Thursday, October 28, 2021
Homeदेश-समाजइकलौते अब्दुल लतीफ से नागपुर बना हॉटस्पॉट, संक्रमण छिपा 55 को दे गए कोरोना:...

इकलौते अब्दुल लतीफ से नागपुर बना हॉटस्पॉट, संक्रमण छिपा 55 को दे गए कोरोना: IndiaTV का दावा

"नागपुर के अब्दुल लतीफ ने कोरोना छिपाया। उनके मरने के बाद पता चला कि वो अपने बेटों, बहू, भाई, भाभी, बेटियों, दामाद, पोतों समेत पूरे कुनबे को इन्फ़ेक्शन दे गए हैं। जो दोस्त मिले अनजाने में वो भी शिकार हो गए। कुल 55 पॉजिटिव आ चुके हैं और 144 की रिपोर्ट अभी आनी है। नागपुर वाले हैरान हैं।"

महाराष्ट्र के नागपुर में कोरोना से एक की मौत हो चुकी है। 100 लोग संक्रमित हैं। कथित तौर पर अब्दुल लतीफ नामक एक शख्स की वजह से यह शहर संक्रमण का हॉटस्पॉट बना है।

इंडिया टीवी के संपादक रजत शर्मा ने ट्वीट कर दावा किया है कि अब्दुल लतीफ ने कोरोना संक्रमण की बात छिपाई। उनकी मौत के बाद पता चला कि वे पूरे कुनबे को संक्रमित कर गए हैं।

शर्मा ने ट्वीट किया है, “नागपुर के अब्दुल लतीफ ने कोरोना छिपाया। उनके मरने के बाद पता चला कि वो अपने बेटों, बहू, भाई, भाभी, बेटियों, दामाद, पोतों समेत पूरे कुनबे को इन्फ़ेक्शन दे गए हैं। जो दोस्त मिले अनजाने में वो भी शिकार हो गए। कुल 55 पॉजिटिव आ चुके हैं और 144 की रिपोर्ट अभी आनी है। नागपुर वाले हैरान हैं।”

इंडिया टीवी की खबर के मुताबिक 5 अप्रैल को 68 साल के अब्दुल लतीफ की मौत हुई थी। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने परिवार सहित पूरे इलाके से सैंपल लिए। जाँच के लिए भेजे। रिपोर्ट आई तो हर कोई हैरान रह गया। पता चला कि संक्रमण ​से न केवल लतीफ की जान गई बल्कि पूरे परिवार, रिश्तेदारों और मोहल्ले के कई लोगों को वे संक्रमित कर गए थे।

अब्दुल लतीफ का परिवार काफी बड़ा है। पहले उनके बेटे को कोरोना हुआ। उससे बहू को इन्फेक्शन हुआ। बहू से उसके भाई और भाभी को भी कोरोना हो गया। अब्दुल लतीफ की तीन बेटियों को भी इन्फेक्शन हुआ। दूसरी बेटी की दो बेटियों और एक बेटे को भी ये बीमारी लग गई। पूरे परिवार में अब तक 26 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

अब्दुल लतीफ शहर के 19 दुकानदारों के लगातार संपर्क में थे। जहाँ लतीफ ने जाँच कराई थी, वहाँ की एक नर्स भी पॉजिटिव पाई गई है। अब नर्स के संपर्क में आने वाले लोगों की हिस्ट्री निकालकर उनकी जाँच की जा रही है। बताया जाता है कि लतीफ के संपर्क में नागपुर के दो दर्जन से ज्यादा परिवार आए हैं।

अब इनके संपर्क में आए दूध वाले, अखबार वाले, मिठाई वाले, किराना वाले, दवाई वाले वगैरह को भी खोजा जा रहा। अभी तक स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को मात्र 200 लोगों की ही जानकारी मिल सकी है। अब्दुल लतीफ तीन अप्रैल को अपनी जाँच कराने के लिए अस्पताल पहुँचे थे। वे टीबी के भी मरीज थे। मौत के बाद जब कोरोना टेस्ट हुआ तो वे पॉजिटिव पाए गए। इसके बाद उनकी हिस्ट्री की पड़ताल की गई तो पता चला की वे दुबई से आये थे। लेकिन इसकी खबर किसी को नहीं दी।

महाराष्ट्र सरकार की स्वास्थ्य विभाग की वेबसाइट के मुताबिक अभी तक राज्य में 5649 लोग संक्रमित हो चुके हैं। 269 की मौत हुई है जबकि 789 स्वस्थ हो चुके हैं। नागपुर में सौ लोगों के संक्रमण होने और एक की मौत की जानकारी भी वेबसाइट पर मौजूद है। हालॉंकि मृतक अब्दुल लतीफ ही हैं, इसकी आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हो पाई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बॉम्बे हाई कोर्ट से आर्यन खान को मिली जमानत, 3 अक्टूबर को क्रूज पर रेड के बाद किए गए थे गिरफ्तार

बॉम्बे हाई कोर्ट ने लगातार तीन दिन की सुनवाई के बाद आर्यन खान को जमानत दी है। अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा को भी जमानत दी गई है।

‘वर्ल्ड कप में ये ड्रामे होते हैं, दिखावे की जरूरत नहीं’: क्विंटन डिकॉक ने डिटेल में बताया क्यों नहीं टेका घुटना

डिकॉक ने बयान में कहा कि जब भी सब वर्ल्ड कप में जाते हैं तो ऐसा कोई न कोई ड्रामा होता ही है। ये चीजें अच्छी बात नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
132,529FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe