Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाजकेरल में 14 साल के बेटे का माँ ने ही किया यौन उत्पीड़न: पिता...

केरल में 14 साल के बेटे का माँ ने ही किया यौन उत्पीड़न: पिता की शिकायत पर पॉक्सो के तहत गिरफ्तार

महिला पर अपने 14 साल के लड़के का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगा है। पूरे राज्य में इस तरह का ये पहला मामला आया है। बच्चे के पिता ने इस बाबत पुलिस में शिकायत दी थी। उन्होंने कहा था कि उनके बेटे की माँ पिछले कुछ समय से उसका उत्पीड़न कर रही है।

केरल के तिरुवनंतपुरम जिले के कडकवूर (Kadakkavoor) में एक महिला को अपने ही बच्चे का यौन उत्पीड़न करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। महिला के ख़िलाफ़ पॉक्सो एक्ट (POCSO एक्ट) में मामला दर्ज हुआ है। 

न्यूज 18 की खबर के अनुसार,  महिला पर अपने 14 साल के लड़के का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगा है। पूरे राज्य में इस तरह का ये पहला मामला आया है। बच्चे के पिता ने इस बाबत पुलिस में शिकायत दी थी। उन्होंने कहा था कि उनके बेटे की माँ पिछले कुछ समय से उसका उत्पीड़न कर रही है।

कडकवूर थाने के अधिकारी ने सोमवार (जनवरी 4, 2020) को IANS को बताया कि उन्हें एक पिता की शिकायत आई थी, जिसे उन्होंने बाल कल्याण आयोग को फॉर्वर्ड कर दिया। जाँच में पाया गया कि 35 साल की महिला अपने बच्चे को उत्पीड़ित कर रही थी। जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। अदालत के समक्ष पेशी के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेेज दिया गया है। महिला फिलहाल तिरुवनंतपुरम की महिला जेल में है।

गौरतलब है कि अभी हाल में केरल से ही दो आदिवासी लड़कियों के यौन उत्पीड़न का मामला आया था। इस केस में पुलिस ने 2 लोगों को गिरफ्तार किया था। आदिवासी लड़कियाँ इन दोनों युवकों की दोस्त थीं और फोन के जरिए बात करते हुए इनके साथ रिलेशन में आई थीं। ये दोनों युवक इसी दोस्ती का फायदा उठा कर उन्हें नए साल की पूर्व संध्या पर अपने साथ ले गए और उनका यौन उत्पीड़न किया।

इससे पूर्व केरल में ही सुमदाय विशेष के दो अन्य युवकों पर 2 नाबालिग बच्चियों से रेप करने का आरोप लगा था। कथित तौर पर दोनों जुड़वाँ भाई थे और इनके नाम नौशाद व नवास थे। दोनों ने 10 साल और 5 साल की बच्चियों का कई बार रेप किया था। बच्चियों के माता-पिता ने इस मामले में दोनों भाइयों नौशाद और नवास के ख़िलाफ़ शिकायत करवाई थी और आरोप लगाया था कि दोनों बच्चियों का कई बार रेप किया गया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,107FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe