Wednesday, May 19, 2021
Home देश-समाज ऑपइंडिया का असर: बिहार से अपहृत लड़की अहमदाबाद से बरामद, साबिर ने धर्म परिवर्तन...

ऑपइंडिया का असर: बिहार से अपहृत लड़की अहमदाबाद से बरामद, साबिर ने धर्म परिवर्तन के लिए किया था अपहरण

"बिहार के मधुबनी ज़िले से अपहृत हुई बच्ची के मामले में ऑपइंडिया की खबर पर राष्ट्रीय बाल आयोग ने संज्ञान लिया था, आज समन सुनवाई के दौरान पुलिस ने अवगत करवाया है कि बच्चे का बचाव कर लिया गया है। आरोपित को भी गिरफ़्तार किया गया है।"

बिहार के मधुबनी जिले हरलाखी थानांतर्गत नहरनियाँ गाँव से एक महीने पहले गायब नाबालिग लड़की अब मिल गई है। स्वयं राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने इसकी जानकारी अपने ट्विटर पर दी है। लड़की को उसके ही गाँव में रहने वाले साबिर ने 20 अगस्त को घर के बाहर से अगवा किया था।

NCPCR अध्यक्ष ने बताया, “बिहार के मधुबनी ज़िले से अपहृत हुई बच्ची के मामले में ऑपइंडिया की खबर पर राष्ट्रीय बाल आयोग ने संज्ञान लिया था, आज समन सुनवाई के दौरान पुलिस ने अवगत करवाया है कि बच्चे का बचाव कर लिया गया है। आरोपित को भी गिरफ़्तार किया गया है।”

लड़की के भाई ने भी ऑपइंडिया को इस बात की जानकारी दी कि उनकी बहन को बिहार प्रशासन ने ढूँढ लिया है। उसकी बरामदगी अहमदाबाद से हुई है। आरोपित गिरफ्तार हो चुका है। जल्द ही उन्हें वापस लेकर आया जाएगा।

लड़की के भाई के अनुसार, लड़की हाल ही में बरामद हुई है। इसकी जानकारी उन्हें उनके जीजा से मिली, जो बिहार पुलिस के साथ बच्ची को ढूँढने गए थे। ऑपइंडिया ने इस मामले में हरलाखी थाना व क्षेत्र डीएसपी से भी बात करने की कोशिश की। लेकिन फिलहाल उनसे हमारा संपर्क नहीं हो पाया है। मामले में आगे जानकारी होते ही हम रिपोर्ट अपडेट करेंगे।

बता दें कि 20 अगस्त को नाबालिग अपने घर से शौच के लिए बाहर निकली थी। इसके बाद वह लापता हो गई। घरवालों ने उसके अपहरण का आरोप गाँव में ही रहने वाले दूसरे समुदाय के साबिर पर लगाया। पीड़ित पक्ष का ये भी कहना था कि जब वह साबिर के घर पर अपनी बेटी का पता पूछने गए तो उन्हें लड़की के बारे में बताने की बजाय ये कहा गया कि तुम्हारे बेटी का धर्म परिवर्तन करवाने के लिए ले गए हैं।

इस संबंध में 23 अगस्त को लड़की के घरवालों ने शिकायत दर्ज करवाई थी और 26 अगस्त को इस मामले पर एफआईआर हुई थी। लड़की के पिता ने अपनी शिकायत में कहा था कि जब वह लोग अपनी लड़की के बारे में पूछने साबिर के घर गए तो उन्हें कहा गया, “तुमको जो ताकत लगाना है लगाओ। हमने तैयारी कर ली है। तुम्हारी लड़की का धर्मांतरण कर देंगे। तुम्हारी औकात नहीं है कि तुम हम सबका कुछ कर सको। मेरे घर से चले जाओ नहीं तो मारकर फेंक देंगे।

28 अगस्त को जब ऑपइंडिया ने इस मामले पर अपनी रिपोर्ट प्रकाशित की। तो, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने पूरे मामले पर संज्ञान लिया। NCPCR के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने जानकारी दी थी कि इस मामले में आयोग ने संज्ञान लिया है और कार्रवाई की जा रही है। प्रियंक कानूनगो ने सोशल मीडिया पर ऑपइंडिया की खबर का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा था कि उन्होंने मधुबनी के पुलिस अधीक्षक से बात कर के इस मामले में आवश्यक निर्देश दिए हैं। साथ ही आश्वासन दिया कि NCPCR इस पूरे घटनाक्रम पर नजर बनाए रखते हुए इसकी निगरानी करेगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी स्ट्रेन’: कैसे कॉन्ग्रेस टूलकिट ने की PM मोदी की छवि खराब करने की कोशिश? NDTV भी हैशटैग फैलाते आया नजर

हैशटैग और फ्रेज “#IndiaStrain” और “India Strain” सोशल मीडिया पर अधिक प्रमुखता से उपयोग किया गया। NDTV जैसे मीडिया हाउसों को शब्द और हैशटैग फैलाते हुए भी देखा जा सकता है।

कॉन्ग्रेस टूलकिट का प्रभाव? पैट कमिंस और दलाई लामा को PM CARES फंड में दान करने के लिए किया गया था ट्रोल

सोशल मीडिया पर पीएम मोदी को बदनाम करने के लिए एक नया टूलकिट सामने आने के बाद कॉन्ग्रेस पार्टी एक बार फिर से सुर्खियों में है। चार-पृष्ठ के दस्तावेज में पीएम केयर्स फंड को बदनाम करने की योजना थी।

₹50 हजार मुआवजा, 2500 पेंशन, बिना राशन कार्ड भी फ्री राशन: कोरोना को लेकर केजरीवाल सरकार की ‘मुफ्त’ योजना

दिल्‍ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने कोरोना महामारी में माता पिता को खोने वाले बच्‍चों को 2500 रुपए प्रति माह और मुफ्त शिक्षा देने का ऐलान किया है।

ख़लीफ़ा मियाँ… किसाण तो वो हैं जिन्हें हमणे ट्रक की बत्ती के पीछे लगाया है

हमने सब ट्राई कर लिया। भाषण दिया, धमकी दी, ज़बरदस्ती कर ली, ट्रैक्टर रैली की, मसाज करवाया... पर ये गोरमिंट तो सुण ई नई रई।

कॉन्ग्रेस के इशारे पर भारत के खिलाफ विदेशी मीडिया की रिपोर्टिंग, ‘दोस्त पत्रकारों’ का मिला साथ: टूलकिट से खुलासा

भारत में विदेशी मीडिया संस्थानों के कॉरेस्पोंडेंट्स के माध्यम से पीएम मोदी को सभी समस्याओं के लिए जिम्मेदार ठहराया गया।

‘केरल मॉडल’ वाली शैलजा को जगह नहीं, दामाद मुहम्मद रियास को बनाया मंत्री: विजयन कैबिनेट में CM को छोड़ सभी चेहरे नए

वामपंथी सरकार की कैबिनेट में सीएम विजयन ने अपने दामाद को भी जगह दी है, जो CPI(M) यूथ विंग के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं।

प्रचलित ख़बरें

मेवात के आसिफ की हत्या में सांप्रदायिक एंगल नहीं, पुरानी राजनीतिक दुश्मनी: हरियाणा पुलिस

आसिफ की मृत्यु की रिपोर्ट आने के तुरंत बाद, कुछ मीडिया हाउसों ने दावा किया कि उसे मारे जाने से पहले 'जय श्री राम' बोलने के लिए मजबूर किया गया था, जिसकी वजह से घटना ने सांप्रदायिक मोड़ ले लिया।

‘ईद खुशियों का त्यौहार, कुंभ कोरोना का सुपर स्प्रेडर’: कॉन्ग्रेस का टूलकिट, मोदी और हिंदुओं को बदनाम करने का खाका

कॉन्ग्रेस के स्थानीय नेताओं को निर्देश दिया गया है कि वो आसपास के अस्पतालों में कुछ बेड्स व अन्य सुविधाएँ पहले से ही ब्लॉक कर के रखें, जिन्हें अपने नेताओं के निवेदन पर ही मुक्त किया जाए।

हरियाणा की सोनिया भोपाल में कॉन्ग्रेस MLA के बंगले में लटकी मिली: दावा- गर्लफ्रेंड थी, जल्द शादी करने वाले थे

कमलनाथ सरकार में वन मंत्री रह चुके उमंग सिंघार और सोनिया की मुलाकात मेट्रोमोनियल वेबसाइट के जरिए हुई थी।

भारत में दूसरी लहर नहीं आने की भविष्यवाणी करने वाले वायरोलॉजिस्ट शाहिद जमील ने सरकारी पैनल से दिया इस्तीफा

वरिष्ठ वायरोलॉजिस्ट शाहिद जमील ने भारत में कोविड-19 के प्रकोप की गंभीरता की भविष्यवाणी करने में विफल रहने के बाद भारतीय SARS-CoV-2 जीनोम सीक्वेंसिंग कंसोर्टिया (INSACOG) के वैज्ञानिक सलाहकार समूह के अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया।

163 फुटबॉल मैदान के बराबर था हमास का सुरंग, इजरायल ने ध्वस्त किया: 820 आतंकी ठिकाने भी तबाह

इजरायल ने कहा है कि अब इस 9.3 मील के क्षेत्र का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए नहीं किया जा सकेगा। इसे रातोंरात ध्वस्त कर दिया गया।

मेरठ के जुड़वा: 24 साल पहले 3 मिनट के अंतर पर पैदा हुए, कोरोना से कुछ घंटों के अंतर पर हुई मौत

मेरठ के जुड़वा भाइयों जोफ्रेड वर्गीज ग्रेगरी और राल्फ्रेड जॉर्ज ग्रेगरी की कोरोना के वजह से 24 साल की उम्र में मौत हो गई।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,390FansLike
96,203FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe