Friday, April 19, 2024
Homeदेश-समाजतापसी के बॉयफ्रेंड को PM मोदी के मंत्री ने समझाया देश का कानून, टैक्स...

तापसी के बॉयफ्रेंड को PM मोदी के मंत्री ने समझाया देश का कानून, टैक्स मामले में ट्वीट कर बता रहा था परेशानी

“खुद को थोड़ी परेशानी में पा रहा हूँ। इस समय जब मैं कुछ बेहतरीन भारतीय एथलीटों को प्रशिक्षण दे रहा हूँ। उसी समय, IT विभाग तापसी के घरों में छापा मार कर, उसके परिवार, विशेष रूप से उसके माता-पिता पर अनावश्यक तनाव डाल रहा है। @KirenRijiju प्लीज कुछ करें।"

इनकम टैक्स चोरी के आरोप में आयकर विभाग की ओर से अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू सहित कई सितारों के मुंबई और पुणे स्थित आवास व कार्यालय में चल रही छापेमारी अभी खत्म नहीं हुई है। कहा जा रहा है कि ये छापेमारी 2-3 दिन और चलेगी। इस बीच जाँच में जुटे अधिकारियों को इन हस्तियों के ख़िलाफ़ कई सबूत हाथ लगे हैं। लेकिन इस बीच लिबरल गिरोह सहित पन्नू का कथित बॉयफ्रेंड बैडमिंटन कोच मैथियस बो भी उनके बचाव में कूद पड़ा है।

कुल मिला कर ₹650 करोड़ की टैक्स चोरी का मामला उजागर हुआ है। अकेले तापसी व उनकी कंपनी पर पूरे ₹25 करोड़ की कर चोरी का संदेह है। करीब 5 करोड़ रुपयों को लेकर तो वह अधिकारियों के सवालों के जवाब भी नहीं दे पाईं।

कल शाम तक यह आँकड़ा 300-350 करोड़ तक की टैक्स चोरी का था। क्योंकि तब तक मामला अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू तक सीमित था। लेकिन जाँच का दायरा जैसे ही फैंटम फिल्म्स और प्रोडक्शन कंपनियों के शेयर होल्डरों तक पहुँची, यह आँकड़ा लगभग ₹650 करोड़ की टैक्स गड़बड़ी तक पहुँच गया।

ऐसे में लिबरल्स सहित, तमाम तथाकथित शुभचिंतकों ने अनुराग कश्यप, तापसी पन्नू और इस रेड की गिरफ्त में आए अन्य लोगों को अपना समर्थन दिया है। इस संभावना को दरकिनार करते हुए कि वे कर चोरी के दोषी हो सकते हैं। इसी कड़ी में पन्नू का बॉयफ्रेंड मैथियस बो (Mathias Boe), जो भारतीय बैडमिंटन युगल टीम का कोच है, वह भी बचाव में लॉबिंग पर उतर आया है। बो, जो जाहिर तौर पर अभिनेत्री तापसी पन्नू के साथ रिश्ते में हैं, ने ट्विटर पर केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू से अपनी प्रेमिका के खिलाफ चल रहे आईटी छापों के बारे में ‘कुछ’ करने का आग्रह किया है।

बो ने किरेन रिजिजू को टैग करते हुए ट्वीट किया, “खुद को थोड़ी परेशानी में पा रहा हूँ। इस समय जब मैं कुछ बेहतरीन भारतीय एथलीटों को प्रशिक्षण दे रहा हूँ। उसी समय, IT विभाग तापसी के घरों में छापा मार कर, उसके परिवार, विशेष रूप से उसके माता-पिता पर अनावश्यक तनाव डाल रहा है। @KirenRijiju प्लीज कुछ करें।”

बो ने इस तथ्य को हाईलाइट करते हुए कि वह इस समय भारतीय एथलीटों को कोचिंग दे रहा है और वर्तमान रेड की घटनाओं से बेहद परेशान है। अब अगर तापसी के घर में छापेमारी जारी रहती है, तो वह पूरी लगन के साथ अपने पेशेवर कर्तव्य का निर्वहन नहीं कर पाएँगे।

ठीक है, ऐसी स्थिति में यह उम्मीद की जाती है कि कोई भी प्रतिबद्ध प्रेमी अपनी प्रेमिका की रक्षा के लिए आगे आएगा ही, जो विशेष रूप से यहाँ पर भी देखने को मिल रहा है। लेकिन समस्या यहाँ है कि बो अपने कोच के पेशे का इस्तेमाल भारतीय एथलीटों के कोच के रूप में करते हुए युवा मामलों और खेल मंत्री किरन रिजिजू से करते हुए यह दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है कि तापसी पन्नू के घर इनकम टैक्स विभाग को वो कार्रवाई करने से रोंके।

वास्तव में, बो के ट्वीट को ब्लैकमेलिंग भी माना जा सकता है, सीधे खेल मंत्री को टैग करके वह उनसे आईटी विभाग के कार्रवाई को प्रभावित करने के लिए कह रहे हैं। ताकि उनकी प्रेमिका के खिलाफ टैक्स चोरी के मामले में छापे को रोक दिया जाए और इसके लिए यह दावा कर रहे हैं कि वह भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों को कोचिंग देते समय बेहद परेशान हैं।

ऐसे में कल मंत्री किरेन रिजिजू का जवाब गौर करने लायक है। जिसमें उन्होंने बो को अपने कर्तव्यों की याद दिलाते हुए कानून के पालन में रूकावट न बनने की सलाह दे डाली। रिजिजू ने बो को जवाब देते हुए ट्वीट किया, “भूमि का कानून सर्वोच्च है और हमें उसका पालन करना चाहिए। यह विषय आपके और मेरे डोमेन से परे है। हमें भारतीय खेलों के सर्वोत्तम हित में अपने पेशेवर कर्तव्यों पर कायम रहना चाहिए।”

ऐसे में यह भी कहा जा रहा है कि युवा एथलीटों को सही कौशल प्रदान करने के लिए एक कोच से मानसिक रूप से मजबूत होने की उम्मीद की जाती है। मैथियस बो, जो अपनी कथित प्रेमिका के जीवन में होने वाली घटनाओं से इतना परेशान लग रहा है, वह भारतीय एथलीटों को कोच करने के लिए सर्वथा अयोग्य दिखाई दे रहा है। इसके बजाय, बो को खुद अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन को अलग रखने के लिए कोचिंग की आवश्यकता है।

भारत सरकार को उसे सलाह देना चाहिए कि वह चुपचाप अपना काम करे और प्रशासनिक मामलों में दखल देना बंद करे। यदि बो को अभी भी लगता है कि आईटी विभाग उसकी कथित प्रेमिका के घर पर छापा मार रहा है, जो बदले में उसकी पेशेवर प्रतिबद्धता को प्रभावित कर रहा है, तो भारत सरकार को उसे अपने कर्तव्य से मुक्त करने और बेहतर कोच के लिए स्काउट करने में कोई भी समय बर्बाद नहीं करना चाहिए जो मानसिक रूप से मजबूत हो और अपने निजी जीवन के उलटफेर से अप्रभावित भी।

गौरतलब है कि चार शहरों- मुंबई, पुणे, दिल्ली और हैदराबाद के 28 ठिकानों पर कार्रवाई हुई है। सीबीडीटी ने बताया है कि आयकर विभाग सर्च और सर्वे ऑपरेशंस अंजाम दे रहा है। इसकी शुरुआत मुंबई में 2 फिल्म निर्माण कंपनियों, एक अभिनेत्री और दो टैलेंट मैनेजमेंट कंपनियों से 3 मार्च को हुई थी।

सीबीडीटी का कहना है कि 5 करोड़ रुपए कैश पेमेंट लेने की रसीदें तापसी पन्नू के घर से बरामद हुई हैं। कथित तौर पर टैक्स बचाने के लिए यह पेमेंट कैश के तौर पर ली गई। यही नहीं फिल्म प्रोडक्शन हाउस फैंटम फिल्म्स ने बॉक्स ऑफिस पर जितने कलेक्शन की बात कही थी, उससे ज्यादा रकम की जानकारी मिली है।

कंपनी के अधिकारी 300 करोड़ रुपए का हिसाब नहीं दे पाए हैं। यह भी बताया है कि फैंटम फिल्म्स की हिस्सेदारी बेचने के लिए उसका अंडरवैल्यूएशन किया गया। फैंटम फिल्म्स को 2018 में डिजॉल्व कर दिया गया था। शेयरों की कीमत कम दिखाई और लेनदेन में गड़बड़ी की। विभाग के अनुसार कुल 350 करोड़ की टैक्स अनियमितता से यह मामला जुड़ा हुआ है। आगे जैसे-जैसे जाँच जारी है और भी कई चौकाने वाले खुलासे होने की उम्मीद है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण में 21 राज्य-केंद्रशासित प्रदेशों के 102 सीटों पर मतदान: 8 केंद्रीय मंत्री, 2 Ex CM और एक पूर्व...

लोकसभा चुनाव 2024 में शुक्रवार (19 अप्रैल 2024) को पहले चरण के लिए 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की 102 संसदीय सीटों पर मतदान होगा।

‘केरल में मॉक ड्रिल के दौरान EVM में सारे वोट BJP को जा रहे थे’: सुप्रीम कोर्ट में प्रशांत भूषण का दावा, चुनाव आयोग...

चुनाव आयोग के आधिकारी ने कोर्ट को बताया कि कासरगोड में ईवीएम में अनियमितता की खबरें गलत और आधारहीन हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe