Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजजियाउल हक़ ने किया विवाहिता का अपहरण, धर्मांतरण-निकाह की कोशिश: फटे कपड़ों में थाने...

जियाउल हक़ ने किया विवाहिता का अपहरण, धर्मांतरण-निकाह की कोशिश: फटे कपड़ों में थाने पहुँची, UP पुलिस ने किया 4 को गिरफ्तार

पीड़ित महिला का कहना है कि जब वह 13-14 वर्ष की थी, तब भी जियाउल हक़ ने अपने साथियों के साथ मिल कर उनका अपहरण किया था। उन्हें कार से उठा कर ले जाया गया था।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में अपहरण और धर्मांतरण की कोशिश का मामला सामने आया है। एक विवाहित युवती ने ओयल कस्बे के रहने वाले जियाउल हक़ उर्फ़ गब्बर पर ये आरोप लगाया है। जियाउल हक़ पर आरोप है कि उसने बंदूक का डर दिखा कर विवाहिता का अपहरण किया और फिर जबरन धर्मांतरण व निकाह करने की कोशिश की। पुलिस ने ‘गब्बर’ सहित 4 आरोपितों को हिरासत में लिया है।

पीड़िता की उम्र 25 साल है, जिसकी शादी लखीमपुर खीरी में हुई थी। शुक्रवार (9 जुलाई, 2021) को रात के लगभग 9 बजे वो बदहवास अवस्था में फटे कपड़ों में भागते हुए ओयल पुलिस चौकी पर पहुँची। पीड़िता ने पुलिस को जानकारी दी कि वो शुक्रवार की शाम अपने ससुराल से दूध लेने निकली थी। जुलाहनटोला मोहल्ला निवासी जियाउल हक़ उर्फ गब्बर व उसका छोटा भाई निजाउद्दीन उर्फ शमी पहले से ही घात लगाए बैठे थे।

ये दोनों अहमद अली उर्फ कल्लू के बेटे हैं। इन्होंने जबरन विवाहिता को अपनी गाड़ी में बिठा लिया और अपनी दुकान पर ले गए। सरिया-सीमेंट की उस दुकान में ही पीड़िता को बंद कर दिया गया। इन दोनों ने दीपक वर्मा नामक अपने एक साथी को भी बुला लिया। उसके साथ मारपीट की गए और जियाउल हक़ से निकाह आकर जबरन धर्म-परिवर्तन का दबाव बनाया गया। किसी तरह मौका पाकर पीड़िता वहाँ से भाग निकली।

पुलिस ने मुख्य आरोपित को पहले ही हिरासत में ले लिया था। पीड़िता की शिकायत के आधार पर तुरंत ही FIR भी दर्ज कर ली गई। सर्विलांस व एसओजी की टीम को भी लगाया गया, ताकि त्वरित गिरफ़्तारी की जा सके। पुलिस ने जानकारी दी कि चारों आरोपितों को हिरासत में ले लिया गया है। सीओ सिटी अरविंद कुमार ने बताया कि साक्ष्यों के आधार पर जो भी स्थिति सामने आएगी, उसके आधार पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

वहीं इंस्पेक्टर खीरी फतेह सिंह ने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस त्वरित कार्रवाई कर रही है। महिला का कहना है कि जब वह 13-14 वर्ष की थी, तब भी जियाउल हक़ ने अपने साथियों के साथ मिल कर उसका अपहरण किया था। उसे कार से उठा कर ले जाया गया था। तब उसके अब्बा और चाचा के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज हुआ था। वो जेल भी गया था। मुख्य आरोपित भी शादीशुदा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe