Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजकश्मीर में फिर एक हिन्दू की गोली मार कर हत्या, आतंकियों ने चिपकाए गैर-कश्मीरियों...

कश्मीर में फिर एक हिन्दू की गोली मार कर हत्या, आतंकियों ने चिपकाए गैर-कश्मीरियों के घाटी छोड़ने के पोस्टर

मृतक सतीश काकरान के रहने वाले सुरिंदर सिंह के बेटे हैं और पेशे ड्राइवर थे। स्थानीय अधिकारियों ने घटना की पुष्टि की है। इस घटना के बाद आतंकियों को पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने इलाके को चारों तरफ से घेर लिया है और सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है।

जम्मू-कश्मीर में एक बार आतंकियों ने टारगेट किलिंग को अंजाम देते हुए बुधवार (13 अप्रैल 2022) की शाम को सतीश सिंह राजपूत नाम के एक व्यक्ति को गोली मार दी। इस हमले में सतीश सिंह घायल हो गए और उन्हें इलाज के लिए अस्पताल मे भर्ती कराया गया है, जहाँ इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

घटना दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के काकरान के पोम्बे कमप्रीम इलाके की है। मृतक सतीश काकरान के रहने वाले सुरिंदर सिंह के बेटे हैं और पेशे ड्राइवर थे। स्थानीय अधिकारियों ने घटना की पुष्टि की है। इस घटना के बाद आतंकियों को पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने इलाके को चारों तरफ से घेर लिया है और सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है।

वहीं, कुलगाम जिले में आतंकियों ने पोस्टर चिपकाया है, जिसमें बाहरी व्यक्तियों को कश्मीर छोड़ने की चेतावनी दी गई है। लश्कर-ए-इस्लाम नाम के इस आतंकी संगठन ने अपने पोस्टर में पुलिसकर्मियों और सेना के जवानों को धमकी दी है। पोस्टर में लिखा है कि गैर-कश्मीरी और हिन्दुस्तान के अलग-अलग हिस्सों से आए हुए लोग तुरंत घाटी छोड़ दें।

कश्मीर में हतोत्साहित आतंकी और उसका आका पाकिस्तान अब टारगेट किलिंग पर उतर आया है। आतंकी गैर-मुस्लिमों और गैर-कश्मीरियों को निशाना बनाने लगे हैं। इसके पहले आतंकियों ने घाटी में सोनू कुमार नाम के व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी थी। सोनू अपनी दुकान पर बैठे थे। इसी दौरान आए और गोली मार दी।

वहीं, पिछले साल आतंकियों ने दो लोगों की हत्या कर दी थी, जिसमें एक हिंदू और एक सिख समुदाय से संबंधित थे। आतंकियों ने श्रीनगर के ईदगाह इलाके में स्थित एक स्कूल में शिक्षकों को लाइन में खड़े कराकर पहचान करने के बाद दो गैर-मुस्लिम शिक्षकों की हत्या कर दी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -