Thursday, June 13, 2024
Homeदेश-समाजखलील की दुकान पर मोबाइल रिचार्ज कराने जाती थी हिन्दू महिला, आयशा नाम रख...

खलील की दुकान पर मोबाइल रिचार्ज कराने जाती थी हिन्दू महिला, आयशा नाम रख कर पढ़वाया नमाज और कुरान: यौन शोषण किया, महिला डॉक्टर जमीला भी घेरे में

वह खलील की एक दुकान पर अपना मोबाइल फोन रिचार्ज करवाने जाती थी। 2021 में खलील ने उससे दोस्ती की और उसे बढ़िया वेतन के साथ एक अच्छी नौकरी दिलवाने का वादा किया।

कर्नाटक के मंगलुरु से जबरन धर्मांतरण (Religious Conversion) का मामला सामने आया है। यहाँ एक महिला डॉक्टर सहित तीन लोगों के खिलाफ हिंदू महिला का जबरन धर्म-परिवर्तन कराने की कोशिश करने के आरोप में रविवार (27 नवंबर, 2022) को एफआईआर दर्ज की गई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पीड़िता शिवानी (22) की माँ की शिकायत के आधार पर खलील, डॉ जमीला और ऐमन के खिलाफ आईपीसी और कर्नाटक धार्मिक स्वतंत्रता अधिकार संरक्षण अध्यादेश, 2022 की धारा तीन और पाँच के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। पीड़िता की माँ ने तीनों आरोपितों के खिलाफ गंभीर आरोप लगाते हुए पुलिस से सख्त से सख्त कार्रवाई करने की माँग की है। शिवानी की माँ की शिकायत के अनुसार, पीड़िता एक फैंसी स्टोर में काम करती थी।

वह खलील की एक दुकान पर अपना मोबाइल फोन रिचार्ज करवाने जाती थी। 2021 में खलील ने उससे दोस्ती की और उसे बढ़िया वेतन के साथ एक अच्छी नौकरी दिलवाने का वादा किया।

यही नहीं वह शिवानी को अपने एक रिश्तेदार के घर ले गया, जहाँ उसका नाम बदलकर आयशा रख दिया गया। इसके बाद उस पर नमाज अदा करने के लिए दबाव बनाया और कुरान पढ़ने के लिए भी मजबूर किया गया। शिकायत में यह भी कहा गया है कि खलील ने उसका यौन शोषण भी किया था। बाद में वह उसे नई नौकरी दिलाने के बहाने दूसरी जगह ले गया। शिकायतकर्ता के मुताबिक, आरोपित उसकी बेटी को नौकरी के सिलसिले में डॉक्टर जमीला के घर पर लेकर गया, जहाँ उसे बुर्का पहनने के लिए मजबूर किया गया।

बताया जा रहा है कि ऐमन नाम के एक व्यक्ति ने उससे इंस्टाग्राम पर संपर्क किया और उसे अपने साथ संबंध बनाने के लिए मजबूर किया। ​पीड़िता की माँ ने तीनों आरोपितों के खिलाफ उसकी बेटी का जबरन धर्मांतरण करने का आरोप लगाते हुए न्याय की गुहार लगाई है। वहीं पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शिकायत के आधार पर तीन आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर आगे की जाँच की जा रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -