Monday, August 15, 2022
Homeदेश-समाजसेना के जवान के 11 वर्षीय बेटे को मदरसे के मौलाना ने रॉड से...

सेना के जवान के 11 वर्षीय बेटे को मदरसे के मौलाना ने रॉड से पीटा: पुलिस शिकायत के बाद परिवार को मिल रही जान से मारने की धमकी

अरगोड़ा थाना के प्रभारी विनोद कुमार ने ऑपइंडिया को बताया कि इस पर कानून सम्मत कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने हा कि अगर महिला को जान से मारने की धमकी मिल रही है तो वह पुलिस पेट्रोलिंग पार्टी को महिला के घर के आसपास गश्ती बढ़ाने का निर्देश देंगे।

झारखंड की राजधानी राँची (Ranchi, Jharkhand) में एक मदरसे के मौलाना ने मैदान में खेलने को लेकर सेना के एक जवान के 11 वर्षीय बेटे को लोहे की सरिया से बर्बर तरीके से पिटाई कर दी। मौलाना सत्ताधारी पार्टी से नजदीकी संबंधों वाला बताया जाता है। इसलिए पुलिस पर आरोप है कि वह जानबूझकर मौलाना के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

राँची के अरगोड़ा थाना के कडरू की रहने वाली 39 साल की रौशन तारा ने बताया कि 6 जुलाई 2022 की शाम 5:30 उनका बच्चा सम्मी अहमद मदरसा हुसैनिया, कडरू के मैदान में फुटबॉल खेलने गया था। उसी दौरान मदरसे के मौलाना मुहम्मद ने हाथ में लोहे का रॉड लेकर बच्चों को खदेड़ लिया।

रौशन तारा ने ऑपइंडिया को बताया, “मेरा बच्चा सबसे छोटा था, इसलिए मौलाना ने उसे पकड़ लिया और बुरी तरीके से मारा। लोहे की रॉड की मार से बच्चे के पैर सहित पूरे शरीर पर निशान पड़ गए हैं और वह नहीं पा रहा है।”

रौशन आरा ने कहा कि अगले दिन वह थाने में रिपोर्ट कराने गईं और बड़ी कोशिश के बाद उम्मीद शिकायत ली गई। रौशन का कहना है कि सप्ताह भर बीत जाने के बाद भी मौलाना के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

रौशन आरा ने ऑपइंडिया से कहा, “मैं जब भी केस के IO तंजीजुल इमाम से इस बारे में बात करती हूँ तो वे कहते हैं कि केस पर काम हो रहा है।” पुलिस की लापरवाही को देखते हुए रौशन आरा ने अरगोड़ा थाने के प्रभारी को आवेदन देकर केस के जाँच अधिकारी को बदलने की माँग की है।

रौशन आरा का कहना है कि कार्रवाई नहीं होने के कारण मौलाना और उसके लोग धमका रहे हैं। रौशन ने बताया, “मेरे शौहर फौज में हैं और घर में सिर्फ मैं और मेरा बच्चा है। मौलाना की इस हरकत पर मोहल्ले के लोग भी मेरी मदद नहीं कर रहे हैं।”

उन्होंने कहा कि मौलाना के लोग उनके घर के सामने आकर धमकाते हैं और केस में समझौता करने का दबाव बना रहे हैं। उन लोगों का कहना है कि अगर समझौता नहीं हुआ तो उसे और उसके बच्चे को जान से मार दिया जाएगा। महिला ने मौलाना और उसके आदमियों से अपनी जान को खतरा बताया है।

रौशन तारा का कहना है कि मौलाना और उसके आदमियों के डर के कारण उसे हर समय अपना घर बंद करके उसके भीतर रहने को मजबूर होना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि मौलाना बहुत प्रभावशाली है, इसलिए उस पर कार्रवाई नहीं की जा रही है।

अरगोड़ा थाना के प्रभारी विनोद कुमार ने ऑपइंडिया को बताया कि इस पर कानून सम्मत कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने हा कि अगर महिला को जान से मारने की धमकी मिल रही है तो वह पुलिस पेट्रोलिंग पार्टी को महिला के घर के आसपास गश्ती बढ़ाने का निर्देश देंगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वतंत्रता के हुए 75 साल, फिर भी बाँटी जा रही मुफ्त की रेवड़ी: स्वावलंबन और स्वदेशी से ही आएगी आर्थिक आत्मनिर्भरता

जब हम यह मानते हैं कि सत्य की ही जय होती है तब ईमानदार सत्यवादी देशभक्त नेताओं और उनके समर्थकों को ईडी आदि से भयभीत नहीं होना चाहिए।

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत: मृतक की जाति वाले टीचर ने नकारा भेदभाव, स्कूल में 8 में से 5 स्टाफ SC/ST

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत पर दावा कि आरोपित हेडमास्टर ने मटकी से पानी पीने पर मारा, जबकि अन्य लोगों का कहना है कि वहाँ कोई मटकी नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,900FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe