Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजआसिफ़ की मृत्यु के बाद 600 पत्थरबाज़ों ने पुलिस पर बोला हमला, घंटों...

आसिफ़ की मृत्यु के बाद 600 पत्थरबाज़ों ने पुलिस पर बोला हमला, घंटों हाइवे रखा जाम: FIR दर्ज

15 ऐसे लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है, जिनके नाम पुलिस को पता हैं। वहीं 600 अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ भी मामला दर्ज किया गया है।

मुरादनगर के 600 लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है। इन सभी ने पुलिस पर हमला बोला था। दरअसल, ईद के दिन गंगा कनाल में आसिफ़ नामक व्यक्ति की डूबने से मृत्यु हो गई थी। ज़रूरी प्रक्रिया पूरी करने के बाद पुलिस जब आसिफ़ के परिवार को उसका शव सौंपने आई, तब वहाँ उपस्थित लोगों ने भारी संख्या में पुलिस पर ही हमला बोल दिया। शनिवार (जून 8, 2019) को इन सभी के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया। शुक्रवार की रात को आसिफ़ के परिवार वालों व पड़ोसियों सहित कई अन्य लोगों ने जम कर हंगामा बरपाया।

इन लोगों ने आसिफ़ के दोस्तों को गिरफ्तार करने की माँग की। इनका आरोप था कि आसिफ़ के दोस्तों ने ही साजिश के तहत उसकी हत्या कर दी है। मुरादनगर थाना के एसएचओ ओम प्रकाश सिंह ने अधिक जानकारी देते हुए बताया, “जब पुलिस आसिफ़ का शव उसके परिवार वालों को सौंपने पहुँची, तो उसके परिवार वालों व पड़ोसियों ने पत्थरबाज़ी शुरू कर दी। उन्होंने एक घंटे से भी अधिक समय तक दिल्ली-मेरठ हाइवे को जाम रखा व कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। उन्होंने सार्वजनिक संपत्ति को जम कर नुकसान पहुँचाया, तोड़फोड़ मचाया और कानून व्यवस्था को धता बताया।

लोगों ने इस कदर कानून व्यवस्था को अपने हाथ में लिया कि कई पुलिस स्टेशन से सैंकड़ों जवानों को इलाक़े में तैनात किया गया। एक सीनियर पुलिस अधिकारी के अनुसार, कई जवानों को चोटें भी आई हैं। कुछ पुलिस बलों के जवानों को स्टैंडबाई पर रखा गया है और किसी भी प्रकार की आपात स्थिति में उनकी मदद ली जाएगी। 15 ऐसे लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है, जिनके नाम पुलिस को पता हैं। वहीं 600 अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ भी मामला दर्ज किया गया है।

आरोपितों के ख़िलाफ़ लगभग 2 दर्जन धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। इनमें दंगे जैसे हालात पैदा करना, सरकारी अधिकारियों को उनका काम करने से रोकना और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुँचाने सहित कई मामले शामिल हैं। आसिफ़ के भाई रियाज़ ने बताया कि उनके मृत भाई के पैरों व हाथ पर निशान थे, जिससे पता चलता है कि उसका अपहरण किया गया और फिर डूबो कर मार डाला गया। रियाज़ के अनुसार कनाल में डूब कर मरने की ख़बर बस एक अफवाह है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इधर आतंकी गोली मार रहे, उधर कश्मीरी ईंट-भट्टा मालिक मजदूरों के पैसे खा रहे: टारगेट किलिंग के बाद गैर-मुस्लिम बेबस

कश्मीर घाटी में गैर-कश्मीरियों को टारगेट कर हत्या करने के बाद दूसरे प्रदेशों से आए श्रमिक अब वापस लौटने को मजबूर हो रहे हैं।

कश्मीर को बना दिया विवादित क्षेत्र, सुपरमैन और वंडर वुमेन ने सैन्य शस्त्र तोड़े: एनिमेटेड मूवी ‘इनजस्टिस’ में भारत विरोधी प्रोपेगेंडा

सोशल मीडिया यूजर्स इस क्लिप को शेयर कर रहे हैं और बता रहे हैं कि कैसे कश्मीर का चित्रण डीसी की इस एनिमेटिड मूवी में हुआ है और कैसे उन्होंने भारत को बुरा दिखाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,884FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe