Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाजकेरल: कोरोना पर जागरूकता फैलाने जा रहे स्वास्थ्यकर्मियों की मदद करने पर स्थानीय लोगों...

केरल: कोरोना पर जागरूकता फैलाने जा रहे स्वास्थ्यकर्मियों की मदद करने पर स्थानीय लोगों ने पुलिस को पीटा, 4 जख्मी

जिला कलेक्टर के आदेश पर पुलिस की एक टीम स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की मदद और बचाव के लिए वहाँ पर गई, लेकिन पुलिस की टीम भी हमले की चपेट में आ गई। स्थानीय लोगों ने उन्हें भी पीटना शुरू कर दिया। सभी घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है, वहीं इस घटना के सिलसिले में दो लोगों को हिरासत में लिया गया है।

केरल में स्थानीय लोगों द्वारा पुलिसकर्मी के साथ मारपीट की खबर सामने आई है। केरल के कासरगोड जिले के डेलमपेडी में एक उप-निरीक्षक समेत चार पुलिसकर्मियों पर उस वक्त हमला किया गया जब ये लोग स्वास्थ्य विभाग की एक टीम की कॉलोनी में प्रवेश करने में मदद कर रहे थे। स्थानीय लोगों द्वारा किए गए इस हमले में पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। 

केरल के एक दैनिक समाचारपत्र केरल कौमुदी ने बताया कि स्वास्थ्यकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमण के बचाव को लेकर जागरुकता अभियान के लिए कालीदुकु कॉलोनी में जा रहे थे, तभी स्थानीय लोगों का एक समूह इनके ऊपर टूट पड़ा। जिला कलेक्टर के आदेश पर पुलिस की एक टीम स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की मदद और बचाव के लिए वहाँ पर गई, लेकिन पुलिस की टीम भी हमले की चपेट में आ गई। स्थानीय लोगों ने उन्हें भी पीटना शुरू कर दिया। सभी घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है, वहीं इस घटना के सिलसिले में दो लोगों को हिरासत में लिया गया है।

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस का कहर जारी है। हर रोज कोरोना के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इस महामारी की चपेट में लगभग 775 लोग आ चुके हैं, जबकि 20 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य केरल और महाराष्ट्र है। केरल में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 137 है, जबकि महाराष्ट्र में कोरोना के मरीजों की संख्या 130 है। इस महामारी ने यहाँ पर 3 लोगों की जान ले ली है। सबसे पहले केरल में ही कोरोना का संक्रमित मरीज मिला था।

मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने गुरुवार (मार्च 26, 2020) को कोरोना वायरस पर समीक्षा बैठक के बाद पत्रकारों से कहा था कि कन्नूर से सबसे अधिक नौ मामले सामने आए। इसके बाद कासरगोड और मलप्पुरम जिलों से तीन-तीन, जबकि इडुक्की और वायनाड से एक-एक मामला सामने आया। उन्होंने कहा कि राज्य में 1.20 लाख से अधिक लोगों को निगरानी में रखा गया है। साथ ही मुख्यमंत्री ने कोरोना वायरस के मद्देनजर केन्द्र सरकार की ओर से जारी राहत पैकेज का स्वागत किया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘और गिरफ़्तारी की बात मत करो, वरना सरेंडर करने वाले साथियों को भी छुड़ा लेंगे’: निहंगों की पुलिस को धमकी, दलित लखबीर को बताया...

दलित लखबीर की हत्या पर निहंग बाबा राजा राम सिंह ने कहा कि हमारे साथियों को मजबूरन सज़ा देनी पड़ी, क्योंकि किसी ने कोई कार्रवाई नहीं की।

CPI(M) सरकार ने महादेव मंदिर पर जमाया कब्ज़ा, ताला तोड़ घुसी पुलिस: केरल में हिन्दुओं का प्रदर्शन, कइयों ने की आत्मदाह की कोशिश

श्रद्धालुओं के भारी विरोध के बावजूद केरल की CPI(M) सरकार ने कन्नूर में स्थित मत्तनूर महादेव मंदिर का नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,325FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe