Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजमिशनरी स्कूल में 'भारत माता की जय' बोलने पर बच्चे को किया प्रताड़ित, विरोध...

मिशनरी स्कूल में ‘भारत माता की जय’ बोलने पर बच्चे को किया प्रताड़ित, विरोध के बाद 2 टीचर पर FIR: सरकारी जमीन पर भी निकला कब्जा

जिन शिक्षकों पर एफआईआर हुई है, उनके नाम जस्टिन और जस्मिना खातून हैं। आरोप है कि 'भारत माता की जय' बोलने पर उन्होंने बच्चे को कई घंटों तक जमीन पर बिठाकर रखा। उसे धमकाया।

मध्य प्रदेश (Madhy Pradesh) के गुना में एक मिशनरी स्कूल में ‘भारत माता की जय’ बोलने पर एक छात्र को प्रताड़ित किए जाने का मामला सामने आया है। इस घटना को लेकर अभिभावकों के प्रदर्शन के बाद 2 शिक्षकों पर एफआईआर दर्ज की गई है। पीड़ित सातवीं कक्षा का छात्र है। घटना बुधवार (2 नवंबर 2022) की है।

मामला सामने आने के बाद गुरुवार को अभिभावक, सामाजिक और हिंदूवादी संगठनों से जुड़े लोग क्राइस्ट सीनियर सेकेंडरी स्कूल पहुँचे। उन्होंने इस घटना को लेकर अपना विरोध जताया। उन्होंने स्कूल के गेट के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ भी किया। इसके बाद आरोपित शिक्षकों पर एफआईआर हुई। दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार प्रशासनिक जाँच में एक बीघा सरकारी जमीन पर भी स्कूल का कब्जा निकला है।

जिन शिक्षकों पर एफआईआर हुई है, उनके नाम जस्टिन और जास्मिना खातून हैं। आरोप है कि ‘भारत माता की जय’ बोलने पर उन्होंने बच्चे को कई घंटों तक जमीन पर बिठाकर रखा। उसे धमकाया। कहा कि यह जयकारा स्कूल में नहीं अपने घर में करो।

रिपोर्ट्स के मुताबिक स्कूल असेंबली में राष्ट्रगान के बाद ‘भारत माता की जय’ बोलने पर टीचर जस्टिन और जस्मिना खातून ने बच्चे को दंडित किया। पीड़ित छात्र ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, “मैंने राष्ट्रगान के बाद ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाया। इस पर एक शिक्षक ने मेरी कॉलर पकड़ ली और मुझे लाइन से बाहर खींच लिया और कहा कि मैं प्रिंसिपल के पास जाऊँ। इसके बाद मेरी क्लास टीचर ने मुझे कहा कि ये जयकारे स्कूल में नहीं, घर पर लगाना। उन्होंने मुझे चार-पाँच पीरियड तक जमीन पर बैठाए रखा।”

पीड़ित बच्चे के पिता का कहना है, “मेरा बेटा क्राइस्ट स्कूल में 7वीं कक्षा में पढ़ता है। बुधवार को स्कूल में प्रार्थना के बाद उसने ‘भारत माता की जय’ कहा था। इस बात को लेकर टीचर भड़क गए। उन्होंने मेरे बच्चे को 4 पीरियड तक जमीन पर बैठने की सजा दी। उसे डराया-धमकाया। घर पहुँचे बच्चे के चेहरे पर डर साफ झलक रहा था। पूछने पर उसने मुझे सारी बात बताई।”

इस मामले पर स्कूल के प्रिंसिपल फादर थॉमस का कहना है, “कैप्टन और वाइस कैप्टन का चयन करने के लिए छात्र राष्ट्रगान के बाद सभा करने जा रहे थे, तभी एक छात्र ने ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाया। उसने ये नारा मजाक के रूप में लगाया था न कि देशभक्ति के रूप में। मामले की जाँच के लिए हम अनुशासनात्मक समिति की बैठक करेंगे।”

वहीं, गुना एडीएम वीरेंद्र सिंह बघेल का कहना है कि कथित तौर पर ‘भारत माता की जय’ नारा लगाने पर एक छात्र को दंडित किए जाने के बाद कुछ माता-पिता और कुछ संगठन स्कूल के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। डीईओ ने बयान दर्ज कर लिया है।

प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस घटना की जानकारी मिलने के बाद अधिकारियों से बात की है। उन्होंने कहा, “शिक्षकों जैस्मीन खातून और जस्टिन के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी के बारे में जानकारी मिली है। जाँच जारी है, पुलिस कार्रवाई करेगी। मुझे बताया गया है कि उन्होंने (स्कूल) माफी माँग ली है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

रेड सिग्नल पार करने वाली ट्रेनों को भी रोक देता है कवच, फिर क्यों कंचनजंगा एक्सप्रेस से भिड़ गई मालगाड़ी: जानिए सब कुछ

न्यू जलपाई गुड़ी में हुए रेल हादसे के बाद कवच पर चर्चा चालू हो गई है। जिस रूट पर हादसा हुआ है, वहाँ अभी कवच सिस्टम नहीं लगा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -