Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजजिस BJYM नेता की कुल्हाड़ी-तलवार से काट कर मार डाला, उन्होंने कन्हैया लाल के...

जिस BJYM नेता की कुल्हाड़ी-तलवार से काट कर मार डाला, उन्होंने कन्हैया लाल के लिए डाला था पोस्ट: कर्नाटक हत्याकांड का नूपुर शर्मा एंगल

दावा किया जा रहा है कि प्रवीण नेत्तारू की हत्या केवल इसलिए की गई, क्योंकि कथित तौर पर उन्होंने नूपुर शर्मा का समर्थन किया था।

राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के बाद ठीक इसी तरह से दक्षिण कन्नड़ जिले में भारतीय जनता युवा मोर्चा के नेता प्रवीण नेत्तारू की हत्या की गई है। कुल्हाड़ी और तलवार से काटकर हत्या की गई। इस घटना के बाद से कर्नाटक में भारी बवाल मचा हुआ है। इस मामले में दावा किया जा रहा है कि प्रवीण नेत्तारू की हत्या केवल इसलिए की गई, क्योंकि कथित तौर पर उन्होंने नूपुर शर्मा का समर्थन किया था।

रिपोर्ट के मुताबिक, ये घटना मंगलवार (26 जुलाई, 2022) की है। खबर है कि प्रवीण बेल्लारी क्षेत्र के पास ही पोल्ट्री की दुकान चलाते थे। मंगलवार को वो दुकान का काम खत्म करके वापस अपने घर आ रहे थे, रात के करीब 9 बजे थे कि रास्ते में बाइक सवार बदमाशों ने उनपर हमला कर दिया। गंभीर रूप से घायल होने के बाद प्रवीण की मौत हो गई। प्रवीण की हत्या के मामले में हिन्दू संगठनों ने कट्टरपंथी इस्लामी संगठन पीएफआई की भूमिका की तरफ इशारा किया है। वहीं पुलिस ने 15 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है।

उल्लेखनीय है कि प्रवीण की हत्या के विरोध में अब हिंदू संगठन भी एक्टिव हो गए हैं। इसी के तहत बुधवार को दक्षिण कन्नड़ के बेल्लारे, पुत्तूर, सुल्या और कड़ाबा में बंद का आह्वान किया गया है। इस घटना की जाँच के लिए पुलिस ने पाँच स्पेशल टीमों का गठन किया है। वहीं राज्य के सीएम बासवराज बोम्मई ने जल्द ही आरोपितों को पकड़ लेने की बात कही है। उन्होंने कहा कि सभी दोषियों को कानून के तहत सजा दी जाएगी।

राज्य के गृहमंत्री आरागा ज्ञानेंद्र ने बताया की जिस इलाके में ये वारदात हुई है, वो जगह केरल की सीमा से सटी हुई है, ऐसे में केरल के सीनियर अधिकारियों से संपर्क कर आरोपितों को गिरफ्तार करने की कोशिश की जा रही है।

गौरतलब है कि बीते 29 जून 2022 को राजस्थान के उदयपुर में नूपुर शर्मा के पैगंबर मुहम्मद वाले कथित बयान का समर्थन करने पर हिन्दू टेलर कन्हैया लाल की हत्या कर दी गई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -