Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाज'राम मंदिर निर्माण के लिए ले सकते हैं और भी जमीन, शरद पवार मस्जिद...

‘राम मंदिर निर्माण के लिए ले सकते हैं और भी जमीन, शरद पवार मस्जिद बनाने में करें मदद’

"जब देश के प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री श्रीराम मंदिर निर्माण में साथ हैं तो जरूर अयोध्या में जल्द लोगों के सामने एक भव्य श्रीराम मंदिर होगा।"

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के गठन के बाद ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने गुरुवार (20 फरवरी, 2020) को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की। मुलाक़ात के बाद ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने कहा कि अग़र मंदिर निर्माण के लिए और जमीन की आवश्यकता हुई तो और जमीन ली जा सकती है। उन्होंने यह भी उम्मीद जताई कि जब देश के प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री श्रीराम मंदिर निर्माण में साथ हैं तो जरूर अयोध्या में जल्द लोगों के सामने एक भव्य श्रीराम मंदिर होगा।

गुरुवार शाम को राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास, महामंत्री चंपत राय और ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरि ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने मुलाकात कर मंदिर निर्माण में अहम भूमिका के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद दिया, जिस पर पीएम मोदी मे उन्हें अयोध्या आने का आश्वासन भी दिया। इस दौरान विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करते हुए महंत नृत्य गोपालदास ने कहा की राम मंदिर निर्माण में अगर और भी जमीन की जरूरत होगी तो जमीन ली जा सकती है। आवश्यकता पड़ने पर इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार को लिखा जाएगा।

माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिलने के बाद मंदिर निर्माण की प्रक्रिया तेज हो सकती है। वहीं गुरुवार को महंत नृत्य गोपाल दास ने कहा कि 3-4 मार्च को होने वाली ट्रस्ट की पहली बैठक में राम मंदिर के मॉडल पर बात होगी। उसके बाद अन्य कामों को बढ़ाया जाएगा। उन्होंने साफ-साफ कहा कि जो पत्थर राम मंदिर के लिए रखे गए हैं, उन्हीं पत्थरों का इस्तेमाल मंदिर निर्माण के लिए किया जाएगा। अगर जरूरत पड़ी तो और भी पत्थर मँगाए जा सकते हैं।

गोपालदास ने आगे कहा कि मंदिर का निर्माण सरकारी सहायता से नहीं बल्कि भक्तों द्वारा दिए गए चंदे के पैसों से ही होगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि 6 महीने में राम मंदिर का निर्माण काम शुरू हो जाएगा, जिसे पूरा होने में 2 साल से ज्यादा का समय लग सकता है। लेकिन मंदिर का निर्माण भव्य ही होगा, जोकि हर हिंदू को गर्व का अनुभव कराएगा।

मंदिर निर्माण ट्रस्ट समिति पर आपत्ति जताने वाले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार पर टिप्पणी करते हुए गोपालदास ने कहाशरद पवार चाहें तो मुस्लिमों को मस्जिद बनाने में मदद कर सकते हैं। यहाँ हम केवल राम मंदिर के निर्माण के लिए काम कर रहे हैं।”

गौरतलब है कि अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए बनाए गए ट्रस्ट में महंत नृत्य गोपालदास को ट्रस्ट का अध्यक्ष, विहिप के उपाध्यक्ष चंपतराय को महामंत्री और गोविंद देव गिरि महाराज को ट्रस्ट का कोषाध्यक्ष बनाया गया है। साथ ही पूर्व आईएएस अफसर नृपेंद्र मिश्रा को राम मंदिर निर्माण समिति का अध्यक्ष बनाया गया है।

जिन्होंने राम मंदिर के लिए बहाया अपना खून, उनके लिए बनना चाहिए स्मारक: शिवसेना

जहाँ बनने जा रही है हनुमान जी की सबसे ऊँची प्रतिमा, वहाँ की Exclusive ग्राउंड रिपोर्ट

‘हिंदुओं को हिलाना है, मोदी-शाह को गिराना है’ – जिस MLA ने नहीं कही भारत माता की जय, अब दे रहा धमकी

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

निहंगों ने की दलित युवक की हत्या, शव और हाथ काट कर लटका दिए: ‘द टेलीग्राफ’ सहित कई अंग्रेजी अख़बारों के लिए ये ‘सामान्य...

उन्होंने (निहंगों ) दलित युवक की नृशंस हत्या करने के बाद दलित युवक के शव, कटे हुए दाहिने हाथ को किसानों के मंच से थोड़ी ही दूर लटका दिया गया।

मुस्लिम भीड़ ने पार्थ दास के शरीर से नोचे अंग, हिंदू परिवार में माँ-बेटी-भतीजी सब से रेप: नमाज के बाद बांग्लादेश में इस्लामी आतंक

इस्‍कॉन से जुड़े राधारमण दास ने ट्वीट कर बताया कि पार्थ को बुरी तरह से पीटा गया था कि जब उनका शव मिला तो शरीर के अंदर के हिस्से गायब थे। 

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,877FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe