Wednesday, April 24, 2024
Homeदेश-समाजदिल्ली के जमनापार में थी बड़े कत्लेआम की तैयारी, क्या कपिल मिश्रा ने राजधानी...

दिल्ली के जमनापार में थी बड़े कत्लेआम की तैयारी, क्या कपिल मिश्रा ने राजधानी को बड़ी हिंसा से बचा लिया?

स्पष्ट था कि किन लोगों को मारना है, किनकी दुकान और घर जलाने हैं, उनकी मार्किंग पहले से की गई थी। दुकानों पर CAA विरोधी नारे ऐसे लिखे गए थे कि किसे नहीं जलाना है, उसकी पहचान हो जाए।

दिल्ली में हुई भयानक हिंसा सीधे-सीधे एक तरफ इशारा करती है कि एक बड़े नरसंहार की तैयारी थी। चाहे ताहिर हुसैन के घर पर इकट्ठा बम और एसिड का जखीरा हो या मुस्तफाबाद में बड़ी बड़ी स्टील की प्लेट्स की आड़ में निकली दंगाइयों की भीड़ या फिर फिरोज खान के यहाँ निकला 60000 लीटर तेजाब हो या जाफराबाद, सीलमपुर, मुस्तफाबाद बाद में हुई सुनियोजित हिन्दू नेताओं की हत्याएँ – स्पष्ट था कि किन लोगों को मारना है, किनकी दुकान और घर जलाने हैं, उनकी मार्किंग पहले से की गई थी। दुकानों पर CAA विरोधी नारे ऐसे लिखे गए थे कि किसे नहीं जलाना है, उसकी पहचान हो जाए।

दो हफ्ते पहले से समुदाय विशेष के इलाकों में ईंटों के ढेर ऑर्डर करके मँगवाए गए थे। जनवरी से बार-बार दिल्ली पुलिस के द्वारा अवैध हथियारों का जखीरा पकड़ा जा रहा था। इन्हीं इलाकों से चार महीने पहले आतंकवादी भी पकड़े गए थे। दिसंबर में जामिया में अमानतुल्ला खान, सीलमपुर में अब्दुर्रहमान और जामा मस्जिद में शुएब इकबाल ने खुलेआम दंगाई भीड़ का नेतृत्व किया था। इन तीनों पर FIR दर्ज है और तीनों को केजरीवाल ने टिकट भी दिया।

उमर खालिद खुलकर एलान कर चुके थे कि ट्रम्प के सामने सड़कों पर बवाल करना है। मुस्तफाबाद के हिन्दू परिवार बताते हैं कि कैसे विधायक हाजी यूनुस दंगाइयों की मदद कर रहे थे। ट्रम्प के दिल्ली आने वाले दिन जामिया के स्टूडेंट्स ने नई दिल्ली में बड़े प्रदर्शन की घोषणा कर रखी थी। मालवीय नगर के हौजरानी में सुबह से बड़े-बड़े इस्लामिक जुलूस निकाल जा रहे थे। जाफराबाद, चाँद बाग, खुरेजी, इंद्रलोक, निज़ामुद्दीन, हौजरानी और शाहीन बाग में सड़के बंद करके मजहबी भीड़ खुलेआम खड़ी थी। दिल्ली के तीस हजारी, फिल्मिस्तान में लगभग 50,000 कट्टरपंथी सुबह से इकट्ठा होकर सड़कों पर घूम रहे थे।

भीड़ थी, हथियार थे और घेराव था। सब तैयार था लेकिन एक गड़बड़ हो गई। एक दिन पहले दोपहर एक बजे कपिल मिश्रा ने मौजपुर में आने की घोषणा कर दी। तीन बजे वहाँ सड़क बंद होने व बढ़ते तनाव से त्रस्त हिन्दू जनता इकट्ठा होने लगी। जाफराबाद और कबीरनगर की मजहबी भीड़ बेकाबू हो गई। जो कत्लेआम देर रात शुरू होने थे, उसका वेट किए बगैर जाफराबाद और कबीर नगर की हथियारों से लैस भीड़ मौजपुर में टूट पड़ी।

टीवी पर खबर चली और बाकी इलाकों में भी पथराव शुरू हो गए। लोग चौकन्ने हो गए और मोहल्लों में इकट्ठा होकर गश्त करने लगे।

जिस प्रकार से चांद बाग में CAA के विरोध में धरने पर बैठी मजहबी भीड़ ने भजनपुरा में पेट्रोल पंप में आग लगाई, वो अगर पंप की टंकियों तक पहुँच जाती तो कम से कम आधे किलोमीटर तक सब कुछ ख़त्म हो जाता।

जनता चौकन्नी हो चुकी थी, पुलिस तैनात और दंगाई एक्सपोज हो चुके थे। इन सबके बावजूद जिस तरह से अंकित शर्मा की निर्ममता से हत्या हुई, वो बताता है कि हत्यारे आतंकी सोच से भरे हुए थे। शायद जाने-अनजाने में कपिल मिश्रा ने मौजपुर में जो हिम्मत दिखाई, उससे एक बड़ी साजिश कामयाब नहीं हो पाई।

कपिल मिश्रा के एक कदम से एक बड़ा नरसंहार होने से बच गया।

NOTE: लेखक अपना नाम प्रकाशित नहीं करवाना चाहते हैं।

‘भाईजान’ की लाश को 24 घंटे घर में रखा, मुआवजे की घोषणा होते ही कराया पोस्टमॉर्टम: ग्राउंड रिपोर्ट

15 साल का नितिन जो चाउमिन लाने गया था… न खा सका, न खिला सका: दिल्ली हिंदू विरोधी दंगे की क्रूरता

मेरे भाई को जिहाद ने मारा है, एक-एक मस्जिदों व मदरसों की तलाशी ली जाए: दलित दिनेश के भाई

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsदिल्ली हिंदू विरोधी दंगा कपिल मिश्रा, दिल्ली हिंदू विरोधी दंगा, नालों से मिले शव, दिल्ली नाला शव, दिल्ली मदरसा गुलेल, मदरसा गुलेल विडियो, शिव विहार, मुस्तफाबाद, अमर विहार, दिल्ली दंगे चश्मदीद, दिल्ली हिंसा चश्मदीद, दिल्ली हिंसा महिला, दिल्ली दंगों में कितने मरे, दिल्ली में कितने हिंदू मरे, मोहम्मद शाहरुख, जाफराबाद शाहरुख, शाहरुख फरार, ताहिर हुसैन आप, ताहिर हुसैन एफआईआर, ताहिर हुसैन अमानतुल्लाह, चांदबाग शिव मंदिर पर हमला, दिल्ली दंगा मंदिरों पर हमला, दिल्ली मंदिरों पर हमले, मंदिरों पर हमले, चांदबाग पुलिया, अरोड़ा फर्नीचर, ताहिर हुसैन के घर का तहखाना, अंकित शर्मा केजरीवाल, अंकित शर्मा ताहिर हुसैन, अंकित शर्मा का परिवार, दिल्ली शाहदरा, शाहदरा दिलबर सिंह, उत्तराखंड दिलवर सिंह, दिल्ली हिंसा में दिलवर सिंह की हत्या, रवीश कुमार मोहम्मद शाहरुख, रवीश कुमार अनुराग मिश्रा, रतनलाल, साइलेंट मार्च, यूथ अगेंस्ट जिहादी हिंसा, दिल्ली हिंसा एनडीटीवी, एनडीटीवी श्रीनिवासन जैन, एनडीटीवी रवीश कुमार, रवीश कुमार दिल्ली हिंसा, दिल्ली हिंसा में कितने मरे, दिल्ली दंगों में मरे, दिल्ली कितने हिंदू मरे, दिल्ली दंगों में आप की भूमिका, आप पार्षद ताहिर हुसैन, आप नेता ताहिर हुसैन, ताहिर हुसैन वीडियो, कपिल मिश्रा ताहिर हुसैन, आईबी कॉन्स्टेबल की हत्या, अंकित शर्मा की हत्या, चांदबाग अंकित शर्मा की हत्या, दिल्ली हिंसा विवेक, विवेक ड्रिल मशीन से छेद, विवेक जीटीबी अस्पताल, विवेक एक्सरे, दिल्ली हिंदू युवक की हत्या, दिल्ली विनोद की हत्या, दिल्ली ब्रहम्पुरी विनोद की हत्या, दिल्ली हिंसा अमित शाह, दिल्ली हिंसा केजरीवाल, दिल्ली पुलिस, दिल्ली पुलिस रतनलाल, हेड कांस्टेबल रतनलाल, रतनलाल का परिवार, छत्तीसिंह पुरा नरसंहार, दिल्ली हिंसा, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली हिंसा, करावल नगर, जाफराबाद, मौजपुर, गोकलपुरी, शाहरुख, कांस्टेबल रतनलाल की मौत, दिल्ली में पथराव, दिल्ली में आगजनी, दिल्ली में फायरिंग, भजनपुरा, दिल्ली सीएए हिंसा

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नरेंद्र मोदी ने गुजरात CM रहते मुस्लिमों को OBC सूची में जोड़ा’: आधा-अधूरा वीडियो शेयर कर झूठ फैला रहे कॉन्ग्रेसी हैंडल्स, सच सहन नहीं...

कॉन्ग्रेस के शासनकाल में ही कलाल मुस्लिमों को OBC का दर्जा दे दिया गया था, लेकिन इसी जाति के हिन्दुओं को इस सूची में स्थान पाने के लिए नरेंद्र मोदी के मुख्यमंत्री बनने तक का इंतज़ार करना पड़ा।

‘खुद को भगवान राम से भी बड़ा समझती है कॉन्ग्रेस, उसके राज में बढ़ी माओवादी हिंसा’: छत्तीसगढ़ के महासमुंद और जांजगीर-चांपा में बोले PM...

PM नरेंद्र मोदी ने आरोप लगाया कि कॉन्ग्रेस खुद को भगवान राम से भी बड़ा मानती है। उन्होंने कहा कि जब तक भाजपा सरकार है, तब तक आपके हक का पैसा सीधे आपके खाते में पहुँचता रहेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe