Tuesday, May 17, 2022
Homeदेश-समाजमर गई वह बिल्ली जिसने महाराष्ट्र में गुल करवाई बिजली, 8 घंटे तक 60000...

मर गई वह बिल्ली जिसने महाराष्ट्र में गुल करवाई बिजली, 8 घंटे तक 60000 लोग अंधेरे में रहे

"बुधवार सुबह एक बिल्ली ट्रांसफार्मर पर चढ़ गई, जिससे शॉर्ट सर्किट हो गया।"

महाराष्ट्र (Maharashtra) में पुणे जिले के पास पिंपरी-चिंचवड (Pimpri Chinchwad) में एक बिल्ली की वजह से 60000 लोगों को भीषण गर्मी में बिना बिजली के करीब 8 घंटे तक रहना पड़ा। बिजली विभाग (MSEDCL) के अधिकारियों के मुताबिक, एक बिल्ली बुधवार (23 मार्च 2022) को ट्रांसफार्मर पर चढ़ गई थी, जिससे तकनीकी खराबी आ गई। इसकी वजह से पिंपरी-चिंचवड के भोसरी, अकुर्दी और आसपास के इलाकों में सुबह 6 बजे बिजली गुल हो गई थी। इन इलाकों में दोपहर करीब 2 बजे बिजली आपूर्ति बहाल हो पाई।

एसईडीसीएल की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि ट्रांसफार्मर पर चढ़ने के कारण बिल्ली की मौत हो गई। एक अधिकारी ने कहा कि बिजली गुल होने से कम से कम 60000 लोगों को परेशानी हुई। ऐसे में वैकल्पिक बिजली सब-स्टेशनों का इस्तेमाल कर बिजली आपूर्ति बहाल की गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक, भोसरी एमआईडीसी (औद्योगिक क्षेत्र) में 220 केवी का सब-स्टेशन है। महाट्रांसको अधिकारी (Mahatransco Officer) ज्योति चिप्टी ने कहा, “बुधवार को सुबह करीब साढ़े पाँच बजे एक बिल्ली ट्रांसफार्मर पर चढ़ गई, जिससे शॉर्ट सर्किट हो गया। इस वजह से 100 एमवीए (MVA) के ट्रांसफर्मर में सुबह 6 बजे से खराबी आ गई। इसके बाद इंडस्ट्रियल एसोसिएशन से बात कर हमने लोड शेडिंग शुरू की गई। अलग-अलग इलाकों में अलग-अलग वक्त पर लोड शेडिंग की गई।”

इस बीच, महाट्रांसको की ओर से ट्रांसफार्मर की मरम्मत जारी है। यदि ट्रांसफार्मर पूरी तरह से खराब पाया जाता है, तो उसे बदलने में कम से कम दो से तीन दिन का समय लगेगा। इसलिए, महाट्रांसको के 220 केवी सब-स्टेशन में वर्तमान में चल रहे केवल 75 एमवीए क्षमता के बिजली ट्रांसफार्मर से किसी तरह बिजली सप्लाई की जा रही है। ऐसे में सारा लोड दूसरे ट्रांसफर्मर पर आने से कहीं दूसरी समस्या ना खड़ी हो जाए, इसलिए लोड शेडिंग का उपाय अपनाया जा रहा है। स्थानीय लोग जल्द नया ट्रांसफर्मर लगने का इंतजार रहे हैं।

बता दें कि महाराष्ट्र में गर्मी बढ़ने की वजह से बिजली की खपत भी बढ़ गई है। ऐसे में एक ट्रांसफर्मर पर ही सारा लोड आ गया है। इसलिए बिजली उपभोक्ताओं से अपील की जा रही है कि वे कम से कम बिजली का इस्तेमाल करें। सरकारी बिजली कंपनी महाट्रांसको ने इस असुविधा के लिए उपभोक्ताओं से खेद व्यक्त किया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कानपुर वाला गुटखा खाकर करेंगे विज्ञापन, कमाएँगे पैसे… मीडिया को बोलेंगे कि बॉलीवुड अफोर्ड नहीं कर सकता: महेश बाबू को इसलिए पड़ रही गाली

महेश बाबू पिछले साल पान मसाला के विज्ञापन का हिस्सा बने थे। नेटिजन्स ने अब उन पर हमला बोलते हुए उसी ऐड को फिर से वायरल करना शुरू कर दिया है।

ज्ञानवापी की वो जगह, जहाँ नहीं हो सका सर्वे: 72*30*15 फीट है मलबा और 15 फीट की दीवार का घेरा, हिंदू पक्ष ने कहा-...

ज्ञानवापी विवादित ढाँचे से शिवलिंग मिलने के बाद हिंदू पक्ष में जहाँ खुशी की लहर है। वहीं मुस्लिम पक्ष का कहना है कि सांप्रदायिक उन्माद रचने की साजिश कहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,313FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe