Monday, June 24, 2024
Homeदेश-समाजमहिला कर्मी का यौन शोषण, नौकरी से निकालने की धमकी भी: यूपी पुलिस कर...

महिला कर्मी का यौन शोषण, नौकरी से निकालने की धमकी भी: यूपी पुलिस कर रही अधिकारी इच्छाराम यादव का ‘माकूल इलाज’

रिपोर्ट के मुताबिक, महिला ने आरोप लगाया है कि आरोपित इच्छाराम यादव उसे नौकरी से निकलवाने की धमकी देकर लंबे समय से उसका शारीरिक शोषण कर रहा है। पीड़िता ने 29 अक्टूबर को आरोपित के खिलाफ लखनऊ के हुसैनगंज थाने में केस दर्ज करवाया था।

उत्तर प्रदेश के लखनऊ से अल्पसंख्यक विभाग में तैनात एक अंडर सेक्रेटरी द्वारा एड हॉक महिला कर्मचारी का यौन शोषण करने का मामला सामने आया है। आरोपित इच्छाराम यादव महिला को नौकरी से निकलवाने की धमकी देकर महिला के साथ जबरदस्ती कर रहा था। उसकी इस घिनौनी हरकत का वीडियो वायरल होने के बाद अब पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि आरोपित व्यक्ति 30 साल की शादीशुदा पीड़िता को जबरन चूमने की कोशिश करता है। इसके अलावा वह उसके स्तन को दबाने की कोशिश करता है। वहीं महिला खुद को उससे बचाने की भरपूर कोशिश कर रही है। एक अन्य वीडियो में आरोपित महिला का हाथ पकड़कर अश्लील हरकतें भी कर रहा होता है।

रिपोर्ट के मुताबिक, महिला ने आरोप लगाया है कि आरोपित इच्छाराम यादव उसे नौकरी से निकलवाने की धमकी देकर लंबे समय से उसका शारीरिक शोषण कर रहा है। पीड़िता ने 29 अक्टूबर को आरोपित के खिलाफ लखनऊ के हुसैनगंज थाने में केस दर्ज करवाया था। हालाँकि, जब आरोपित के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई तो पीड़िता ने वीडियो को वायरल कर दिया। फिलहाल आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

आरोपित के खिलाफ आईपीसी की धारा 354, 506 और 294 के तहत मामला दर्ज किया गया है। बहरहाल इस मामले में हुसैनगंज थाने के इस्पेक्टर अजय कुमार सिंह के मुताबिक, पीड़िता की शिकायत पर अल्पसंख्यक विभाग में तैनात अंडर सेक्रेटरी इच्छाराम यादव के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा कि आरोपित का ‘माकूल इलाज’ किया जा रहा है ।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि पीड़िता को मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया गया था, लेकिन वो पहुँची ही नहीं। इसके अलावा पीड़िता ने एफआईआर में अपना एड्रेस नहीं लिखा है, जिससे अब उसके ऑफिस में बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस भेजा गया है। फिलहाल आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तू क्यों नहीं करता पत्रकारिता?’: नाना पाटेकर ने की ऐसी खिंचाई कि आह-ओह करने लगे राजदीप सरदेसाई, अभिनेता ने पूछा – तुझे सिर्फ बुरा...

राजदीप सरदेसाई ने कहा कि 'The Lallantop' ने वाकई में पत्रकारिता के नियम को निभाया है, जिस पर नाना पाटेकर पूछ बैठे कि तू क्यों नहीं इसको फॉलो करता है?

13 लोग ऐसे भी जो घर में सोने आए, लेकिन फिर कभी जगे नहीं: तमिलनाडु में जहरीली शराब से अब तक 56 मौतें, चुप्पी...

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे को तमिलनाडु में जहरीली शराब से हुई मौतों के मामले में एक पत्र लिखा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -