Wednesday, June 26, 2024
Homeदेश-समाजमदरसा में ले जा कर हिन्दू युवती का इस्लामी धर्मांतरण, कर लिया निकाह भी:...

मदरसा में ले जा कर हिन्दू युवती का इस्लामी धर्मांतरण, कर लिया निकाह भी: पुलिस ने गायब लड़की को बरामद किया, परिजनों को सौंपा

इसके बाद युवती ने स्कूटी अपने भाई को दे दी। साथ ही बताया कि वो अपने दादा के घर जा रही है। थोड़ी देर में लौटने की बात कर कर वो निकली थी।

उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी स्थित सराय अकिल में ‘लव जिहाद’ का मामला सामने आया है। एक लापता हिन्दू युवती (अब बरामद) के बारे में पता चला है कि एक मुस्लिम युवक ने उसका इस्लामी धर्मांतरण करा दिया। इसके बाद उसने उसके साथ निकाह भी कर डाला। युवती के पिता ने ये आरोप लगाते हुए पुलिस की कार्रवाई पर सवाल खड़े किए। साथ ही ‘समाधान दिवस’ पर डीएम से भी शिकायत की। युवती असल में सोमवार (27 जून, 2022) को अपने घर से बाहर भाई के साथ निकली थी।

इसके बाद युवती ने स्कूटी अपने भाई को दे दी। साथ ही बताया कि वो अपने दादा के घर जा रही है। थोड़ी देर में लौटने की बात कर कर वो निकली थी। देर शाम तक जब वो नहीं लौटी तो घर वालो ने खोजबीन शुरू की। कोई सुराग न मिलने पर परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। इसी बीच उन्हें एक मुस्लिम युवक द्वारा लड़की को भगा ले जाने की बात पता चली। परिजनों ने इस सूचना की जानकारी पुलिस को भी दी। 29 जून को सैकड़ों लोगों के साथ उन्होंने कोतवाली का घेराव किया।

उनकी माँग थी कि नई सूचना मिलने के बाद विवेचना बदली जाए और युवती को बरामद किया जाए। पुलिस ने युवती के अपहरण का मामला दर्ज किया और वरिष्ठ अधिकारियों ने जाँच अधिकारी को भी बदल दिया। तत्पश्चात पुलिस ने युवती को बरामद करने में सफलता पाई। युवती को उसके परिजनों को सौंप दिया गया है। परिजनों के आरोप है कि उसे प्रयागराज के करेली स्थित एक मदरसे में ले जाकर उसका इस्लामी धर्मांतरण कराया गया और फिर वहीं निकाह करा दिया गया था।

पीड़िता के पिता ने कहा कि धर्म परिवर्तन से पहले प्रशासन को प्रार्थना पत्र देना होता है, लेकिन यहाँ ऐसा नहीं किया गया। 30 जून को युवती को बरामद किया गया था। इसके बाद अदालत में उसका बयान भी दर्ज कराया गया। ‘समाधान दिवस’ के मौके पर पिता ने डीएम को शिकायती पत्र दिया, जिसके बाद मामला प्रकाश में आया। उत्तर प्रदेश में ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून भी है। पुलिस अब आगे की कार्रवाई कर रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बड़ी संख्या में OBC ने दलितों से किया भेदभाव’: जिस वकील के दिमाग की उपज है राहुल गाँधी वाला ‘छोटा संविधान’, वो SC-ST आरक्षण...

अधिवक्ता गोपाल शंकरनारायणन SC-ST आरक्षण में क्रीमीलेयर लाने के पक्ष में हैं, क्योंकि उनका मानना है कि इस वर्ग का छोटा का अभिजात्य समूह जो वास्तव में पिछड़े व वंचित हैं उन तक लाभ नहीं पहुँचने दे रहा है।

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -