Friday, October 22, 2021
Homeदेश-समाज11 दिन बाद भी 14 साल की हिंदू बच्ची का सुराग नहीं, साबिर ने...

11 दिन बाद भी 14 साल की हिंदू बच्ची का सुराग नहीं, साबिर ने किया था अगवा; नेपाल ले जाने की आशंका

हरलाखी थाना के प्रभारी अशोक कुमार ने बताया कि साबिर के दोस्त मोहम्मद आशिक को गिरफ्तार किया गया है। मगर, लड़की का अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है। आशिक ने साबिर के भागने की सूचना दी है। पुलिस की मानें तो वह पूरे मामले पर निगरानी बनाए हुए हैं।

बिहार के मधुबनी जिले के हरलाखी थाना क्षेत्र के नहरनियाँ गाँव से 20 अगस्त को अगवा की गई 14 साल की बच्ची का अब तक सुराग नहीं लगा है। उसे अगवा करने का आरोप गाँव के ही मोहम्मद साबिर पर है।

हरलाखी थाना के प्रभारी अशोक कुमार ने बताया कि साबिर के दोस्त मोहम्मद आशिक को गिरफ्तार किया गया है। मगर, लड़की का अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है। आशिक ने साबिर के भागने की सूचना दी है। पुलिस की मानें तो वह पूरे मामले पर निगरानी बनाए हुए हैं।

इससे पहले बता दें लड़की के भाई ने ऑपइंडिया को संपर्क किया था। उन्होंने जानकारी दी थी कि आशिक की गिरफ्तारी के बाद से आरोपित पक्ष के लोगों ने उनके घर पर आकर हंगामा किया और केस वापस लेने की धमकी दी।

लड़की के भाई के मुताबिक, कुछ लोगों से उन्हें यह भी पता चला था कि उन्हें मारने की बातें की जा रही हैं, जिसके कारण उनकी पत्नी काफी परेशान हो गई हैं। हालाँकि, पुलिस से जब हमने इस बारे में पूछा तो उन्होंने ऐसी किसी भी प्रकार की स्थिति का खंडन किया। उन्होंने कहा कि वह लगातार इस केस पर नजर बनाए हुए हैं। फिलहाल उनके पास ऐसी कोई शिकायत नहीं आई है।

वहीं, पंचायत समिति के बिश्वेश्वर महतो ने बताया कि इस केस में अभी तक एक ही गिरफ्तार हुआ है, जबकि साबिर भाग चुका है। इससे पहले उन्होंने जानकारी दी थी कि पुलिस कार्रवाई के बाद लड़की के घर में दूसरे पक्ष के लोगों ने आकर हंगामा किया था और उन्हें केस वापस लेने के लिए धमकाया भी गया। हालाँकि, पीड़ित परिवार के घरवालों की तरफ से जब लोगों ने सख्ती दिखाई, तब वह उनके घर से चले गए।

बता दें 20 अगस्त 2020 को लड़की के गायब होने के बाद इस मामले में 23 अगस्त को शिकायत दर्ज हुई थी। फिर 25-26 को जाकर इस केस में जदयू विधायक सधांशु शेखर के हस्तक्षेप से केस दर्ज हुआ।

लड़की के परिजनों का कहना है कि उन्हें जब साबिर के बारे में पता चला तो वह अपनी बेटी के बारे में पता करने उसके घर गए। लेकिन उन्होंने जवाब दिया कि तुम्हारी बेटी का धर्म परिवर्तन करवाने ले गए हैं।

शिकायत के अनुसार, लड़की के पिता से कहा गया, “तुमको जो ताकत लगाना है लगाओ। हमने तैयारी कर ली है। तुम्हारी लड़की को मुसलमान बना देंगे। तुम्हारी औकात नहीं है कि तुम हम सबका कुछ कर सको। मेरे घर से चले जाओ नहीं तो मारकर फेंक देंगे।”

इस पूरे मामले पर ऑपइंडिया ने 28 अगस्त को रिपोर्ट की थी। इसके बाद NCPCR ने भी मामले पर संज्ञान लिया। वहीं जदयू विधायक ने इस पूरी घटना को बेहद दर्दनाक बताया था और पुलिस को कार्रवाई करके सच्चाई सामने लाने के लिए कहा था।

बता दें, लड़की के गायब होने के बाद परिवार के लिए इंसाफ की गुहार लगा रहे कुछ लोगों से ऑपइंडिया ने बात की। हमसे बात करते हुए लोगों ने आशंका जताई कि साबिर लड़की को लेकर नेपाल लेकर भाग सकता है, क्योंकि उनका गाँव बॉर्डर के पास ही है। एक ग्रामीण ने हमसे बात करते हुए यह भी कहा था, “हमें आशंका है कि कहीं पुलिस कार्रवाई और एफआईआर को देखते हुए आरोपित लड़की की हत्या न कर दे।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बधाई देना भी हराम’: सारा ने अमित शाह को किया बर्थडे विश, आरफा सहित लिबरलों को लगी आग, पटौदी की पोती को बताया ‘डरपोक’

सारा ने गृहमंत्री को बधाई दी लेकिन नाराज हो गईं आरफा खानुम शेरवानी। उन्होंने सारा को डरपोक कहा और पारिवारिक बैकग्राउंड पर कमेंट किया।

‘जमानत के लिए भगवान भरोसे हैं आर्यन खान’: जेल में रोज हो रहे आरती में शामिल, कैदियों से मिलती है दिलासा

आर्यन खान ड्रग केस में इस समय जेल में हैं। वो रोज आरती में शामिल होते हैं और अपनी रिहाई के इंतजार में चुप बैठे रहते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe