Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजकॉन्ग्रेस राज में प्रेम की सजा: आदिवासी युवती को अर्धनग्न कर बेरहमी से पीटा

कॉन्ग्रेस राज में प्रेम की सजा: आदिवासी युवती को अर्धनग्न कर बेरहमी से पीटा

पीड़ित युवती भिलाला समुदाय से है और भेल समुदाय के एक लड़के से प्यार करती थी। समुदाय के सदस्यों को ये अंतर-जातीय प्रेम संबंध नागवार गुजरा और उन्होंने इसकी सजा देने के लिए उसकी पिटाई कर दी।

मध्य प्रदेश में जब से कमलनाथ के नेतृत्व में कॉन्ग्रेस की सरकार बनी है कानून-व्यवस्था की स्थिति दिन-प्रतिदिन बिगड़ती ही जा रही है। ताजा मामला राज्य के अलीराजपुर जिले का है। दूसरी जाति के लड़के से प्रेम करने की वजह से एक 19 वर्षीय आदिवासी युवती को अर्धनग्न करके बेरहमी से पीटा गया।

घटना का वीडियो भी वायरल हुआ है। इसमें युवती को छड़ी से पीटते हुए पुरुषों की भीड़ पीछा करते दिखाई पड़ती है। एक आदमी उसे छड़ी से पीट रहा है। पीड़िता उससे गुहार लगा रही है, मगर न तो उन्हें दया आ रही है और न ही कानून का कोई भय दिख रहा है। वो खुलेआम महिला की पिटाई कर रहे हैं।

पीड़िता की पहचान गुप्त रखने और सुप्रीम कोर्ट के गाइलाइन को ध्यान में रखते हुए हम इस वीडियो को पोस्ट नहीं कर रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक, यह घटना शनिवार (अगस्त 31, 2019) की है। जोबट पुलिस के उप प्रभागीय अधिकारी आरसी भाकर का कहना है कि अभी तक इस मामले में किसी ने शिकायत दर्ज नहीं कराई है, लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद मामले की जाँच शुरू कर दी गई है। उन्होंने कहा कि पीड़िता और उसके पिता गाँव में नहीं थे और इसलिए उनके बयान दर्ज नहीं किए जा सके हैं।

पुलिस के अनुसार, पीड़ित युवती भिलाला समुदाय से है और भेल समुदाय के एक लड़के से प्यार करती थी। समुदाय के सदस्यों को ये अंतर-जातीय प्रेम संबंध नागवार गुजरा और उन्होंने इसकी सजा देने के लिए उसकी पिटाई कर दी।

गौरतलब है कि, पिछले दिनों राज्य में कॉन्ग्रेसी नेताओं की गुंडागर्दी देखने को मिली थी। दो कॉन्ग्रेसी नेता पिस्टल के साथ आधी रात में जबरन एक 22 वर्षीय युवती के घर में घुस गए और उसके पिता तथा भाई को धमकी दी। साथ ही युवती के साथ अश्लील हरकत भी की थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

हिंदू मंदिरों की संपत्तियों का दूसरे धर्म के कार्यों में नहीं होगा उपयोग, कर्नाटक में HRCE ने लगाई रोक

कर्नाटक के हिन्दू रिलीजियस एण्ड चैरिटेबल एंडोवमेंट्स (HRCE) विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश में यह कहा गया है कि हिन्दू मंदिर से प्राप्त किए गए फंड और संपत्तियों का उपयोग किसी भी तरह के गैर -हिन्दू कार्य अथवा गैर-हिन्दू संस्था के लिए नहीं किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe