Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाजतापसी की चिंता में डूबे बॉयफ्रेंड भी आए IT जाँच के दायरे में, असली...

तापसी की चिंता में डूबे बॉयफ्रेंड भी आए IT जाँच के दायरे में, असली वजह फेर सकती है ‘गैंग’ के सपनों पर पानी

मैथियस बो एक बैडमिंटन टीम के साथ जुड़ा हुआ है, जो तापसी और केआरआई एंटरटेनमेंट के स्वामित्व में है, दोनों की कर चोरी के मामले में आयकर विभाग द्वारा जाँच की जा रही है। इसका मतलब है, वह सिर्फ अपनी प्रेमिका के बारे में चिंतित नहीं था, बल्कि वह जिस फ्रेंचाइजी टीम के कोच थे, वह भी अब इस रेड से मुश्किल में पड़ सकती है।

मैथियस बो (Mathias Boe), डेनमार्क के बैडमिंटन खिलाड़ी, जिन्हें भारतीय बैडमिंटन टीम का कोच नियुक्त किया गया है। तापसी पन्नू के बॉयफ्रेंड जो भारतीय बैडमिंटन युगल टीम के कोच ने अनुराग कश्यप और तापसी मामले में हस्तक्षेप करते हुए ट्विटर पर केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू से अपनी प्रेमिका के खिलाफ चल रहे इनकम टैक्स छापों के बारे में ‘कुछ’ करने का आग्रह किया। जबकि अब यह सामने आ गया है कि बो के अनुराग कश्यप सहित कई बॉलीवुड हस्तियों के खिलाफ चल रही आयकर विभाग की कार्रवाई से बहुत गहरा संबंध है। एक और मामले से बो का जुड़ाव पता चला है जो उसके परेशानी का वास्तविक कारण जान पड़ता है।

फिलहाल बो ने किरेन रिजिजू को टैग करते हुए ट्वीट किया, “खुद को थोड़ी परेशानी में पा रहा हूँ। इस समय जब मैं कुछ बेहतरीन भारतीय एथलीटों को प्रशिक्षण दे रहा हूँ। उसी समय, IT विभाग तापसी के घरों में छापा मार कर, उसके परिवार, विशेष रूप से उसके माता-पिता पर अनावश्यक तनाव डाल रहा है। @KirenRijiju प्लीज कुछ करें।” जिसका किरेन रिजिजू ने कानून का पालन करने की सलाह देते हुए जवाब भी दिया।

भारत के राष्ट्रीय खिलाड़ियों के कोच होने के अलावा, मैथियस बो एक फ्रेंचाइज़ी बैडमिंटन टीम, पुणे 7 एसेस (Pune 7 Aces) के कोच भी हैं, जो प्रीमियर बैडमिंटन लीग में भाग लेता है। पुणे 7 एसेस का स्वामित्व उसकी प्रेमिका तापसी पन्नू और टैलेंट मैनेजमेंट कंपनी केआरआई एंटरटेनमेंट के पास है।

कश्यप की फैंटम फिल्म और अन्य पर छापे के बाद, केआरआई एंटरटेनमेंट के कार्यालयों पर भी कल छापा मारा गया था। कंपनी तापसी सहित कई बॉलीवुड अभिनेताओं-अभिनेत्रियों का प्रबंधन करती है। आई-टी विभाग के सूत्रों के अनुसार, कंपनी का फैंटम फिल्म्स के साथ संबंध है, और उनका वित्तीय लेनदेन संदेह के घेरे में है।

यही वह कारण है कि, मैथियस बो एक बैडमिंटन टीम के साथ जुड़ा हुआ है, जो तापसी और केआरआई एंटरटेनमेंट के स्वामित्व में है, दोनों की कर चोरी के मामले में आयकर विभाग द्वारा जाँच की जा रही है। इसका मतलब है, वह सिर्फ अपनी प्रेमिका के बारे में चिंतित नहीं था, बल्कि वह जिस फ्रेंचाइजी टीम के कोच थे, वह भी अब इस रेड से मुश्किल में पड़ सकती है।

कोच बनने से पहले, मैथियस बो पीबीएल में पुणे 7 एसेस के लिए खेल चुके हैं, और कप्तान (स्किपर) के रूप में भी टीम का नेतृत्व किया था।

सवाल यह भी उठाए जा रहे हैं कि यदि मैथियस भारतीय राष्ट्रीय टीम और पुणे 7 एसेस की टीम दोनों के लिए काम करते हैं तो कॉन्फ्लिक्ट ऑफ़ इंटरेस्ट का मामला भी उनके लिए मुसीबत बन सकती है। यहाँ यह उल्लेख करना जरुरी है कि राष्ट्रीय बैडमिंटन कोच पुलेला गोपीचंद पर भी इसी तरह के आरोप लगे थे, क्योंकि भारतीय टीम के मुख्य कोच के अलावा, वह अपनी अकादमी भी चलाते थे, और प्रीमियर बैडमिंटन लीग और राष्ट्रीय सिलेक्शन टीम के सदस्य के रूप में भी जुड़े हुए थे।

गौरतलब है कि इनकम टैक्स चोरी के आरोप में आयकर विभाग की ओर से अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू सहित कई सितारों के मुंबई और पुणे स्थित आवास व कार्यालय में चल रही छापेमारी अभी खत्म नहीं हुई है। कहा जा रहा है कि ये छापेमारी 2-3 दिन और चलेगी। चार शहरों- मुंबई, पुणे, दिल्ली और हैदराबाद के 28 ठिकानों पर कार्रवाई हुई है। सीबीडीटी ने बताया है कि आयकर विभाग सर्च और सर्वे ऑपरेशंस अंजाम दे रहा है। इसकी शुरुआत मुंबई में 2 फिल्म निर्माण कंपनियों, एक अभिनेत्री और दो टैलेंट मैनेजमेंट कंपनियों से 3 मार्च को हुई थी।

सीबीडीटी का कहना है कि 5 करोड़ रुपए कैश पेमेंट लेने की रसीदें तापसी पन्नू के घर से बरामद हुई हैं। कथित तौर पर टैक्स बचाने के लिए यह पेमेंट कैश के तौर पर ली गई। यही नहीं फिल्म प्रोडक्शन हाउस फैंटम फिल्म्स ने बॉक्स ऑफिस पर जितने कलेक्शन की बात कही थी, उससे ज्यादा रकम की जानकारी मिली है।

कंपनी के अधिकारी 300 करोड़ रुपए का हिसाब नहीं दे पाए हैं। यह भी बताया है कि फैंटम फिल्म्स की हिस्सेदारी बेचने के लिए उसका अंडरवैल्यूएशन किया गया। फैंटम फिल्म्स को 2018 में डिजॉल्व कर दिया गया था। शेयरों की कीमत कम दिखाई और लेनदेन में गड़बड़ी की। विभाग के अनुसार कुल 350 करोड़ की टैक्स अनियमितता से यह मामला जुड़ा हुआ है। आगे जैसे-जैसे जाँच जारी है और भी कई चौकाने वाले खुलासे होने की उम्मीद है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,226FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe