Thursday, September 29, 2022
Homeदेश-समाज8, 10 और 12 साल की 3 बेटियों का पिता था दलित लखबीर सिंह,...

8, 10 और 12 साल की 3 बेटियों का पिता था दलित लखबीर सिंह, कुंडली बॉर्डर पर काटकर टाँग दिया: कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड भी नहीं

पुलिस के मुताबिक लखबीर का कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है, ना ही किसी राजनीतिक दल से वह जुड़ा हुआ है। उसके खिलाफ गाँव में किसी ने लड़ाई-झगड़े तक करने की शिकायत नहीं की। दलित लखबीर सिंह मजदूरी कर गुजारा करता था।

कुंडली बॉर्डर पर शुक्रवार (15 अक्टूबर 2021) को उस समय सनसनी फैल गई जब किसान आंदोलनकारियों के मुख्य मंच के पास एक युवक का लटका हुआ शव मिला। बताया जा रहा है कि पहले युवक की बेरहमी से हत्या की गई फिर उसका हाथ काटकर बैरिकेड से लटका दिया गया। पाँचों ऊँगलियों के साथ पूरी हथेली काटकर अलग कर दी गई। गर्दन पर भी तेजधार हथियार से हमले के निशान हैं।

मृतक युवक की पहचान 35 साल के लखबीर सिंह को तौर पर हुई है। वह तीन बेटियों का पिता था। बताया जा रहा है कि शख्स पंजाब के तरनतारन के गाँव चीमा खुर्द का निवासी था। लखबीर सिंह की पत्नी जसप्रीत उसके नशे की आदत के चलते पाँच साल पहले मायके चली गई थी। जसप्रीत के साथ ही तीनों बेटियाँ भी रहती हैं। तीनों बेटियों में कुलदीप 8 साल, सोनिया 10 साल और तानिया 12 साल की है।

मृतक की पहचान हरनाम सिंह के पुत्र लखबीर सिंह के तौर पर हुई है। जब वह 6 महीने का था, तभी हरनाम सिंह ने लखबीर को गोद लिया था। हरनाम सिंह रिश्ते में लखबीर के फूफा हैं। लखबीर के असल पिता का नाम दर्शन सिंह था। लखबीर सिंह के माता-पिता पहले ही मर चुके हैं। उसकी एक बहन है राज कौर। पुलिस के मुताबिक लखबीर का कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है, ना ही किसी राजनीतिक दल से वह जुड़ा हुआ है। उसके खिलाफ गाँव में किसी ने लड़ाई-झगड़े तक करने की शिकायत नहीं की। दलित लखबीर सिंह मजदूरी कर गुजारा करता था।

मृतक की बहन राज कौर का कहना है कि चीमा में आने के बाद वह निहंगों के साथ उठता-बैठता था। वह 13 अक्टूबर को मंडी जाने की बात कह कर घर से निकला था। उसे शक है कि कोई उसे पैसों का लालच देकर या बहकावे से दिल्ली साथ ले गया होगा।

सिंघु बॉर्डर पर शख्स की हत्या करने का आरोप निहंग सिखों पर लगा है। संयुक्त किसान मोर्चा ने भी उन पर ही आरोप लगाए हैं। निहंग ग्रुप ने इस हत्या की जिम्मेदारी ली है। निहंगों का कहना है कि शख्स ने सरबलोह ग्रंथ के संबंध में बेअदबी करने का प्रयास किया था। पुलिस ने इस संबंध में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

डीएसपी हंसराज ने बताया कि सुबह पाँच बजे थाना कुंडली में सूचना मिली कि जो किसान आंदोलन चल रहा है उसकी स्टेज के पास एक व्यक्ति का शव लटकाया हुआ है। थाने से एएसआई संदीप टीम के साथ मौके पर पहुँचे। वहाँ देखा कि शख्स के शरीर पर सिर्फ अंडरवियर था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कैसा है वह ‘साहेब कोना’ जहाँ पहली बार हिंदू बने ईसाई: 1906 में जहाँ से भागे थे पादरी, 2022 में हमें भागना पड़ा

छत्तीसगढ़ के खड़कोना में 1906 में पहली बार हिंदुओं का धर्मांतरण हुआ। उसके बाद जो सिलसिला शुरू हुआ, उसने जशपुर को ईसाई धर्मांतरण के बड़े केंद्र में बदल दिया।

‘गौमूत्र पियो, गोबर खाओ हरा@*$’: बर्मिंघम में ‘अल्लाह-हू-अकबर’ बोल हिंदू मंदिर पर टूटी कट्टरपंथियों की भीड़, PM मोदी को दी माँ की गाली; Videos...

ब्रिटेन के बर्मिंघम में हिंदू मंदिर पर इस्लामी भीड़ ने हमला किया। वहाँ हिंदुओं को तो गंदी गालियाँ दी ही गईं। साथ में पीएम मोदी की माँ को भी गाली बकते कट्टरपंथी सुनाई पड़े।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,129FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe