Thursday, April 25, 2024
Homeदेश-समाजलखीमपुर खीरी: मस्तान मियाँ की मजार पर बिन इजाजत जमा हुई भीड़ ने रौंद...

लखीमपुर खीरी: मस्तान मियाँ की मजार पर बिन इजाजत जमा हुई भीड़ ने रौंद डाली किसानों की लाखों की फसल, विरोध करने पर मारपीट और गाली-गलौच भी, FIR दर्ज

अपनी शिकायत के साथ किसान कमलचरणजीत सिंह ने लगभग 19 वाहनों के नंबर प्लेट की फोटों खींची है। वो वाहन भी FIR में दर्ज हुए हैं। पीड़ित किसान ने न सिर्फ मस्तान मजार के कमेटी सदस्यों और मौलानाओं पर कार्रवाई की माँग की है बल्कि अपने नुकसान के लिए खुद और पड़ोसी किसानों के लिए मुआवजे की भी माँग की है।

UP के लखीमपुर खीरी जिले में मस्तान मियाँ की मजार पर जमा भीड़ पर किसानों की लाखों रुपये मूल्य की फसल को रौंद डालने का आरोप लगा है। इस घटना की शिकायत स्थानीय किसान कमलचरणजीत सिंह ने पुलिस में की है। शिकायत में मजार कमेटी के सदस्यों, मौलानाओं के अलावा कई वाहनों के ड्राइवरों और मजार पर आई भीड़ को भी आरोपित किया गया है। घटना 20 मई 2022 (शुक्रवार) रात की बताई जा रही है।

किसान कमलचरणजीत सिंह की शिकायत के मुताबिक, “मैं कोतवाली क्षेत्र के गाँव सिसौना का निवासी हूँ। मैंने एक साल के लिए जायसवाल फॉर्म लीज पर खेती के लिए लिया है। मैंने यहाँ 16 एकड़ खेत में फसल उगा रखी है। 20 मई की रात मथना इलाके में मौजूद मस्तान मियाँ की मज़ार पर मजार कमेटी के लोगों और मौलानाओं ने बिना प्रशासन की इजाजत के बड़े मेले का आयोजन कर दिया। इस मेले की पहले कोई योजना भी नहीं थी। मेरे में लाखों की भीड़ हुई जिसमें हजारों लोग अराजक किस्म के भी शामिल थे।’

FIR Copy

कमलचरणजीत ने आगे लिखा, “भीड़ में शामिल अराजक तत्वों ने मेरे खेतों के चारों तरफ लगी बाड़ को तोड़ डाला। इसके खेतों में खड़ी फसल को रौंदते हुए बाइकों और अन्य वाहन निकाले गए। इस दौरान मेरी 3 एकड़ में लगी गन्ने की फसल बर्बाद हो गई। इस से मेरा लगभग ढाई लाख रुपए का नुकसान हुआ है। मैंने अपने नौकर के साथ मिल कर फसलों को रौंदने का विरोध किया तब हमारे साथ मारपीट और गाली-गलौज की गई। मेरे साथ मेरे पड़ोसियों की फसलों को भी मज़ार पर जमा भीड़ द्वारा रौंदा गया है। हमारे फसल लगी खेतों में ही कई लोगों ने अपनी गाड़ियों को पार्किंग के रूप में खड़ा कर दिया गया।”

अपनी शिकायत के साथ किसान कमलचरणजीत सिंह ने लगभग 19 वाहनों के नंबर प्लेट की फोटों खींची है। वो वाहन भी FIR में दर्ज हुए हैं। पीड़ित किसान ने न सिर्फ मस्तान मजार के कमेटी सदस्यों और मौलानाओं पर कार्रवाई की माँग की है बल्कि अपने नुकसान के लिए खुद और पड़ोसी किसानों के लिए मुआवजे की भी माँग की है।

आरोपितों पर लगी धाराएँ

पीड़ित किसान की शिकायत पर पुलिस ने मजार कमेटी के सदस्यों के साथ वहाँ जुटी अज्ञात भीड़ और वाहनों पर भी केस दर्ज कर लिया है। कोतवाली सदर पुलिस ने इस FIR में IPC की धारा 147, 323, 427 और 504 के तहत कार्रवाई की है। केस की जाँच सब इंस्पेक्टर यशवीर सिंह को सौंपी गई गई। ऑपइंडिया से बात करते हुए पीड़ित किसान ने बताया, “हमारा काफी नुकसान हुआ। हमने सालाना ठेके पर वो खेत लिए थे। हम कल भी कोतवाली गए थे। अभी तक इस केस में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।” मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इंस्पेक्टर क्राइम संजय कुमार ने बताया कि मेले की इजाजत प्रशासन से नहीं ली गई है। किसान की फसल के नुकसान और अन्य मामलों की जाँच जारी है।

लखीमपुर खीरी पुलिस ने इस खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी मजार पर मेले का आयोजन किया गया था। इस वर्ष मजार पर जो श्रद्धालु आए थे उनके कारण आस-पास की कुछ फसल नष्ट हो गई। जिस संबंध में कोo सदर पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत करके आवश्यक विधिक कार्यवाही की जा रही है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मार्क्सवादी सोच पर नहीं करेंगे काम: संपत्ति के बँटवारे पर बोला सुप्रीम कोर्ट, कहा- निजी प्रॉपर्टी नहीं ले सकते

संपत्ति के बँटवारे केस सुनवाई करते हुए सीजेआई ने कहा है कि वो मार्क्सवादी विचार का पालन नहीं करेंगे, जो कहता है कि सब संपत्ति राज्य की है।

मोहम्मद जुबैर को ‘जेहादी’ कहने वाले व्यक्ति को दिल्ली पुलिस ने दी क्लीनचिट, कोर्ट को बताया- पूछताछ में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला

मोहम्मद जुबैर को 'जेहादी' कहने वाले जगदीश कुमार को दिल्ली पुलिस ने क्लीनचिट देते हुए कोर्ट को बताया कि उनके खिलाफ कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe