Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजअकेला देखकर 15 साल की नाबालिग लड़की को मोहम्मद फैजान ने घर में खींच...

अकेला देखकर 15 साल की नाबालिग लड़की को मोहम्मद फैजान ने घर में खींच लिया और रेप किया: यूपी पुलिस तलाश में जुटी

आरोपित के चंगुल से छूटने के बाद नाबालिग पीड़िता ने घटना के बारे में अपने परिजनों को बताया। इसके बाद पिता ने थाने में शिकायत दर्ज कराई।

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर (Bulandshahr, Uttar Pradesh) में एक किशोरी के साथ दुष्कर्म करने का मामले सामने आया है। बताया जा रहा है कि आरोपित मोहम्मद फैजान (Accused Mohammad Faizan) ने किशोरी को अकेली देखकर उसे जबरन खींचकर अपने घर ले गया और वहाँ उसने उसके साथ घटना को अंजाम दिया।

घटना बुलंदरशहर के खुर्जा (Khurja) स्थित कोतलावी थाना क्षेत्र का है। यहाँ एक गाँव के निवासी ने थाने में तहरीर दी कि शनिवार (19 फरवरी 2022) की शाम को उनकी बेटी अपने ताई के घर लौट रही थी। बेटी की उम्र 15 वर्ष है। मोहम्मद फैजान ने लड़की को अकेला देखा तो उसने उसे दबोच लिया और खींचकर अपने घर ले गया। वहाँ उसने लड़की को डरा-धमका कर रेप की वारदात को अंजाम दिया।

किसी तरह आरोपित के चंगुल से छूट कर पीड़ित किशोरी अपने घर पहुँची और घटना के बारे में अपने परिजनों को जानकारी दी। इसके बाद पीड़िता के पिता कोतवाली थाना पहुँचकर आरोपित मोहम्मद फैजान के खिलाफ मामला दर्ज कराया।

वहीं, इस मामले में अभी आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हुई है। कोतवाली थाने के प्रभारी नीरज कुमार सिंह ने बताया कि शिकायत मिलने के बाद कानूनी कार्रवाई की जा रही है और पुलिस आरोपित फैजान की तलाश कर रही है। उन्होंने कहा कि आरोपित को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देशद्रोही, पंजाब का सबसे भ्रष्ट आदमी, MeToo का केस… खालिस्तानी अमृतपाल का समर्थन करने वाले चन्नी की रवनीत बिट्टू ने उड़ाई धज्जियाँ, गिरिराज बोले...

रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि एक पूर्व मुख्यमंत्री देशद्रोही की तरह व्यवहार कर रहा है, देश को गुमराह कर रहा है। गिरिराज सिंह बोले - ये देश की संप्रभुता पर हमला।

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -