Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजऑपइंडिया की खबर का असर: बच्ची के अपहरण और इस्लामी धर्मान्तरण पर एक्शन में...

ऑपइंडिया की खबर का असर: बच्ची के अपहरण और इस्लामी धर्मान्तरण पर एक्शन में NCPCR

हमने इस मामले में कुछ ग्रामीणों से भी बात की थी। उनका कहना था कि गॉंव संप्रदाय विशेष बहुल है और पहले भी इस तरह की घटना हो चुकी है। ग्रामीणों ने लड़की को अगवा कर नेपाल ले जाने की आशंका जताई है। यह गॉंव नेपाल की सीमा से सटा है।

बिहार के मधुबनी स्थित हरलाखी थानांतर्गत नरहरियाँ गाँव में एक बच्ची के अपहरण व धर्मान्तरण का मामला सामने आया था, जिसका ‘राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR)’ ने संज्ञान लिया है। ऑपइंडिया ने पीड़ित पक्ष से बात कर इस संबंध में खबर प्रकाशित की थी। इसके आधार पर NCPCR के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने जानकारी दी कि इस मामले में आयोग ने संज्ञान लिया है और कार्रवाई की जा रही है।

प्रियंक ने सोशल मीडिया पर ऑपइंडिया की खबर का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा कि उन्होंने मधुबनी के पुलिस अधीक्षक से बात कर के इस मामले में आवश्यक निर्देश दिए हैं। साथ ही आश्वासन दिया कि NCPCR इस पूरे घटनाक्रम पर नजर बनाए रखते हुए इसकी निगरानी करेगा। ऑपइंडिया ने नरहरियाँ में 14 साल की बच्ची का साबिर द्वारा अपहरण और जबरन इस्लामी धर्मान्तरण के आरोपों पर ख़बर प्रकाशित की थी। साबिर चार बच्चों का बाप बताया जाता है।

स्थानीय पंचायत समिति के सदस्य विश्वेश्वर महतो ने बताया कि अब पुलिस-प्रशासन इस मामले में पीड़ितों का पूरा सहयोग कर रहा है। साथ ही उन्होंने ये भी जानकारी दी कि डीएसपी ने घटनास्थल पर जाकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की और मामले की छानबीन की।

ऑपइंडिया ने इस मामले में गायब हुई लड़की के भाई से बात की थी। उन्होंने बताया था कि 20 अगस्त 2020 को उनकी बहन शौच के लिए घर से बाहर निकली थी। इसके बाद वह लापता हो गई। गाँव भर में उसे ढूँढा गया तो मालूम चला कि गाँव के ही संप्रदाय विशेष के एक युवक ने उसका अपहरण कर लिया है।

शिकायत में लड़की के पिता ने नहरनियाँ गाँव के ही जब्बार के बेटे साबिर उर्फ बबलू पर बेटी को अगवा करने का आरोप लगाया था। इसके अलावा मो. पप्पू, मो. हदीस के बेटे, मो. आशिक, जब्बार की पत्नी और उसके परिवार के अन्य सदस्यों के ख़िलाफ़ भी शिकायत की गई है। लड़की के पिता ने बताया था कि जब वह अपनी बेटी को ढूँढने आरोपित के घर गए तो उन लोगों ने जवाब दिया कि तुम्हारी बेटी का धर्म परिवर्तन करवाने ले गए हैं।

शिकायत के अनुसार, लड़की के पिता से कहा गया, “तुमको जो ताकत लगाना है लगाओ। हमने तैयारी कर ली है। तुम्हारी लड़की का धर्मांतरण कर देंगे। तुम्हारी औकात नहीं है कि तुम हम सबका कुछ कर सको। मेरे घर से चले जाओ नहीं तो मारकर फेंक देंगे।”

हमने इस मामले में कुछ ग्रामीणों से भी बात की थी। उनका कहना था कि गॉंव संप्रदाय विशेष बहुल है और पहले भी इस तरह की घटना हो चुकी है। ग्रामीणों ने लड़की को अगवा कर नेपाल ले जाने की आशंका जताई है। यह गॉंव नेपाल की सीमा से सटा है।

साथ ही यह बात भी सामने आई थी कि स्थानीय जदयू विधायक सुधांशु शेखर के हस्तक्षेप के बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया था। हालॉंकि अब पुलिस को लेकर ग्रामीणों की शिकायत दूर हो चुकी है। उनका कहना है कि दो लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -