Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजपूरे गाँव में अकेला वाल्मीकि परिवार, वसीम और शौकीन दे रहे हाथरस कांड दोहराने...

पूरे गाँव में अकेला वाल्मीकि परिवार, वसीम और शौकीन दे रहे हाथरस कांड दोहराने की धमकी: एक्शन में UP पुलिस

सिखेड़ी गाँव में संदीप का परिवार इकलौता वाल्मीकि समाज का परिवार है। लिहाज़ा उस पर धर्म परिवर्तन और पलायन का भी दबाव बनाया जा रहा है। वसीम, शौक़ीन और बादल के विरुद्ध शिकायत दर्ज कर UP पुलिस ने...

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में कुत्ते को डंडा मारने की बात से शुरू हुआ विवाद अब पीड़ित परिवार के पलायन तक पहुँच चुका है। एक वाल्मीकि परिवार को धमकियाँ दी जा रही हैं कि हाथरस कांड जैसे हालात दोहराए जाएँगे। इस मामले के सुर्ख़ियों में आने के बाद पुलिस हरकत में आई और कुल 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया – वसीम, शौक़ीन और बादल। पुलिस फ़िलहाल 3 अन्य आरोपितों की खोजबीन में जुटी हुई है और क्षेत्र में फ़िलहाल तनाव की स्थिति बरकरार है।  

मेरठ के पास एक जगह है परीक्षितगढ़ और उसके अंतर्गत आने वाले गाँव सिखेड़ा में यह घटना हुई। 16 अक्टूबर 2020 को वाल्मीकि समाज से आने वाले संदीप ने एक कुत्ते को डंडा मारा, जिसके बाद उसका वसीम नाम के युवक से विवाद हो गया। इसके बाद कई लोगों ने संदीप की पिटाई कर दी और उसके लिए जातिसूचक शब्दों का उपयोग किया। जिसके बाद पुलिस ने शांति भंग करने का मामला दर्ज करते हुए धारा 151 लगा कर कार्रवाई की। हालात ऐसे बने कि वसीम ने संदीप को डराना-धमकाना शुरू कर दिया। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ संदीप का कहना है कि वसीम ने उसे यहाँ तक धमकी दी कि हाथरस कांड दोहराया जा सकता है। मामले का सबसे अहम पहलू है कि सिखेड़ी गाँव में संदीप का परिवार इकलौता वाल्मीकि समाज का परिवार है। लिहाज़ा उस पर धर्म परिवर्तन और पलायन का भी दबाव बनाया जा रहा है। इन हालातों का सामना करने के बाद संदीप ने अंततः आरोपितों (वसीम, शौक़ीन और बादल) के विरुद्ध शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस ने इन तीनों आरोपितों के विरुद्ध दंड संहिता की धारा 323, 504, 506, 452 और अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया। 

विवाद के दौरान संदीप बुरी तरह घायल हुए था और वह पिछले कई दिनों से बिस्तर पर हैं। मामले की जानकारी होने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सूचना सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने इस प्रकरण में कार्रवाई की बात कही। उन्होंने घटना के संबंध में ट्वीट करते हुए लिखा कि कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। 

जिसके बाद उत्तर प्रदेश, मेरठ पुलिस ने कार्रवाई की जानकारी देते हुए ट्वीट किया। मेरठ पुलिस ने ट्वीट में लिखा, “उपरोक्त प्रकरण में वादी पक्ष की तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है तथा आवश्यक विधिक कार्रवाई की जा रही है।” एक मीडिया समूह से बात करते हुए इंस्पेक्टर आनंद प्रकाश मिश्र ने भी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस मामले में 3 अन्य आरोपितों का नाम शामिल किया गया है और उनकी तलाश जारी है। फ़िलहाल गाँव में भारी मात्र में पुलिस बल तैनात है।    

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,696FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe