Tuesday, August 9, 2022
Homeदेश-समाजथाने में 'सुसाइड' करने वाले अल्ताफ ने जिस लड़की को भगाया था वह बरामद,...

थाने में ‘सुसाइड’ करने वाले अल्ताफ ने जिस लड़की को भगाया था वह बरामद, पीड़ित पिता ने कहा- रोज मिल रही धमकी

पीड़ित परिवार के अधिवक्ता विजय शर्मा ने जानकारी दी है कि लड़की का परिवार घटना वाले दिन से ही घर में शांति से नहीं रह पा रहा है और डर की वजह से ही परिवार ने एसपी से सुरक्षा के लिए मुलाकात की थी।

कासगंज में पुलिस की हिरासत में अल्ताफ की मौत के मामले में नया मोड़ आया है। उस पर जिस लड़की को भगाने के आरोप लगे थे, उसे पुलिस ने बरामद कर लिया है। कासगंज रेलवे स्टेशन से उक्त युवती को बरामद किया गया। लड़की के परिजनों को भी इसकी सूचना दी गई। साथ ही मजिस्ट्रेट के समक्ष लड़की का कलमबद्ध बयान भी दर्ज कर लिया गया है। लड़की के पिता ने कहा कि अभी तक बेटी से उनकी मुलाकात नहीं हुई है। साथ ही पिता ने एसपी से मिल कर सुरक्षा की गुहार लगाई है।

युवती के पिता का कहना है कि उनके घर पर 5-10 लोग आते हैं और फिर धमकी देकर चले जाते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों से सुरक्षा के लिए उन्होंने पुलिस से गुहार लगाई है। युवती के पिता ने बताया कि धमकी देने वाले कौन लोग हैं, उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने युवती के परिजनों को सुरक्षा का आश्वासन दिया है। पुलिस ने सोमवार (16 नवंबर, 2021) को युवती को बरामद किया, जिसके बाद उसे न्यायालय में पेश कर कर बयान दर्ज किया गया।

लड़की को एक दिन बाद, अर्थात मंगलवार को परिजनों को सौंप दिया जाएगा। पीड़ित परिवार के अधिवक्ता विजय शर्मा ने जानकारी दी है कि लड़की का परिवार घटना वाले दिन से ही घर में शांति से नहीं रह पा रहा है और डर की वजह से ही परिवार ने एसपी से सुरक्षा के लिए मुलाकात की थी। लड़की के घर पर फ़िलहाल पुलिस को तैनात कर दिया गया है। ‘Zee News’ ने पुलिस सूत्रों के हवाले से जानकारी दी है कि युवती ने पूछताछ में बताया है कि अल्ताफ ने नौकरी लगवाने की बात कह कर उसे बस स्टैंड बुलाया था।

इसके बाद उसने अपने दोस्त के साथ लड़की को मथुरा और फिर आगरा भेज दिया। लड़की को मजिस्ट्रेट द्वारा रिलीफ किए जाने के बाद परिवार को सौंप दिया जाएगा। बता दें कि अल्ताफ को 8 नवंबर, 2021 की शाम को पुलिस ने गायब लड़की के बारे में पूछताछ करने के लिए हिरासत में लिया था। अहरौली गाँव निवासी अल्ताफ की पोस्टमॉर्टेम रिपोर्ट में फाँसी लगा कर मरने की बात कही गई। 5 पुलिसकर्मी निलंबित भी हुए। पिता ने पहले यूपी पुलिस पर आरोप लगाए थे, लेकिन बाद में बयान बदल लिया। मामले की जाँच अभी भी चल रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पहली कैबिनेट बैठक में ही देंगे 10 लाख नौकरियाँ’: तेजस्वी यादव को याद दिलाया वादा तो किया टाल-मटोल, बेरोजगारी पर नीतीश कुमार को घेरते...

तेजस्वी यादव ने सत्ता में आने पर 10 लाख नौकरियों का वादा किया था, लेकिन अब इस सम्बन्ध में पूछे गए सवाल पर उन्होंने स्पष्ट जवाब नहीं दिया।

सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने श्रीकांत त्यागी को दिया था विधायक वाला VVIP स्टीकर, कार पर लगा कर बनाता था भय का माहौल:...

यूपी के पूर्व मंत्री स्‍वामी प्रसाद मौर्य का खास रहा श्रीकांत त्‍यागी पुराना हिस्‍ट्रीशीटर है। नोएडा के दो थानों में उस पर 9 मुक़दमे दर्ज हैं। महिला से की थी बदसलूकी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,564FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe