Wednesday, September 22, 2021
Homeदेश-समाजलॉकडाउन में हरियाणा में फँसे 12 मजदूर यमुना तैरकर पहुँचे UP, पुलिस ने किया...

लॉकडाउन में हरियाणा में फँसे 12 मजदूर यमुना तैरकर पहुँचे UP, पुलिस ने किया क़्वारंटाइन

ये सभी पानीपत से लगभग 750 किलोमीटर दूर कौशांबी जा रहे थे। यमुना पार करके ये सभी शामली जिले में पहुँच गए। जब शामली के गंगेरू गाँव के लोगों ने इन्हें देखा तो उन्होंने फौरन पुलिस को इसकी सूचना दी।

लॉकडाउन के कारण हरियाणा के पानीपत में फँसे उत्तर प्रदेश शामली के 12 मजदूर सीमा पर बहने वाली यमुना नदी से तैरकर UP पहुँच गए जहाँ पुलिस ने उन्हें पकड़कर क्वारंटाइन कर दिया।

लॉकडाउन के कारण घर से दूर रह रहे लोग बेहद अजीबोगरीब कारनामों को अंजाम दे रहे हैं लेकिन इन 12 मजदूरों ने तैरकर अपने घर पहुँचने की खबर ने सबको हैरत में डाल दिया है। नदी तैरकर उत्तर प्रदेश में घुसने की कोशिश कर रहे इन मजदूरों ने पुलिस विभाग की चिंता बढ़ा दी है। अब उन्हें बॉर्डर सील करने और सड़कों पर बैरिकेड्स लगाकर निगरानी रखने के अलावा अब नदी पर भी पहरा देना पड़ रहा है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, ये सभी लोग पानीपत की सब्जी मंडी में काम करते हैं। इनका कहना है कि जब इनके मालिक ने खाना देना बंद कर दिया तो मजबूरन इन्हें यह कदम उठाकर अपने घरों को जाने के बारे में विचार करना पड़ा।

ये सभी पानीपत से लगभग 750 किलोमीटर दूर कौशांबी जा रहे थे। यमुना पार करके ये सभी शामली जिले में पहुँच गए। जब शामली के गंगेरू गाँव के लोगों ने इन्हें देखा तो उन्होंने फौरन पुलिस को इसकी सूचना दी।

इस पर शामली की डीएम जसजीत कौर ने कहा कि नदी पार करके आने वाले ज्यादातर लोग शामली के नहीं बल्कि गोरखपुर, वाराणसी और अन्य जिलों के हैं। जिन्हें कि कोरोना के कारण देशव्यापी बन्द के कारण इनके घर नहीं भेजा जा सकता है। डीएम ने कहा कि इन मजदूरों को वापस भेजने के लिए हरियाणा प्रशासन को सूचना दी है। करनाल में ही UP के 740 मजदूर शेल्टर होम्स में रह रहे हैं।

गौरतलब है कि अप्रैल के पहले हफ्ते में पुलिस ने ऐसे कई लोगों को गिरफ्तार किया था, जो ट्यूब के सहारे यमुना पार करने की कोशिश कर रहे थे। बाद में पुलिस ने इस पर कार्रवाई करते हुए रोक लगाइ थी। साथ ही, यमुना किनारे स्थित गाँव के लोगों से अपील की गई है कि नदी पार करने वाले शख्स को देखते ही पुलिस को सूचना दें।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जो कौम अपने इतिहास व परंपराओं को भूला देती है, वह अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर पाती’: दादरी में CM योगी

सीएम ने कहा, "राजा मिहिर भोज नौंवी सदी के एक महान धर्मरक्षक थे। जो कौम अपने इतिहास व परंपराओं को विस्मृत कर देती है, वह अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर पाती।''

‘साड़ी स्मार्ट ड्रेस नहीं’- दिल्ली के अकीला रेस्टोरेंट ने महिला को रोका: ‘ओछी मानसिकता’ पर भड़के लोग, वीडियो वायरल

अकीला रेस्टोरेंट के स्टाफ ने महिला से कहा कि चूँकि साड़ी स्मार्ट आउटफिट नहीं है इसलिए वो उसे पहनने वाले लोगों को अंदर आने की अनुमति नहीं देते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,748FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe