Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजचिन्मयानंद से ₹5 करोड़ की रंगदारी मॉंगने में छात्रा हो सकती है गिरफ्तार, कॉल...

चिन्मयानंद से ₹5 करोड़ की रंगदारी मॉंगने में छात्रा हो सकती है गिरफ्तार, कॉल डिटेल से बढ़ी मुश्किलें

जनवरी 2019 से अगस्त महीने तक चिन्मयानंद और पीड़ित छात्रा के बीच 200 बार फोन पर बातचीत हुई थी। वहीं, पीड़ित छात्रा की उसके साथी संजय से इसी अवधि में 4200 बार कॉल पर बातचीत हुई। संजय पहले ही गिरफ्तार हो चुका है।

यौन शोषण के आरोप में जेल की सलाखों के पीछे भेजे गए चिन्मयानंद से रंगदारी मॉंगने के आरोप में पीड़ित छात्रा की गिरफ्तारी हो सकती है। पॉंच करोड़ रुपए की रंगदारी मॉंगने के इस मामले के तीन आरोपित पहले से ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं। असल में कॉल डिटेल सामने आने के बाद से इस मामले में छात्रा की भी मुश्किलें बढ़ गई है।

मामले की जॉंच कर रही एसआईटी के अनुसार जनवरी 2019 से अगस्त महीने तक चिन्मयानंद और पीड़ित छात्रा के बीच 200 बार फोन पर बातचीत हुई थी। वहीं, पीड़ित छात्रा की उसके साथी संजय से इसी अवधि में 4200 बार कॉल पर बातचीत हुई। हालॉंकि छात्रा और उसके परिजन इन आरोपों को गलत बताते हैं और उनका दावा है कि उन्हें बेवजह फॅंसाने की कोशिश हो रही है।

मीडिया रिपोर्टों में पीड़ित छात्रा के हवाले से कहा गया है कि संजय, सचिन और दुर्गेश ने किस से और कितने पैसे मॉंगे इसकी मुझे जानकारी नहीं है। परेशान करने के लिए इस मामले में मेरा नाम शामिल किया गया है। दबाव बनाने की कोशिश हो रही ताकि चिन्मयानंद के खिलाफ हम मजबूत पैरवी न कर सकें। इस संबंध में शनिवार को छात्रा के पिता ने वकीलों से घंटों मशविरा किया। उनका कहना है कि उनकी बेटी का ही उत्पीड़न हुआ और अब उसे ही आरोपित बनाने की साजिश रची जा रही है।

रंगदारी मॉंगने के मामले में गिरफ्तार किए जा चुके संजय, दुर्गेश और सचिन सेंगर को भी शाहजहॉंपुर की उसी जेल में रखा गया है, जहॉं चिन्मयानंद बंद है। हालॉंकि अंदर विवाद की कोई स्थिति नहीं पैदा हो इसलिए इन्हें चिन्मयानंद की बैरक से काफी दूर रखा गया है। संजय इससे पहले भी जानलेवा हमले के आरोप में जेल जा चुका है।

गौरतलब है कि 25 अगस्त को चिन्मयानंद के वकील ओम सिंह ने इस संबंध में मामला दर्ज कराया था। इसके मुताबिक 22 अगस्त को चिन्मयानंद के मोबाइल पर किसी अनजान नंबर से वाट्सएप मैसेज आया। जिसमें लिखा था कि पॉंच करोड़ रुपए की रंगदारी नहीं देने पर बदनाम कर देंगे। इसके बाद दस सितंबर को एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें चार युवक व लड़की बात करते दिखाई दे रहे। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक जेल में चिन्मयानंद को बमुश्किल नींद आ रही है। बताया जा रहा है कि शनिवार को विधायक मानवेंद्र और रोशन लाल ने उससे जेल में मुलाकात की। हालॉंकि दोनों विधायकों ने इससे इनकार किया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान हारे भी न और टीम इंडिया गँवा दे 2 अंक: खुद को ‘देशभक्त’ साबित करने में लगे नेता, भूले यह विश्व कप है-द्विपक्षीय...

सृजिकल स्ट्राइक का सबूत माँगने वाले और मंच से 'पाकिस्तान ज़िंदाबाद' का नारा लगवाने वाले भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच रद्द कराने की माँग कर 'देशभक्त' बन जाएँगे?

धर्मांतरण कराने आए ईसाई समूह को ग्रामीणों ने बंधक बनाया, छत्तीसगढ़ की गवर्नर का CM को पत्र- जबरन धर्म परिवर्तन पर हो एक्शन

छत्तीसगढ़ के दुर्ग में ग्रामीणों ने ईसाई समुदाय के 45 से ज्यादा लोगों को बंधक बना लिया। यह समूह देर रात धर्मांतरण कराने के इरादे से पहुँचा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,980FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe