हुए 10 बार बदले सिम, फिर पैरों में ठोंक ली कील

कन्नौज नगर पंचायत की चेयरपर्सन के पति को फॅंसाने के लिए रची थी साजिश। दादरी बाइपास पर पुलिस को जंजीरों से बॅंधा मिला था। तीन लोगों के खिलाफ खुद को अगवा कराने की दर्ज कराई थी शिकायत।

उत्तरप्रदेश के कन्नौज में अमरुद्दीन नामक ठेकेदार के अपहरण का पूरा मामला फर्जी निकला। पुलिस ने जाँच के बाद पाया कि अमरुद्दीन ने अपने अपहरण का नाटक खुद रचा था। इसके पीछे उसका मकसद कन्नौज नगर पंचायत की चेयरपर्सन के पति मुस्ताक को फँसाना था। पुलिस के मुताबिक पूरे मामले पर अमरूद्दीन पर किसी को शक न हो, इसके लिए उसने खुद अपने पैरों पर कीलें ठोंकी और एक हफ्ते तक कई जगहों पर भटका भी रहा। बीते सोमवार पुलिस ने उसे दादरी बाईपास पर जंजीरों से बँधा पाया। उसकी शिकायत पर मुस्ताक समेत तीन लोगों के ख़िलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज की।

जानकारी के मुताबिक अमरूद्दीन कन्नौज के गुरसहायगंज थाना क्षेत्र का निवासी है। सोमवार की सुबह 5 बजे पुलिस को वह बादलपुर के दादरी बाईपास पर मिला। इस दौरान उसके पैरों में कील ठुकी हुई थी, आँख पर पट्टी बंधी हुई थी और मुँह पर टेप चिपकी थी। पुलिस ने उस समय अमरूद्दीन की हालत देखकर पहले उसका अस्पताल में उपचार करवाया और बाद में उसकी शिकायत पर मुस्ताक समेत 3 पर केस दर्ज किया। हालाँकि शुरुआत में पुलिस ने उसकी बातों पर यकीन कर लिया था, लेकिन बाद में चौंकाने वाला खुलासा हुआ।

नवभारत टाइम्स में प्रकाशित संबंधित खबर

पुलिस ने जाँच में पाया कि अमरूद्दीन का 2 साल से 1.80 लाख रुपए की पेमेंट को लेकर विवाद चल रहा था। जिसके कारण उसने ये सब षडयंत्र रचा। दरअसल, मुस्ताक की पत्नी रुकसाना बेगम कन्नौज में पंचायत की अध्यक्ष हैं और नगर पंचायत ने करीब 2 वर्ष पहले टेंडर जारी करके अमरूद्दीन से अपने क्षेत्र में काम करवाया था। लेकिन ठेकेदार के मुताबिक उसे इस काम की पेमेंट नहीं मिली। जबकि चेयरपर्सन के अनुसार वे पेमेंट कर चुके हैं।

इसी विवाद के चलते 22 अक्टूबर को अमरूद्दीन घर से ये कहकर निकला कि लखनऊ जा रहा हूँ। लेकिन वह घर वापस नहीं लौटा। पुलिस ने मामले में आगे जाँच की तो पता चला कि वह अपने गाँव के एक दोस्त और प्रेमिका के साथ एक होटल में रुका था। उसके बाद वो दतिया, महाराष्ट्र, तेलंगाना गया और 10 बार सिम बदलकर अपनी पत्नी से बात की। अंत में पुलिस की नजर में आने के लिए उसने दादरी बायपास इसलिए चुना क्योंकि उसे इस क्षेत्र की जानकारी थी।

पूरी साजिश का पर्दाफाश होने के बाद अमरूद्दीन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बादलपुर कोतवाली के प्रभारी पटनीश कुमार ने बताया है कि अपने अपहरण की साजिश रचने के आरोप में अमरूद्दीन को गिरफ्तार कर लिया गया है। पैरों में कील ठोकने वाला पत्थर, मोबाइल व सिम कार्ड बरामद कर लिया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हमने मोदी को जिताया की रट लगाते हो, खुद 2 बार लड़े तो क्यों नहीं जीत गए?’ महिला पत्रकार ने उतार दी राकेश टिकैत...

'इंडिया 1 न्यूज़' की गरिमा सिंह ने राकेश टिकैत के इस बयान को लेकर भी सवाल पूछा जिसमें वो बार-बार कहते हैं कि इस सरकार को 'हमने जिताया'।

UP में सपा-AIMIM का मुस्लिम डिप्टी CM, मायावती का ब्राह्मण प्रेम और राहुल गाँधी को पसंद नहीं ‘अमेठी’ के आम: 2022 की तैयारी

राहुल गाँधी ने कहा कि उन्हें यूपी के आम का स्वाद पसंद नहीं। उन्होंने कहा कि उन्हें आंध्र प्रदेश के आम पसंद हैं। ओवैसी ने सपा को दिया गठबंधन का ऑफर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,931FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe