Friday, April 19, 2024
Homeदेश-समाज₹65 करोड़ की फर्जी बिलिंग, ₹175 करोड़ का लेनदेन, 11 लॉकर जब्त: टैक्स चोरी...

₹65 करोड़ की फर्जी बिलिंग, ₹175 करोड़ का लेनदेन, 11 लॉकर जब्त: टैक्स चोरी मामले में ऐसे फँस रहे सोनू सूद

कई कंपनियाँ तो छापेमारी में ऐसी निकलकर आई हैं, जिन्होंने अपने चपरासियों को बोगस कंपनियों का डायरेक्टर बना रखा था। कानपुर में फर्जी इनवॉइस जारी करने वाली कंपनी रिच ग्रुप और रिच उद्योग के मालिकों ने...

बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद का नाम 20 करोड़ रुपए से अधिक की टैक्स चोरी में सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है। उनका नाम सामने आने के बाद इस मामले में और भी कई तरह-तरह के खुलासे हो रहे हैं। आयकर विभाग द्वारा सोनू निगम के कई ठिकानों पर छापेमारी की गई और इसमें विभाग को बड़ी सफलता भी मिली है।

बताया जा रहा है कि कई कंपनियाँ तो छापेमारी में ऐसी निकलकर आई हैं, जिन्होंने अपने चपरासियों को बोगस कंपनियों का डायरेक्टर बना रखा था। इस बड़ी धाँधली ने हर किसी के होश उड़ा दिए हैं। कानपुर में फर्जी इनवॉइस जारी करने वाली कंपनी रिच ग्रुप और रिच उद्योग के मालिकों द्वारा यह कारनामा किया गया है। बता दें कि बीते कुछ दिनों से आयकर विभाग की संयुक्त टीमों के छापों के बाद अब एक और बड़ा खुलासा हुआ है।

एक के बाद एक बड़े ख़ुलासे होने के चलते आयकर विभाग और सतर्क एवं चौकन्ना हो गया है। साथ ही विभाग ने जाँच का दायरा बढ़ा दिया है। अब और भी कई ठिकानों पर छापेमारी होनी है। वहीं दूसरी ओर बताया जा रहा है कि सोनू सूद द्वारा लखनऊ के इन्फ्रास्ट्रक्चर समूह में निवेश के लिए भी रिच समूह की मदद से फर्जी बिल जारी किए गए हैं। ऐसे में आयकर विभाग अब जाँच में कोई ढील नहीं चाहता है और आगे भी कई ठिकानों पर छापेमारी जारी रहेगी।

जानकारी के मुताबिक, लखनऊ के इन्फ्रास्ट्रक्चर समूह में सोनू सूद ने संयुक्त उद्यम अचल संपत्ति परियोजना में निवेश कर रखा है। हैरानी की बात यह है कि 48 वर्षीय अभिनेता द्वारा निवेश टैक्स चोरी और बिलिंग में गड़बड़ी करके किया गया है। इस समूह का नाम भी फर्जी बिलिंग में शामिल है। आयकर विभाग को जाँच में 65 करोड़ की फर्जी बिलिंग के साक्ष्य मिले हैं।

नकदी के बदले फर्जी बिलिंग की गई। अभिनेता की ओर से स्थापित चैरिटी फाउंडेशन ने एक अप्रैल 2021 तक 18.94 करोड़ रुपए का दान जुटाया है। इसमे से 1.9 करोड़ खर्च किए हैं, जबकि 17 करोड़ बिना इस्तेमाल के खाते में हैं। चैरिटी फाउंडेशन ने विदेशी योगदान अधिनियम के नियमों का उल्लंघन करते हुए क्राउड फंडिंग प्लेटफॉर्म पर विदेशी दानदाताओं से 2.1 करोड़ भी जुटाए हैं।

कई जगह छापेमारी, करोड़ों का फ़र्जीवाड़ा

विभाग को जयपुर स्थित कंपनी में 175 करोड़ के लेनदेन की जानकारी मिली। इसमें 1.8 करोड़ रुपए नकद मिले। IT विभाग ने 11 लॉकर जब्त कर लिए हैं और फिलहाल आयकर विभाग इस काम में आगे बढ़ रहा है। जाँच जारी है और उम्मीद है कि आगे भी कई बड़े ख़ुलासे हो सकते हैं।

28 परिसर की जाँच, सीबीडीटी से मिली जानकारी

विभाग द्वारा मुंबई में सोनू सूद और इन्फ्रास्ट्रक्चर कारोबार में लगे लखनऊ के समूह के मुंबई, लखनऊ, कानपुर, जयपुर, दिल्ली और गुरुग्राम स्थित 28 परिसरों की जाँच की गई है। यह जानकारी सीबीडीटी की प्रवक्ता सौरभी अहलूवालिया ने दी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत विरोधी और इस्लामी प्रोपगेंडा से भरी है पाकिस्तानी ‘पत्रकार’ की डॉक्यूमेंट्री… मोहम्मद जुबैर और कॉन्ग्रेसी इकोसिस्टम प्रचार में जुटा

फेसबुक पर शहजाद हमीद अहमद भारतीय क्रिकेट टीम को 'Pussy Cat) कहते हुए देखा जा चुका है, तो साल 2022 में ब्रिटेन के लीचेस्टर में हुए हिंदू विरोधी दंगों को ये इस्लामिक नजरिए से आगे बढ़ाते हुए भी दिख चुका है।

EVM से भाजपा को अतिरिक्त वोट: मीडिया ने इस झूठ को फैलाया, प्रशांत भूषण ने SC में दोहराया, चुनाव आयोग ने नकारा… मशीन बनाने...

लोकसभा चुनाव से पहले इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (EVM) को बदनाम करने और मतदाताओं में शंका पैदा करने की कोशिश की जा रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe